For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

आ रहा TVS का नया स्कूटर, पेट्रोल से नहीं हाइड्रोजन से चलेगा

|

नई दिल्ली, अगस्त 17। पूरी विश्व में तेजी में बढ़ रहे प्रदूषण ने वाहन निर्माता कम्पनी को ग्रीन मोबिलिटी की तरफ स्विच होने को प्रोत्साहित किया है। जीवाश्म ईंधन का सबसे पसंदीदा विकल्प अब तक इलेक्ट्रिक मोबिलिटी रही है। वाहन जो हाइड्रोजन से चलते है वो फ्यूचर के लिए अब एक व्यवहार्य समाधान बनते दिख रहे हैं। वाहन निर्माता कम्पनी इसलिए अब इसकी और ध्यान दे रही है। टीवीएस इसी कड़ी में अपने आइक्यूब स्कूटर को हाइड्रोजन फ्यूल ऑप्शन के साथ मार्केट में पेश कर रही है।

 

काम की बात : मंदी की है सुगबुगाहट, पैसों से जुड़े ये 5 कदम जरूर उठाएंकाम की बात : मंदी की है सुगबुगाहट, पैसों से जुड़े ये 5 कदम जरूर उठाएं

इसका ब्लू प्रिंट सामने आया हैं

इसका ब्लू प्रिंट सामने आया हैं

कुछ वक्त पहले देश की वाहन निर्माता कंपनी के नाम और कुछ डिजाइन ऑनलाइन सामने आ गए है। उनसे यह बात सामने आई है कि यह ब्लू प्रिंट हाइड्रोजन से चलने वाले स्कूटर के लिए हैं। लीक पेटेंट के डाक्यूमेंस्ट्स से पता चलता है कि कम्पनी स्कूटर पर काम कर रही है। जिसमे दो हाइड्रोजन "फ्यूल" कनस्तर हैं ये स्कूटर के फ्रेम के डाउनट्यूब पर लगे हुए हैं डिजाइन से आगे पता चलता है कि एक फिलर नॉजल सामने के एप्रन पर स्थित होता है, और एक पाइप दो कनस्तरों को जोड़ती है।

हाइड्रोजन फ्यूल टैंक सीट के नीचे हैं
 

हाइड्रोजन फ्यूल टैंक सीट के नीचे हैं

हाइड्रोजन ईंधन स्टैक के लिए यह सीट के नीचे स्थित होगी, बैटरी पारंपरिक इलेक्ट्रिक स्कूटर में फिट बैठती है। इसके साथ ही पेटेंट के अनुसार इस स्कूटर में आपको फ्लोरबोर्ड के नीचे एक बैटरी पैक भी देखने को मिलेगा। जिसका साइज तय नहीं किया गया है।

अतिरिक्त परफॉर्मेंस भी देगा

अतिरिक्त परफॉर्मेंस भी देगा

ये डिसेलेरेशन या बैटर ब्रेकिंग के समय ही उत्पन्न ऊर्जा को स्टोर कर सकेगा और साथ ही ये आवश्यकता पड़ने पर अतिरिक्त परफॉर्मेंस भी देगा। जब इलेक्ट्रिसिटी की जरूरत नही होगी। तो ईंधन के सेल से बैटरी पैक की भरपाई कर सकता है। टीवीएस एक समान हब-माउंटेड 4.4 केडब्लू मोटर को, मोटर के लिए तैनात कर सकता है। जिसको आउटगोइंग इलेक्ट्रिक आईक्यूब स्कूटर पर भी इसे देखा जा सकता है।

English summary

TVSs new scooter is coming will run on hydrogen not on petrol

Rapidly increasing pollution all over the world has encouraged automakers to switch towards green mobility. Electric mobility has been by far the most preferred alternative to fossil fuels.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X