For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Coronavirus Effect : ऑटो सेक्टर का निकला दम, बिक्री घटी और उत्पादन रुका

|

नयी दिल्ली। पिछले महीने भारत में कार कंपनियों की बिक्री में भारी गिरावट देखी गयी। इसकी मुख्य वजह है कोरोनोवायरस महामारी के कारण उत्पादन बंद होने से मांग में कमी आना। सरकार ने भारत में 21 दिनों का लॉकडाउन में लागू कर रखा है ताकि कोरोनावायरस को फैलने सो रोका जा सके। इससे मारुति सुजुकी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, फोर्ड मोटर कंपनी, टोयोटा मोटर कॉर्प और हुंडई मोटर जैसी कार कंपनियों को प्रोडक्शन रोकना पड़ा। मार्च में मारुति, देश में हर दो में से एक कार बिकने वाली कार मारुति की होती है, की सेल्स मार्च 2019 के मुकाबले 47 फीसदी लुढ़क कर 83792 यूनिट्स रही। हालांकि कंपनी की तरफ से कहा गया कि ये आंकड़े मार्च 2019 से तुलनीय नहीं है, क्योंकि इसने 22 मार्च से कारोबार रोक दिया है। इसके अलावा महिंद्रा की सेल्स में 88 फीसदी और टाटा की यात्री वाहन बिक्री में 68 फीसदी की गिरावट आई। टाटा की ट्रक और बसों की बिक्री भी 87 फीसदी लुढ़क गई। टोयोटा की मार्च बिक्री 59 फीसदी घट कर 8,022 वाहन और भारत की दूसरी सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी ह्यूंडई की मार्च बिक्री 47 फीसदी घट कर 32,279 वाहन रह गई।

मारुति और महिंद्रा ने रोका उत्पादन

मारुति और महिंद्रा ने रोका उत्पादन

भारत की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी और महिंद्रा एंड महिंद्रा के साथ ही मर्सिडीज-बेंज, फिएट क्रिसलर ऑटोमोबाइल्स और ह्यूंडई ने कोरोनावायरस के कारण देश में कार उत्पादन रोक दिया है। स्पोर्ट-यूटिलिटी वाहन निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने कहा कि इसका उद्देश्य कोरोनोवायरस के मरीजों के लिए अपने मैन्युफैक्चरिंग संयंत्रों में वेंटिलेटर बनाना है। महिंद्रा से पहले फेरारी और फिएट भी इसी तरह का ऐलान कर चुकी हैं। बता दें कि लॉकडाउन की घोषणा के साथ ही मारुति ने फौरन ही हरियाणा में अपने प्लांट बंद कर दिया था। महिंद्रा का भी कई संयंत्रों में प्रोडक्शन रुका हुआ है।

विदेशों में भी कार इंडस्ट्री का बुरा हाल
 

विदेशों में भी कार इंडस्ट्री का बुरा हाल

बीएमडब्ल्यू, टोयोटा और होंडा के कोरोना के कारण अपना प्रोडक्शन रोकने का यूके कार इंडस्ट्री पर बुरा असर पड़ रहा है। गिरती बिक्री और महामारी के कारण पार्ट्स की कमी के बीच निसान और वॉक्सहॉल भी अपने प्लांट्स बंद कर चुकी हैं। वहीं उत्तरी अमेरिका में फोर्ड और जनरल मोटर्स वायरस के कारण अपनी फैक्ट्रियों को बंद कर चुकी हैं। इसके अलावा टोयोटा ने यूके के साथ ही उत्तर अमेरिका में अपना प्लांट बंद कर दिया है। इनके अलावा जिन कंपनियों ने अपना यूरोपीयन प्रोडक्श रोका है उनमें फेरारी, फिएट क्रिसलर, फ्रेंच कार कंपनी पीएसए, टीपीसीए, रेनॉल्ट, वोक्सवैगन, मर्सिडीज-बेंज ब्रांड की मालिक डेमलर और निसान शामिल हैं।

टोयोटा ने भारत में रोका प्रोडक्शन

टोयोटा ने भारत में रोका प्रोडक्शन

टोयोटा इंडिया के जॉइंट वेंचर ने कोरोनोवायरस और लॉकडाउन के कारण बिदादी संयंत्र में कारों का उत्पादन को रोक रखा है। इससे कंपनी की आमदनी और कारोबार पर निगेटिव असर पड़ेगा। कंपनी ने ये फैसला पिछले महीने कर्नाटक सरकार के उस आदेश के बाद लिया था जिसमें सभी श्रम प्रधान उद्योगों को alternate (वैकल्पिक) दिनों में अपनी क्षमता का 50 प्रतिशत काम करने का निर्देश दिया था। 23 वर्ष पुरानी जापानी ऑटोमोबाइल कंपनी के पास बेंगलुरु-मैसूरु राज्य राजमार्ग पर 3.1 लाख इकाइयों की संयुक्त क्षमता वाले दो प्रोडक्शन प्लांट हैं। इन दोनों प्लांट्स से लगभग 6,500 लोगों को रोजगार मिलता है।

 

Insurance : 10 अप्रैल के बाद महंगा हो सकता टर्म प्लान, अभी खरीदें सस्ता

English summary

Coronavirus Effect Auto sector comes out sales down and production halted

The government has implemented a 21-day lockdown in India to prevent the spread of coronavirus. This led to car companies such as Maruti Suzuki, Mahindra & Mahindra, Ford Motor Company, Toyota Motor Corp and Hyundai Motor stopping production.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X