For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

India ने China को दिया 1.5 लाख करोड़ रु का झटका, जानिए ऐसा क्या हुआ

|

नई दिल्ली। चीन को भारत के साथ सीमा पर तनाव पैदा करने का नुकसान कितना हो रहा है, इसके आंकड़े अब सामने आने लगे हैं। चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने कारोबार पर कड़ा नियंत्रण लगा दिया है। इसके चलते चीन को भारत को सामान बेचने से होने वाली आमदनी में भारी गिरावट आ गई है। अगर केवल 9 महीनों के आंकड़े ही देखें जाए तो चीन को करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये का झटका लग चुका है।

 

China को एक और झटका, पेगाट्रोन आ रही भारत

ये हैं भारत और चीन के कारोबारी आंकड़े

ये हैं भारत और चीन के कारोबारी आंकड़े

चीन का भारत को निर्यात इस साल के जनवरी से नवंबर तक यानी यानी 11 महीने में 13 प्रतिशत घट गया है। यह आंकड़े चीन के सीमा शुल्क विभाग के सोमवार को जारी किए हैं। इन आंकड़ों के अनुसार भारत का चीन को निर्यात इस समान अविध में करीब 16 प्रतिशत बढ़ गया है। इस प्रकार जहां चीन को झटका लगा है, वहीं भारत के लिए स्थिति में सुधार हुआ है। इन 11 महीनों में भारत और चीन के बीच कारोबार करीब 78 अरब डॉलर का रहा है।

जानिए कितना हुआ आयात और निर्यात
 

जानिए कितना हुआ आयात और निर्यात

भारत और चीन के बीच आयात और निर्यात 2019 में 92.68 अरब डॉलर रहा था। सीमा शुल्क विभाग के आंकड़े के अनुसार चीन ने जनवरी से नवंबर 2020 के दौरान करीब 59 अरब डॉलर का निर्यात भारत को किया है। यह निर्यात पिछले साल 2019 की इसी अवधि के मुकाबले 13 प्रतिशत कम है। वहीं भारत से चीन का आयात पहले 11 महीनों में करीब 19 अरब डॉलर का रहा है।

ये है व्यापार घाटे के आंकड़े

ये है व्यापार घाटे के आंकड़े

भारत का चीन से व्यापार घाटा इस अवधि के दौरान 40 अरब डॉलर का रहा है, हालांकि यह इससे पूर्व वित्त वर्ष में 60 अरब डॉलर था। इस प्रकार भारत ने चीन को जाने वाले पैसों में करीब 20 अरब डालर की कमी कर दी है। अगर इसे रुपये में जानें तो करीब चीन को भारत से 1.5 लाख करोड़ रुपये का कम व्यापार हुआ है। यह सीधा सीधा चीन को नुकसान ही है। भारत लगातार चीन को और भी झटके दे रहा है। अभी तक भारत करीब 200 से अधिक चीनी ऐप पर पाबंदी लगा चुका है।

English summary

India gave a business blow of about one and a half lakh crores to China

India brought down the trade deficit from $ 60 billion to $ 40 billion amid a border dispute with China.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X