For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Business Idea पैसों की हर टेंशन होगी दूर इस तरह करें तगड़ी कमाई

|

नई दिल्ली, अगस्त 19। भारत हमेशा से ही एक कृषि प्रधान देश रहा है। देश की ज्यादातर आबादी आज भी गाव में रहती है और खेती ही उनके लिए जिविका का आधार है। भारत में तमाम किस्म की खेती की जाती है लेकिन एक ऐसा उत्पाद भी है जिसकी खेती भारत में नहीं होती थी। लेकिन अब इसकी भी खेती भारत में शुरू हो गई है। हम बात कर रहें हैं हींग की खेती के विषय में। हींग हमारे घर में प्रयोग होने वाला एक जरूरी समान है। हिमाचल के किसान हींग की खेती करते हैं। आप भी हींग की खेती करके बेहतरिन कमाई कर सकते हैं।

 

Business Idea : गांव वालों के लिए शानदार कमाई का मौका, आप भी जानिएBusiness Idea : गांव वालों के लिए शानदार कमाई का मौका, आप भी जानिए

मध्य एशिया के देशों में होती है हिंग

मध्य एशिया के देशों में होती है हिंग

हींग की भारत में खपत को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा बयान दिया था। उन्होंने एक संबोधन में कहा था कि हींग के लिए भारत को अब दुनिया अन्य देशों पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। मध्य एशिया के देश कुछ देश जैसे अफगानिस्‍तान, ईरान में हींग की पैदावार बड़े पैमाने पर होती है। मध्य एशिया के लगभग देशो में हिंग की खेती होती तो है लेकिन दक्षिणी ईरान हिंग का पैदावर बड़े पैमाने पर किया जाता है।

ईरान में हिंग की होती है पैदावार
 

ईरान में हिंग की होती है पैदावार

हींग की पैदावार ईरान में सबसे ज्यादा होती है। यहा इसे फूड ऑफ गॉड्स कहा जाता है। दुनिया के कुछ देशों में हींग को दवा के रूप में प्रयोग किया जाता है। लेकिन भारत में आज भी हींग एक मसाले के रुप में इस्तेमाल किया जाता है। दुनिया के 40 फीसदी हींग की खपत भारत में की जाती है। हींग की खेती अब भारत में होने लगी है। खेती की शुरूआत 2020 में हिमाचल प्रदेश से शुरू हो गई है। हिमाचल के लाहौल घाटी में किसानों ने हींग की खेती की शुरूआत की है।

निवेश और कमाई

निवेश और कमाई

हींग की खेती करने में प्रतिहेक्टेयर 3 लाख रुपये की लागत आएगी। भारतीय बाजार में एक किलो हींग करीब 35000 से 40,000 रुपये प्रति किलो बिक रहा है। इस हिसाब से अगर आप एक महीने में 5 किलो हींग भी बेचत हैं तो आपको 2,00,000 प्रति महीने की कमाई आराम से हो जाएगी।

English summary

how to start hing farming and earn in lacs

Most of the population of the country still lives in the village and agriculture is the basis of their livelihood.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X