For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

EPFO : रिटायरमेंट सेविंग स्कीम के नियम में होने जा रहा बदलाव, जानिए क्या

|

EPFO New Rule : सरकार जल्द ही कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) की प्रमुख रिटायरमेंट बचत योजना के लिए सैलरी लिमटि के तय नियम में संशोधन कर सकती है। नियम में संसोधन के बाद कर्मचारी और कंपनी दोनों EPFO में ज्यादा योगदान कर सकेंगे। सरकार की इस कदम से कर्मचारियों को उनकी रिटायरमेंट के लिए अधिक बचत करने में मदद मिलेगी। नियमों को संसोधन करके सरकार ईपीएफओ के सामाजिक सुरक्षा कवरेज के तहत अधिक श्रमिकों को कवर करने की योजना बना रही है।

 
EPFO : रिटायरमेंट सेविंग स्कीम के नियम में होने जा रहा बदलाव

15 हजार होनी चाहिए वेतन

वर्तमान में ईपीएफओ की कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) योजना में निवेश करने के लिए वेतन सीमा 15,000 रुपये प्रति माह है। साल 2014 में यह 6,500 रुपये प्रति माह था, तब इसे संशोधित किया गया था। यह योजना केवल उन कंपनियों के लिए उपलब्ध है जिनमें 20 से अधिक कर्मचारी काम करते हैं। इकोनॉमिक टाइम्स की एक खबर के मुताबिक ज्यादा वेज सीलिंग तय करने के लिए जल्द ही एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया जाएगा। निवेश करने की लिमिट को महंगाई के हिसाब से इंडेक्स किया जाएगा और ईपीएफओ के दायरे में लाने के लिए समय-समय पर इसकी समीक्षा की जाएगी।

EPFO : रिटायरमेंट सेविंग स्कीम के नियम में होने जा रहा बदलाव

जल्द हो सकता है बदलाव

ईपीएफओ वेतन सीमा को कर्मचारी राज्य बीमा निगम के तहत 21,000 रुपये प्रति माह की हाई वेतन सीमा के साथ जोड़ सकते हैं। यह कदम श्रम मंत्रालय द्वारा संचालित सरकार की दो सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के बीच समानता लाएगा और प्रतिष्ठानों पर अनुपालन बोझ को कम करेगा। सरकार की यह योजना दो तरह से काम करेगी पहला, 15,000 रुपये प्रति माह से कम आय वाले संगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से ईपीएफ का सदस्य बनना तय होगा। दूसरा कंपनी और कर्मचारी दोनों को अनिवार्य रूप से निर्धारित 15,000 रुपये के अधिकतम वेतन पर 12 प्रतिशत की दर से ईपीएफ योगदान करना होगा। कर्मचारी अधिक दर पर भुगतान कर सकता है लेकिन नियोक्ता इतनी अधिक दर पर भुगतान करने के लिए बाध्य नहीं है।

 
EPFO : रिटायरमेंट सेविंग स्कीम के नियम में होने जा रहा बदलाव

कर्मचारियों की बढ़ेगी संख्या

आंतरिक अनुमान बताते हैं कि नियमों में बदलाव से EPFPO के दायरे में लगभग 7.5 मिलियन और कर्मचारी आएंगे। वर्तमान में EPFO 68 मिलियन कर्मचारियों की सामाजिक सुरक्षा जमा का प्रबंधन करता है। अगर इसे बढ़ाकर 21,000 रुपये प्रति माह कर दिया जाए। ईपीएफओ अंशधारकों को भविष्य निधि लाभ के अलावा पेंशन के साथ-साथ योजना के तहत बीमा लाभ भी मिलते हैं। हालाँकि, इस कदम से कंपनियों के लिए वार्षिक वेतन लागत में वृद्धि हो सकती है। कंपनियों को अधिक पे करना पड़ सकता है।

China में नहीं मिल रहे मजदूर, भागने को मजबूर हो रही हैं कंपनियांChina में नहीं मिल रहे मजदूर, भागने को मजबूर हो रही हैं कंपनियां

English summary

EPFO There is going to be a change in the rules of Retirement Savings Scheme know what

The government may soon amend the fixed rule of salary limit for the flagship retirement savings scheme of the Employees' Provident Fund Organization (EPFO).
Story first published: Thursday, November 24, 2022, 18:19 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X