For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Loan नहीं चुकाने पर कब हो सकती है संपत्ति की नीलामी, जानिए क्या है नियम

|

नई दिल्ली, सितंबर 25। जीवन में कभी न कभी लोन की जरूरत पड़ती ही है। अकसर लोग घर बनवाने के लिए होम लोन लेते हैं। होम लोन की राशि काफी अधिक होती है। जाहिर सी बात है कि यदि आपने लोन लिया है तो उसे चुकाना होगा ही। मगर यदि अगर आप कर्ज नहीं चुका पाते हैं तो इसके कई नुकसान हैं। पहला तो बैंक की नजर में आपकी साख खराब हो जाएगी। इसके अलावा आपका क्रेडिट बहुत अधिक खराब हो सकता सकता है। पर कुछ लोगों के मन में सवाल आता है कि क्या बैंक लोन न चुकाने की सूरत में हमारी संपत्ति जब्त करके उसे नीलाम कर सकता है? क्या है इस बारे में नियम हम यहां उसी की चर्चा करेंगे।

 

अजब-गजब : लोन में डूबा था, पर जीत गया 25 करोड़ रु, अब पैसों ने छीन ली मन की शांतिअजब-गजब : लोन में डूबा था, पर जीत गया 25 करोड़ रु, अब पैसों ने छीन ली मन की शांति

बैंक देगा चेतावनी

बैंक देगा चेतावनी

सबसे पहले तो यह जान लीजिए यदि लोन समय पर न चुकाया जाए तो क्रेडिट स्कोर के खराब होने के साथ साथ आपके लिए भविष्य में लोन हासिल करना लगभग असंभव हो जाएगा। मगर होता यह है कि यदि आप कुछ महीनों तक लोन की ईएमआई अदा न करें तो बैंक की तरफ से शुरुआत में आपको चेतावनी दी जाएगी। मगर चेतावनी के बाद भी अगर आपने ईएमआई पूरी नहीं कीं तो बैंक की तरफ से आपको डिफॉल्टर घोषित कर दिया जाएगा।

ऊंची ब्याज दर

ऊंची ब्याज दर

समय पर लोन न चुकाने पर आपको भविष्य में जिन दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है, उनमें सख्त नियम और शर्तों के अलावा ऊंची ब्याज दर शामिल है। बैंक आपको ऊंची ब्याज दर पर लोन देगा।

नीलामी से पहले एनपीए
 

नीलामी से पहले एनपीए

बैंक या वो वित्तीय संस्थान जिससे आपने लोन लिया हो वो लगातार 3 किस्तों को समय पर अदा न करने के बाद आपको लोन अकाउंट को गैर-निष्पादित संपत्ति यानी एनपीए मान लेते हैं। फिर बैंक बकाया राशि की वसूली का प्रयास करते हैं। जो भी डिफॉल्टर हो उसे एक कानूनी नोटिस भेजा जाएगा। उसमें तय समय में बकाया चुकाने को कहा जाएगा।

गिरवी रखी संपत्ति खतरे में

गिरवी रखी संपत्ति खतरे में

आपको बता दें कि बुनियादी तौर पर लोन दो तरह के होते हैं। एक सिक्योर्ड और दूसरे अनसिक्योर्ड। अनसिक्योर्ड लोन में आप कुछ गिरवी नहीं रखते। मगर सिक्योर्ड लोन में आपको संपत्ति गिरवी रखनी होती है और लोन समय पर अदा न करने पर यही संपत्ति खतरे में आ जाती है। असल में समय पर बैंक को लोन न अदा किया तो अदालत के हस्तक्षेप के बिना ही वो आपकी संपत्ति पर कब्जा कर सकता है। ये बैंक का अधिकार है।

संपत्ति की नीलामी की प्रक्रिया है काफी लंबी

संपत्ति की नीलामी की प्रक्रिया है काफी लंबी

अगर लोन लेने वाला 60 दिनों के बाद भी लोन का भुगतान नहीं करता बैंक उसे इसकी संपत्ति की वैल्यू और नीलामी की तारीख के साथ एक और नोटिस भेजेगा। हालांकि आमतौर पर बैंकों की तरफ से कर्ज चुकाने के लिए काफी समय दिया जाता है। जहां तक संपत्ति की नीलामी की बात है तो यह एक लंबी प्रक्रिया है। बैंक इस काम में जल्दी नहीं करते हैं। मगर यदि कानूनी नोटिस और रिमाइंडर के बाद भी भुगतान न किया जाए तो बैंक आपकी संपत्ति की नीलामी कर सकता है। इसलिए जानकार कहते हैं कि लोन लेने से पहले उसे चुकाने की प्लानिंग जरूर कर लेनी चाहिए।

English summary

When the property can be auctioned if the loan is not repaid know what are the rules

The question comes in the mind of some people that can the bank confiscate our property and auction it in case of non-payment of loan? What is the rule about this, we will discuss the same here.
Story first published: Sunday, September 25, 2022, 14:56 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X