For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

नौकरी छोड़ शुरू किया ये कारोबार, रोजाना की कमाई 10 हजार रु

|

नयी दिल्ली। हर कोई अपना बिजनेस शुरू करना चाहता है। नौकरी से झंझट से निकल कर खुद बॉस बनना हर किसी का सपना होता है। मगर इस सपने को हर कोई पूरा नहीं कर पाता। बहुत से लोगों को इसके लिए कोई मौका ही नहीं मिल पाता। जिन्हें मौका मिलता है उनमें सब कामयाबी का स्वाद नहीं चख पाते। मगर फिर भी काफी मेहनत के बाद कई लोगों की तकदीर रंग लाती है और उन्हें कामयाबी नसीब होती है। वैसे जो लोग नौकरी छोड़ कर अपना बिजनेस शुरू करते हैं उनकी हिम्मत को दाद देनी होगी, क्योंकि इतना जोखिम हर कोई नहीं ले सकता। हम आपके लिए लाए हैं एक ऐसी ही महिला की कहानी, जिन्होंने इतना बड़ा रिस्क लिया, मगर उनकी किस्मत और मेहनत रंग लाई। उनका बिजनेस चल पड़ा। आइए जानते हैं पूरी कहानी।

नौकरी छोड़ शुरू किया बिजनेस
 

नौकरी छोड़ शुरू किया बिजनेस

ये कहानी है गुरुग्राम की रहने वाली इला की, जिन्होंने नौकरी छोड़ कर बिजनेस शुरू किया। उन्होंने जो बिजनेस चुना वो बहुत नया नहीं था। उन्होंने बेकरी का बिजनेस शुरू किया। घर से उन्होंने इस बिजनेस की शुरुआत की और आज उनकी मासिक कमाई लाखों में है। द बेटर इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक इला ने अच्छी शिक्षा हासिल की हुई है। वे होटल मैनेजमेंट में ग्रेजुएट हैं। ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल करने के बाद उन्होंने कई साल नौकरी की, जिसमें सेल्स और मार्केटिंग में 5 का अनुभव शामिल है। इसके बाद उनकी शादी हो गई, जिसके चलते वे गुरुग्राम में ही सेटल हो गईं। 2-2.5 साल घर-गृहस्ती में बिताया।

5000 रु से शुरू किया कारोबार

5000 रु से शुरू किया कारोबार

फिर इला ने 2007 में अपना बिजनेस शुरू किया। हैरानी की बात ये है कि उन्होंने सिर्फ 5 हजार रु की छोटी रकम से ये कारोबार शुरू किया था, जबकि उनकी अब रोजाना की कमाई ही 10 हजार रु है। इला बेकरी में जो खाने वाली चीजें बनाती हैं उनमें केक, ग्लूटेन फ्री ब्रेड, कुकीज, चॉकलेट्स, डेसर्ट जैसे 40 से ज्यादा आइटम शामिल हैं। वे पिज्जा और दूसरे गिफ्ट हैम्पर की एनसीआर क्षेत्र में डिलीवरी भी कराती हैं।

कैसे हुई शुरुआत

कैसे हुई शुरुआत

इला ने अपने एक मित्र के साथ बातचीत में बताया कि उनका कुछ करने का मन है। इस बिजनेस में उनके दोस्त ने काफी योगदान दिया। उनके पास कोई मैन्यू भी नहीं था। शुरुआत में सभी काम खुद करना पड़ा। उन्होंने इधर-उधर विज्ञापन भी दिए। धीरे-धीरे उनके पास ऑर्डर आने लगे। असल में पहले सोशल मीडिया नहीं थी, इसलिए मेहनत-मशक्कत कई गुना ज्यादा लगी।

सोशल मीडिया से काफी सहारा मिला
 

सोशल मीडिया से काफी सहारा मिला

सोशल मीडिया के आने के बाद उनका कारोबार रफ्तार पकड़ने लगा। वे जुड़वां बच्चों की मां भी हैं। उनके मुताबिक घर से बिजनेस करने का आइडिया बच्चों की देख-रेख की वजह से चुना। बता दें कि गुरुग्राम में पहले कहीं अच्छी पेस्ट्री नहीं मिलती थी। उन्होंने इसी आइडिया को लिया और बाद में बेकिंग भी शुरू की। कारोबार बढ़ने से लोगों को उनके बारे में पता चला और आज वे इस मुकाम तक पहुंच चुकी हैं।

पति ने खुद की डिलिवरी

पति ने खुद की डिलिवरी

बेकरी बिजनेस शुरू करने में इला के पति ने भी अहम भूमिका निभाई। ऐसा भी हुआ है कि उनके पति ने ही कई बार सामान की डिलिवरी की। बहरहाल इला अभी भी दिन में कई घंटे अपने बिजनेस को देती हैं। उनके मुताबिक कुछ भी आसान नहीं है। फल पाने के लिए मेहनत जरूरी है।

दूध का कारोबार : सालाना मुनाफा 1 करोड़ रु से ज्यादा, जानिए कहां और कैसे

English summary

Started this business by quitting the job earning 10 thousand rupees daily

This is the story of Ila, a resident of Gurugram, who left the job and started business. The business he chose was not very new. He started a bakery business.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X