For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Post Office : अगर की ये गलती तो नहीं मिलेगा ब्याज का पैसा, जानिए नियम

|

नई दिल्ली, सितंबर 28। पोस्ट ऑफिस आज के समय में किसी बैंक की तरह काम करता है। ढेर सारी स्कीमों में निवेश का मौका देता है। साथ ही आपक पोस्ट ऑफिस में बचत खाता खुलवा सकते हैं, जिसमें जमा किए गए बैलेंस पर आपको ब्याज मिलेगा। मगर इसी बचत खाते पर ब्याज पाने का एक अहम नियम है, जिसे पूरा किया जाए तो आपको बैलेंस पर ब्याज नहीं मिलेगा। यहां हम आपको उसी नियम की जानकारी देने जा रहे हैं।

 

Recurring Deposits : पोस्ट ऑफिस ने बदल दिया बड़ा नियम, जानना है जरूरी

ये है वो नियम

ये है वो नियम

पोस्ट ऑफिस बचत खाताधारकों को मैंटेनेंस चार्ज का भुगतान करने से बचने के लिए न्यूनतम बैललेंस राशि बनाए रखने होती है। पोस्ट ऑफिस बचत खाते में न्यूनतम बैलेंस राशि 500 रुपये है। मगर यदि आपका बैलेंस 500 रु से कम हुआ तो आपको दो नुकसान होंगे। पहला आपको मैंटेनेंस चार्ज का भुगतान करना होगा और दूसरे आपको उस महीने के लिए अपनी सेविंग पर ब्याज नहीं मिलेगा। बाकी डिटेल आपको इस लिंक (https://www.indiapost.gov.in/Financial/pages/content/post-office-saving-schemes.aspx) पर मिल सकती है।

जानिए पूरी डिटेल

जानिए पूरी डिटेल

दरअसल पोस्ट ऑफिस के नियम के मुताबिक यदि आपने किसी महीने की 10 तारीख से उस महीने के अंत तक बैलेंस 500 रु से कम रखा तो आपके बैलेंस पर ब्याज की गणना नहीं की जाएगी। इसलिए यदि आपका बचत खाता पोस्ट ऑफिस में है, तो हर महीने की 10 तारीख और आखिरी तारीख के दौरान 500 रुपए का न्यूनतम बैलेंस जरूर रखें ताकि आपको ब्याज मिल सके।

कितना लगेगा चार्ज
 

कितना लगेगा चार्ज

यदि वित्तीय वर्ष के अंत में बैलेंस राशि को बढ़ा कर 500 रुपये नहीं किया जाता है, तो बैलेंस मैंटेनेंस शुल्क के रूप में आपके खाते से 100 रुपये काट लिए जाएंगे और यदि आपके खाते का बैलेंस शून्य हो जाता है तो खाता अपने आप बंद हो जाएगा। प्रत्येक वित्तीय वर्ष के अंत में वित्त मंत्रालय द्वारा निर्धारित ब्याज दर पर ब्याज खाते में जमा किया जाएगा।

कितनी है ब्याज दर

कितनी है ब्याज दर

वर्तमान में, किसी पोस्ट ऑफिस बचत खाते पर दी जा रही ब्याज दर 4 प्रतिशत है। ब्याज की गणना महीने की 10 तारीख और महीने के अंत के बीच न्यूनतम बैलेंस के आधार पर की जाती है। बता दें कि हर तिमाही की शुरुआत में पोस्ट ऑफिस बचत खाते की ब्याज दर की गणना की जाती है। 1 अक्टूबर से नई तिमाही शुरू हो रही है तो हो सकता है कि पोस्ट ऑफिस बचत खाते पर दी जा रही ब्याज दर बढ़ाई या घटाई जाए। ये भी संभव है कि इसमें कोई बदलाव न हो।

जॉइंट अकाउंट भी खुलवाया जा सकता है

जॉइंट अकाउंट भी खुलवाया जा सकता है

पोस्ट ऑफिस बचत खाता सिंगल वयस्क, या दो वयस्कों द्वारा संयुक्त रूप से, या नाबालिग की ओर से अभिभावक द्वारा, या मंदबुद्धी वाले व्यक्ति की ओर से अभिभावक द्वारा या 10 वर्ष से ऊपर के नाबालिग द्वारा खुद अपने नाम पर खोला जा सकता है। एक व्यक्ति केवल एक पोस्ट ऑफिस बचत खाता खोल सकता है। साथ ही अवयस्क या मंदबुद्धी व्यक्ति के नाम से केवल एक ही खाता खोला जा सकता है। पोस्ट बचत खाता खोलते समय नोमिनेशन अनिवार्य है। यदि आप खाता बंद करें तो खाता बंद करने के समय, पिछले महीने तक पर ब्याज का भुगतान किया जाएगा। आपको पोस्ट ऑफिस बचत खाते पर कई सुविधाएं मिलेंगी, जिनमें चेक बुक, एटीएम कार्ड, ईबैंकिंग/मोबाइल बैंकिंग, अटल पेंशन योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना और प्रधानमंत्री जीवन जीवन ज्योति बीमा योजना शामिल हैं।

English summary

Post Office If you do this mistake then you will not get interest money know the rules

According to the rules of the post office, if you have kept the balance less than Rs 500 from the 10th of any month till the end of that month, then interest will not be calculated on your balance.
Story first published: Tuesday, September 28, 2021, 18:05 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X