For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

RBI : Bank का डूबा पैसा वापस पाने का मौका, जानें क्या करें

|

नई दिल्ली, जुलाई 03। डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन (डीआईसीजीसी) अगले महीने शंकरराव पुजारी नूतन सहकारी बैंक, इचलकरंजी और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक, वाई के पात्र जमाकर्ताओं के पैसे का भुगतान करेगी। डीआईसीजीसी आरबीआई की एक सहायक कंपनी है, जो बैंक जमा पर 5 लाख रुपये तक का बीमा कवर प्रोवाइड करती है।

 

Post Office : ये हैं बेस्ट 3 स्कीम, मिलेगा 6.8 फीसदी तक ब्याज

महाराष्ट्र के हैं ये बैंक

महाराष्ट्र के हैं ये बैंक

महाराष्ट्र स्थित दो बैंकों के जमाकर्ताओं को उनके द्वारा निर्दिष्ट वैकल्पिक बैंक खाते में, या उनकी सहमति पर, उनके आधार से जुड़े बैंक खातों में राशि जमा की जाएगी। डीआईसीजीसी के एक सर्कुलर के अनुसार, शंकरराव पुजारी नूतन सहकारी बैंक के योग्य जमाकर्ताओं को 10 अगस्त को और हरिहरेश्वर सहकारी बैंक के 28 अगस्त को भुगतान मिलेगा। आरबीआई ने मई में इन दोनों बैंकों की बिगड़ती वित्तीय स्थिति के मद्देनजर जमाकर्ताओं द्वारा निकासी सहित कई प्रतिबंध लगाए थे। आरबीआई ने शंकरराव पुजारी नूतन सहकारी बैंक पर कई प्रतिबंध लगाते हुए कहा था कि 99.84 फीसदी जमाकर्ता पूरी तरह से डीआईसीजीसी बीमा योजना के दायरे में हैं। आरबीआई ने कहा था कि हरिहरेश्वर सहकारी बैंक के मामले में 99.59 फीसदी पूरी तरह से डीआईसीजीसी बीमा योजना के दायरे में हैं।

डीआईसीजीसी का बीमा
 

डीआईसीजीसी का बीमा

डीआईसीजीसी का जमा बीमा में सभी वाणिज्यिक बैंक शामिल हैं, जिनमें स्थानीय क्षेत्र के बैंक और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के साथ-साथ सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सहकारी बैंक शामिल हैं। अधिनियम के तहत, कंपनी बीमित बैंक के जमाकर्ताओं को बीमित जमा राशि का भुगतान करने के लिए उत्तरदायी है। ऐसी स्थिति तब उत्पन्न हो सकती है जब एक बीमित बैंक किसी योजना के तहत परिसमापन, पुनर्निर्माण या किसी अन्य व्यवस्था से गुजरता है, और किसी अन्य बैंक द्वारा विलय या अधिग्रहण करता है।

किया है भारी भुगतान

किया है भारी भुगतान

मार्च 2022 के अंत तक, जमा बीमा की सीमा 5 लाख रुपये पूरी तरह से संरक्षित 256.7 करोड़ जमा खातों (कुल खातों का 97.9 प्रतिशत) है। राशि के संदर्भ में, 81 लाख करोड़ रुपये की बीमित जमा राशि कुल जमा का 49 प्रतिशत है। डीआईसीजीसी ने 2021-22 के दौरान विभिन्न चैनलों के तहत 8,516.6 करोड़ रुपये के कुल दावों का निपटारा किया।

English summary

Customers of two cooperative banks in crisis will get money know when

DICGC is a subsidiary of RBI, which provides insurance cover on bank deposits up to Rs.5 lakh.
Story first published: Sunday, July 3, 2022, 19:13 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X