For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

ICICI Mutual Fund की इस स्कीम ने कर दिया मालामाल, पैसा कर दिया 46 गुना

|

ICICI Prudential Multi Asset Fund : आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड की शुरुआत हुए 20 साल पूरे हो गए हैं। इस स्कीम की एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 14,227.24 करोड़ रु है, जो मल्टी-एसेट कैटेगरी में कुल एयूएम का लगभग 68 फीसदी है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एमएफ ने हाल ही में कहा कि शुरुआत (31 अक्टूबर, 2002) से 31 अक्टूबर 2022 तक 20 साल की अवधि में इस फंड ने 10 लाख रुपये के सिंगल निवेश को 4.6 करोड़ रुपये बना दिया। यानी जिसने भी 20 साल पहले इस स्कीम में 10 लाख रु एक साथ लगाए होंगे, उसकी निवेश राशि आज के समय में 4.6 करोड़ रु बना दिया। यानी सीधे-सीधे पैसा 46 गुना से अधिक कर दिया।

 
ICICI Mutual Fund की इस स्कीम ने बनाया मालामाल

निफ्टी 50 से भी आगे
पिछले 20 सालों में इस फंड ने 21.2 फीसदी सीएजीआर के हिसाब से रिटर्न दिया है। निफ्टी 50 में यदि कोई 20 साल पहले 10 लाख रु का निवेश करता तो उसकी निवेश राशि आज के समय में 17.4 फीसदी सीएजीआर के साथ लगभग 2.5 करोड़ रुपये हो गयी होती।

एसआईपी से कितना फंड बनता
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड के एसआईपी रिटर्न को देखें तो एसआईपी के माध्यम से 10,000 रुपये का मासिक निवेश इस समय कुल 24.1 लाख रुपये का होता। मगर रिटर्न के साथ यह राशि 31 अक्टूबर, 2022 तक बढ़ कर 1.8 करोड़ रुपये हो गया होता। यानी 17.4 फीसदी का सीएजीआर।

ICICI Mutual Fund की इस स्कीम ने बनाया मालामाल

ओपन एंडेड स्कीम
आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एएमसी के एमडी और सीईओ निमेश शाह ने इस स्कीम के 20 साल पूरे होने के अवसर पर कहा आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड उस मान्यता का एक प्रूफ है कि एसेट क्लास में विवेकपूर्ण तरीके से किया गया निवेश समय के साथ अच्छा रिटर्न दिला सकता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल मल्टी एसेट फंड इक्विटी, डेब्ट और एक्सचेंज ट्रेडेड कमोडिटी डेरिवेटिव्स/गोल्ड ईटीएफ की इकाइयों/आरईआईटी (रियल एस्टेट इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट्स) और इनविट्स (इन्फ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट्स)/वरीयता शेयरों की यूनिट्स में निवेश करने वाली एक ओपन-एंडेड स्कीम है।

 

कैसे किया जाता है निवेश
इस स्कीम के तहत लंबे समयावधि में फुल रिटर्न जनरेट करने के उद्देश्य से मार्केट कैपिटल और विभिन्न एसेट क्लास में निवेश किया जाता है। यह अपनी एसेट का कम से कम 10 प्रतिशत तीन या अधिक एसेट क्लास में निवेश करती है। ये स्कीम इक्विटी में कम से कम 10 और अधिकतम 80 फीसदी तक निवेश कर सकता है। पोर्टफोलियो रिटर्न बढ़ाने के उद्देश्य से इस स्कीम तगत आरईआईटी, इनविट और कवर्ड कॉल विकल्पों में निवेश किया जा सकता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एएमसी के ईडी और सीआईओ एस नरेन के अनुसार मल्टी-एसेट निवेश का फायदा यह है कि इक्विटी, डेट, गोल्ड, अलग-अलग समय पर शिखर या निचले स्तर पर हो सकते हैं।

ICICI Mutual Fund की इस स्कीम ने बनाया मालामाल

क्यों बेहतर है ये स्कीम
जब निवेश की बात आती है, तो यह अनुमान नहीं लगाया जा सकता कि कौन सा एसेट क्लास किस साल या कब बेहतर प्रदर्शन करेगा। जैसा कि पिछले एक दशक और उससे भी अधिक समय में विभिन्न एसेट क्लास के परफॉर्मेंस से देखा जा सकता है कि हर दूसरे साल अच्छा प्रदर्शन करने वाली एसेट क्लास बदलती रहती है। ऐसी स्थिति का अधिकतम लाभ उठाने का एकमात्र तरीका होता है निवेश आवंटन को फैलाना है और उसके लिए मल्टी एसेट स्कीम एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

Mutual Fund : कैसे जोड़े अपने नॉमिनी का नाम, यहां जानिए आसान प्रोसेसMutual Fund : कैसे जोड़े अपने नॉमिनी का नाम, यहां जानिए आसान प्रोसेस

English summary

This scheme of ICICI Mutual Fund made rich made money 46 times

If someone had invested Rs 10 lakh in Nifty 50 20 years ago, his investment amount would have grown to around Rs 2.5 crore with a CAGR of 17.4 per cent as of today.
Story first published: Sunday, November 6, 2022, 16:11 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X