For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Zomato : को-फाउंडर गौरव गुप्ता ने दिया इस्तीफा, छोड़ा कंपनी का साथ

|

नई दिल्ली, सितंबर 14। इस साल फूड डिलीवरी दिग्गज कंपनी जोमैटो के लैंडमार्क इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) के पीछे महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले गौरव गुप्ता ने मंगलवार को कंपनी से इस्तीफा दे दिया। वे जोमैटो के को-फाउंडर हैं। ज़ोमैटो में अपनी टीम के सदस्यों और सहयोगियों को संबोधित करते हुए, गुप्ता ने एक ईमेल में लिखा मैं और अधिक की इच्छा नहीं कर सकता था। उन्होंने सभी अनुभवों के लिए कंपनी के सभी लोगों का आभार जताया।

 

Reliance : शेयर में उछाल से Mukesh Ambani की दौलत पहुंची 100 अरब डॉलर के करीब

क्या थी जिम्मेदारी

क्या थी जिम्मेदारी

गुप्ता ने कहा कि अब हमारे पास ज़ोमैटो को आगे ले जाने के लिए एक शानदार टीम है और मेरे लिए अपनी यात्रा में एक वैकल्पिक रास्ता चुनने का समय आ गया है। बता दें कि वह फूड डिलीवरी स्टार्टअप में सप्लाई हेड थे। फूडटेक स्टार्टअप में गुप्ता की यात्रा को याद करते हुए, जो पिछले कुछ सालों में भारत के घर-घर में सबसे परिचित नामों में से एक बन गयी है, ज़ोमैटो के संस्थापक दीपिंदर गोयल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में आपने जोमैटो को एक मुकाम हासिल करने में मदद की है, इसके लिए उन्होंने गौरव का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि हमने ज़ोमैटो में एक साथ अच्छा और बुरा समय देखा है।

'आपको बहुत याद किया जाएगा'
 

'आपको बहुत याद किया जाएगा'

दीपिंदर गोयल ने कहा कि मेरे बेहतर दोस्त बनने के लिए धन्यवाद। मैं अभी तक आपके बिना जोमैटो में रोजमर्रा के काम की कल्पना नहीं कर सकता। गोयल ने आगे कहा कि आगे एक लंबा सफर है। दीपिंदर ने कहा कि आपको बहुत याद किया जाएगा। भविष्य की योजनाओं पर, गुप्ता ने बताया कि मैं अपने जीवन में एक नया मोड़ ले रहा हूं और अपने जीवन के इस डिफाइंड चैप्टर से सीखते हुए एक नया अध्याय शुरू करूंगा।

6 साल पहले जुड़े थे

6 साल पहले जुड़े थे

गौरव गुप्ता 2015 में टेबल रिजर्वेशंस के लिए बिजनेस हेड के रूप में ज़ोमैटो में शामिल हुए। बाद में 2019 में, उन्हें कंपनी के न्यूट्रास्यूटिकल बिजनेस संभालने के लिए सह-संस्थापक के रूप में पदोन्नत किया गया। फूड डिलीवरी स्टार्टअप ने पिछले हफ्ते इस कारोबार को बंद कर दिया। वह लगभग तीन वर्षों तक जोमैटो के मुख्य ऑपरेटिंग ऑफिसर भी रहे। वह उस टीम का भी हिस्सा थे जिसने जोमैटो प्रो को लॉन्च किया था।

जून में आया आईपीओ

जून में आया आईपीओ

जोमैटो ने करीब दो महीने पहले अपनी मेगा इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (आईपीओ) को लॉन्च किया। मगर कंपनी को 30 जून, 2021 को समाप्त तिमाही के दौरान 356 करोड़ रु का शुद्ध घाटा हुआ। इस तिमाही के दौरान कंपनी की कुल आय 916 करोड़ रुपये रही। इनकम में भारी उछाल देखी गयी क्योंकि कोविड-19 महामारी के दौरान डिलीवरी की संख्या में वृद्धि हुई थी।

कितने पर है शेयर

कितने पर है शेयर

आज जोमैटो का शेयर 143.20 रु के पिछले बंद स्तर के मुकाबले आज सुबह 145.25 रु पर खुल कर 152.75 रु तक गया, जो इसका अब तक का सबसे ऊंचा स्तर है। आज के कारोबार में यह 136.20 रु तक फिसला है। इस समय कंपनी की मार्केट कैपिटल 1,13,441 करोड़ रु है। इसका आईपीओ 14 जुलाई को खुल कर 16 जुलाई को बंद हुआ था। आईपीओ में इसके शेयरों के लिए प्राइस बैंड 72-76 रु था।

English summary

Zomato Co founder Gaurav Gupta resigns left the company

Gupta said that now we have a great team to take Zomato forward and it is time for me to choose an alternate path in my journey.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X