For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

इस बैंक के ग्राहकों को घर बैठे आसानी से मिलेगा FASTag

|

नई द‍िल्‍ली: वाहन चलाने वालों के लिए जरूरी खबर है। देश में 15 फरवरी से फास्टैग अनिवार्य हो रहा है। सरकार फास्टैग पर अब और रियायत देने के मूड में नहीं है। इसलिए अब फास्टैग लागू करने की अंतिम तारीख भी नहीं बढ़ाई जाएगी। सड़क एवं परिवहन मंत्रालय के मुताबिक जिन वाहनों पर फास्टैग नहीं लगा है उनसे 15 फरवरी से अतिरिक्त शुल्क वसूला जाएगा। तो अगर आपके वाहन पर नहीं लगा है तो 15 फरवरी से आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी।

इस बैंक के ग्राहकों को घर बैठे आसानी से मिलेगा FASTag

 

आईसीआईसीआई बैंक गूगल पे के साथ की साझेदारी

इसी को देखते हुए देश के सबसे बड़े प्राइवेट सेक्टर के बैंक आईसीआईसीआई ने अपने ग्राहकों को बड़ी सुविधा देते हुए अब गूगल पे के साझेदारी की घोषणा की है। जिसके जरिए अब ग्राहक गूगल पे के माध्यम से अपना फास्टैग प्राप्त कर सकते हैं। बैंक के ग्राहक, गूगल पे एप में दर्ज यूपीआई के माध्यम से फास्टैग खरीद सकते हैं। इससे उपयोगकर्ता को पेमेंट एप पर ही यूपीआई के जरिए डिजिटल रूप से आईसीआईसीआई बैंक फास्टैग को ऑर्डर करने, ट्रैक करने और रिचार्ज करने की सुविधा मिलेंगी।

 गूगल पे के साथ भागीदारी करने वाला पहला बैंक

गूगल पे के साथ भागीदारी करने वाला पहला बैंक

बैंक की यह पहल ग्राहक की सुरक्षा को सुनिश्चित करेगी। फास्टैग खरीदने के लिए उन्हें टोल प्लाजा या किसी अन्य के पास जाने की जरूरत नहीं है। इस घोषणा के साथ ही आईसीआईसीआई बैंक, फास्टैग जारी करने के लिए गूगल पे के साथ भागीदारी करने वाला पहला बैंक बन गया है। यह पहल फास्टैग के लिए डिजिटल भुगतान को और मजबूत करेगी। हाल ही में आईसीआईसीआई बैंक ने यात्रियों के लिए मुंबई टोल प्लाजा और हैदराबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पार्किंग जोन में फास्टैग को एकीकृत किया है। आईसीआईसीआई बैंक ने सबसे पहले फास्टैग सेवा को 2013 में मुंबई-वडोदरा कॉरिडोर पर शुरू किया था। फास्टैग इलेक्ट्रॉनिक टोलिंग, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण परियोजना का हिस्सा है।

 ऐसे लें गूगल पे से फास्टैग
 

ऐसे लें गूगल पे से फास्टैग

  • इसके लिए आपको सबसे पहले गूगल पे को अपने मोबाइल में खोलना होगा।
  • यहां आने के बाद आपको आईसीआईसीआई बैंक फास्टैग पर क्लिक करना होगा।
  • यहां आपको Buy न्‍यू फास्टैग लिखा हुआ दिखाई देगा।
  • इसे खोलने के बाद आपको पैन नंबर, आरसी कॉपी, वाहन नंबर और पता विवरण दर्ज कराना होगा।
  • ओटीपी के माध्यम से आपको अपना मोबाइल नंबर सत्यापित करना होगा। भुगतान हो जाने के बाद ऑर्डर आ जाता है।
 बाकी ग्राहक ऐसे लें फायदा फास्टैग

बाकी ग्राहक ऐसे लें फायदा फास्टैग

वे ग्राहक जो आईसीआईसीआई बैंक के ग्राहक नहीं हैं वह पॉकेट ऐप का उपयोग करके या www.icicibank.fastag पर जाकर फास्टैग खरीद सकते हैं। आईसीआईसीआई बैंक की तरफ से कहा गया है कि सभी क्षेत्रों में डिजिटल भुगतान को बढ़ाने के लिए गूगल पर उपयोगकर्ताओं को यूपीआई के माध्यम से एक नए फास्टैग के लिए आवेदन करने में मदद मिलेगी।

 क्या हैं फास्टैग के फायदे

क्या हैं फास्टैग के फायदे

फास्टैग इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा फायदा ये है टोल प्लाजा पर लंबी लाइने नहीं लगानी पड़ती है। इसके साथ ही पेमेंट की सहूलियत की वजह से किसी को नकदी साथ में रखने की जरूरत नहीं होती। टोल प्लाजा पर पेपर का इस्तेमाल भी कम होता है। लेन में वाहनों की लंबी लाइने कम होने की वजह से प्रदूषण भी कम होता है। फास्टैग के इस्तेमाल पर कई तरह का कैशबैक व अन्य ऑफर भी मिलता है। 24 दिसंबर को पूरे देशभर में फास्टैग का बंपर ट्रांजेक्शन हुआ। नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने बताया कि नेशनल इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन (एनईटीसी) प्रोग्राम के तहत यह पहली बार था जब एक दिन में फास्टैग से 80 करोड़ रुपये से ज्यादा का टोल कलेक्शन हुआ। 24 दिसंबर 2020 को एक दिन में 50 लाख से ज्यादा का फास्टैग ट्रांजेक्शन हुए।

यहां से खरीदें फास्टैग

यहां से खरीदें फास्टैग

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के अनुसार फास्टैग को सरकारी बैंक, निजी बैंक, पोस्ट ऑफिस, आरटीओ ऑफिस, ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजन, फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और पेटीएम से खरीदा जा सकता है। पेट्रोल पंप से भी फास्टैग को खरीदा जा सकता है। बैंक से फास्टैग लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि जिस बैंक में आपका खाता हो उसी से फास्टैग खरीदें।

Bank Holiday : जल्‍द न‍िपटा लें बैंक सम्बंधित जरूरी काम, 3 दिन तक बंद रहेंगे

English summary

ICICI Bank's Customers You Can Apply For The FASTag Like This

There is good news for crores of customers of ICICI Bank. ICICI Bank customers can get their Fastag through Google Pay.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?