टू-व्‍हीलर का इंश्‍योरेंस करवाते समय ध्‍यान रखें ये बातें

Written By: Pratima
Subscribe to GoodReturns Hindi

दो पहिया वाहन बीमा पॉलिसी आपके दो पहिया वाहन द्वारा किसी व्यक्ति या संपत्ति को किसी भी देयता या क्षति से सुरक्षा प्रदान करती है। दो पहिया वाहनों में स्कूटर, मोटरसाइकिल, मोपेड आदि शामिल हैं। दुर्घटनाओं, प्राकृतिक आपदाओं, चोरी आदि जैसी अप्रत्याशित घटनाओं के चलते एक टू व्हीलर बीमा पॉलिसी आपके वाहन को नुकसान की लागत को बचाती है और कवर करती है।

दोपहिया वाहन बीमा मालिकों को किसी भी घटना की स्थिति में एक महत्वपूर्ण राशि का भुगतान करने के लिए और बीमाकृत दोपहिया को प्रभावित करने वाले नुकसान को बचाने के लिए होता है। 

केवल देयता का बीमा

देयता केवल बीमा बीमाधारक वाहन द्वारा तीसरी पार्टी के लिए होने वाले नुकसान के मामले में बीमा कवरेज प्रदान करता है। सभी दो पहिया वाहनों के लिए भारत में इस प्रकार का बीमा होना आवश्यक है।

व्यापक बीमा

व्यापक दो पहिया बीमा तीसरे पक्ष की देयता के लिए कवरेज प्रदान करता है और साथ ही बीमाकृत टू-व्हीलर और वाहन चला रहे व्‍यक्ति के लिए संरक्षण भी प्रदान करता है। मालिक और सवार के लिए प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं के साथ-साथ होने वाले नुकसान पर भी कवरेज प्रदान करता है।

क्षतिग्रस्‍त कवर

क्षतिग्रस्‍त कवर व्‍यापक टू-व्‍हीलर पॉलिसी के अंतर्गत इन परिस्थितियों में प्रदान किया जाता है:-

 

  • प्राकृतिक आपदा 
  • बाढ़ 
  • आग
  • बिजली का गिरना 
  • चक्रवात 
  • तूफान और 
  • सुनामी

 

इन परिस्थितियों में अगर आपका दो पहिया वाहन क्षतिग्रस्‍त होता है तो आपको इस बीमा पॉलिसी के अंतर्गत कवर प्रदान किया जाता है।

 

मानव निर्मित आपदाएं

मानव निर्मित आपदाएं कई प्रकार से हो सकती हैं जैसे कि:-

 

  • चोरी 
  • दंगा 
  • आक्रामक कार्य 
  • दुर्भावना पूर्ण कार्य 
  • विलुप्‍त क्षति

 

 

English summary

Two Wheeler Insurance: Things To Know

Two wheeler insurance policy provides protection from any liability or damage to an individual or property by your two-wheeler. The two wheelers include the scooter, motorcycle, moped, etc.
Please Wait while comments are loading...
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Find IFSC