For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

महंगाई : जानिए बढ़ती महंगाई कैसे जीवन में दिक्कतें पैदा करती है

|

How Inflation impacts: पिछले कुछ महीने से लोग मुद्रास्फीति के बारे में बात कर रहे हैं। यह इसलिए क्योंकि इससे जीवन यापन की लागत बढ़ गई है। लेकिन अक्सर हम इस बारे में पर्याप्त रूप से जागरूक नहीं होते हैं कि मुद्रास्फीति हमारे जीवन की समग्र गुणवत्ता को कैसे प्रभावित करती है। चलिए मुद्रास्फिती को समझते हैं और यह भी समझते हैं कि यह आम लोगों के जिंदगी को कैसे प्रभावित करता है।

 

Festive Season में खरीद रहे Gold, तो इन तरीकों से चेक करें इसकी शुद्धताFestive Season में खरीद रहे Gold, तो इन तरीकों से चेक करें इसकी शुद्धता

मुद्रास्फीति क्या है

मुद्रास्फीति क्या है

मूल्य वृद्धि या महंगाई अपने आप में कोई बुरी चीज नहीं है। किसी भी देश के अर्थव्यवस्था में वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में वृद्धि होगी और होनी भी चाहिए। जब किमते बढ़ती नहीं हैं तो लोग खरीदारी करना बंद कर देते हैं। इससे अर्थव्यवस्था धीमी हो जाती है। जिससे देश में मंदी का खतरा बढ़ जाता है। तो, मुद्रास्फीति वास्तव में हमारे द्वारा खरीदी जाने वाली वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में होने वाले बढ़ोत्तरी की दर है। हमसब मुद्रास्फीति के लिए बाध्य हैं यह एक सीमा के भीतर होनी चाहिए। सरकार ने आरबीआई को मुद्रास्फिती को 2 से 4 प्रतिशत तक रखने के लिए निर्देशित किया है।

पिछले 9 महीने से है बुरा हाल
 

पिछले 9 महीने से है बुरा हाल

केंद्र सरकार की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक सितंबर महीने में खुदरा महंगाई बढ़कर 5 महीने के उच्च स्तर 7.41 फीसदी पर पहुंच गई। यह लगातार नौवां महीना है जब महंगाई के आंकड़े आरबीआई के 2-6 फीसदी के टॉलरेंस बैंड से हाई बने हुए हैं।

सीपीआई से होती है गणना

मुद्रास्फीति को ट्रैक और गणना करने के लिए अधिकारी उपभोक्ता खाद्य मूल्य सूचकांक (सीपीआई) का प्रयोग करते हैं। यह इनडेक्स भारत में एक विशिष्ट परिवार द्वारा उपभोग किए जाने वाले खाद्य पदार्थों की कीमत में बदलाव को मापता है। इसलिए, जब आप मुद्रास्फीति की संख्या 7.41 प्रतिशत देखते हैं, तो इसका मतलब यह है कि एक निश्चित समय अवधि की तुलना में खाद्य कीमतें 7.41 प्रतिशत अधिक हैं।

 
जीवन की गुणवत्ता होती है प्रभावित

जीवन की गुणवत्ता होती है प्रभावित

मुद्रास्फिति हमारे जिवन को बुरी तरह से प्रभावित करती है। क्योंकि कीमतों में बढ़ोतरी का मतलब केवल महंगा किराने का सामान और ईंधन नहीं है। इसका मतलब यह भी है कि हमें जरूरी समानों से लेकर जरूरी सेवाओं तक से समझौता करना पड़ता है। मुद्रास्फिति से लोग चिकित्सा संबंधि कामों को भी टालते हैं। यह आपके बचत और निवेश पर भी बुरा प्रभाव डालता है। लोग महंगाई के कारण अपने जिवन शौली में भी बदलाव करते हैं।

English summary

Inflation Know how rising inflation creates problems in life

For the past few months people have been talking about inflation. This is because it has increased the cost of living.
Story first published: Friday, October 14, 2022, 10:42 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X