For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Gold Rate : 55000 रु से सीधे जा सकता है 65000 रु तक, जानें क्यों

|

नई द‍िल्‍ली: सोने-चांदी की कीमत में जारी तेजी का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोने के दाम इस वक्त आसमान छू रहे हैं। सोने की कीमत में एक बार फिर से बड़ी बढ़ोतरी हुई हैं। सोने-चांदी के भाव में बुधवार को भारी बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है।

Gold Rate : 55000 रु से सीधे जा सकता है 65000 रु तक

 

एचडीएफसी सिक्युरिटीज के अनुसार, बीते कल सोने के हाजिर भाव में 1,365 रुपये प्रति 10 ग्राम का उछाल दर्ज किया गया है। इस उछाल से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोने का भाव 56,181 रुपये प्रति 10 ग्राम के रिकॉर्ड स्तर पर आ गया था। सिक्युरिटीज के अनुसार, वैश्विक बाजार में भारी उछाल के चलते घरेलू हाजिर भाव में यह तेजी दर्ज की गई है। जबकि इससे पहले मंगलवार को सोने का घरेलू हाजिर भाव 54,816 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। घरेलू सर्राफा बाजार में बुधवार को चांदी के भाव में बंपर उछाल दर्ज किया गया है।

Gold लोन : किसानों को बंपर एग्री ज्वेल स्कीम के जर‍िए सस्‍ते में मिलेगा लोन ये भी पढ़ें

सोना 65,000 से 68,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक जाने की संभावना

सोना 65,000 से 68,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक जाने की संभावना

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज के कमोडिटी और फॉरेन एक्सचेंज के प्रमुख किशोर नारने ने कहा कि सोना और चांदी इस साल अब तक सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाली सम्पत्ति है। इनमें इस साल क्रमश: 40 प्रतिशत और 50 प्रतिशत का मुनाफा मिला है।अगले 12-15 महीने में सोने के भाव के 65,000 से 68,000 रुपये प्रति 10 ग्राम तक जाने की संभावना है। वहीं, चांदी 82,000 से 88,000 रुपये प्रति किलोग्राम के स्तर तक जा सकती है। उनका कहना है कि केंद्रीय बैंकों की उदार मौद्रिक नीति, अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर का टेंशन और कोराना वायरस के चलते वैश्विक अर्थव्यवस्था की गति को लेकर व्यापार चिंता जैसी वजहों से दोनों महंगी धातुओं का बाजार लगातार चढ़ रहा है। एचडीएफसी सिक्युरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (कमोडिटीज) तपन पटेल ने बताया कि डॉलर कमजोर होने तथा कोविड-19 के बढ़ते मामलों को लेकर आर्थिक वृद्धि दर को लेकर चिंताओं के बढ़ने के कारण सोने की कीमत एक नई ऊंचाई पर पहुंच गयी है।

 सोने में निवेश पर बेहतर रिटर्न
 

सोने में निवेश पर बेहतर रिटर्न

मोतीलाल ओस्वाल फाइनेंशियल सर्विसेज के हेड किशोर नार्ने ने कहा कि सोना और चांदी इस साल अब तक सबसे बेहतर प्रदर्शन वाले एसेट्स रहे हैं। सोने में 40 फीसदी और चांदी ने 50 फीसदी रिटर्न दिए हैं और यह उछाल आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। किशोर नार्ने के मुताबिक, केंद्रीय बैंकों द्वारा लिक्विडिटी के अप्रत्याशित राशि को बढ़ाने, ट्रेड वॉर को लेकर चिंताएं, राजनीतिक और भौगोलिक अस्थिरता, कोरोना के संक्रमण में इजाफा और संक्रमण के दूसरे दौर का खतरे की वजह से दोनों धातुओं की कीमतों में बढ़ोतरी होने की उम्मीद बनी है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत

वहीं एचडीएफसी सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक (जिंस) तपन पटेल ने कहा कि दिल्ली में 24 कैरेट सोने की वायदा कीमतें अंतराराष्ट्रीय बाजार में तेजी के साथ 1,365 रुपये बढ़ गईं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतें 2,032 डॉलर प्रति औंस और चांदी की कीमत 26.40 डॉलर प्रति औंस पर रही। पटेल ने कहा कि सोने की कीमतें डॉलर के कमजोर होने और आर्थिक विकास और कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंताओं की वजह से नई ऊंचाई को छू रही है। रिलायंस सिक्योरिटीज के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट के श्रीराम अय्यर ने कहा कि निवेशकों का सोने की खरीदारी करना जारी है क्योंकि उन्हें उम्मीद है कि कोरोना के वैश्विक अर्थव्यवस्था को झटके के बाद पीली धातु दूसरे एसेट के मुकाबले बेहतर वैल्यू देगा।

English summary

Gold Likely To Go Up To Rs 65000 Per 10 Grams

Gold and silver are the highest paying assets this year. Gold prices are expected to go up from Rs 65,000 to Rs 68,000 per 10 grams in the next 12-15 months.
Story first published: Thursday, August 6, 2020, 14:27 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?