For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Bitcoin : 17 लाख रु से रेट पहुंच सकता है 55 लाख रु, तिगुने से अधिक हो जाएगा पैसा

|

नई दिल्ली, जून 25। दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज बायनेंस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) चांगपेंग झाओ के अनुसार अगले दो वर्षों में बिटकॉइन अपने ऐतिहासिक हाई स्तर 69,000 डॉलर से नीचे रह सकती है। इसके पीछे उन्होंने डिजिटल एसेट मार्केट में आई गिरावट को जिम्मेदार बताया है। साथ ही उन्होंने कहा कि लोग चार साल पहले "बहुत खुश" होते थे। उनके अनुसार बिटकॉइन 2022 में 20,000 डॉलर पर ही कारोबार करेगा। बिटकॉइन क्रिप्टो में उस स्तर से भी नीचे गिर गयी, जिसने कई लंबे समय तक लाभ कमा चुके लोगों के प्रोफिट का भी सफाया कर दिया।

 

Cryptocurrency : निवेश का नया तरीका, बाजार के उतार-चढ़ाव से पैसा रहेगा सेफ

कहां तक जा सकता है रेट

कहां तक जा सकता है रेट

झाओ ने बिटकॉइन के भविष्य को लेकर पॉजिटिव संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा है कि अगले कुछ महीनों में बिटकॉइन की कीमत इसके अब तक के उच्चतम स्तर के करीब पहुंच सकती है। बल्कि उन्होंने कहा कि अगले दो साल में यह 70 हजार डॉलर (लगभग 55 लाख रुपये) के स्तर के करीब पहुंच जाएगी, जबकि इसका मौजूदा स्तर भारतीय मुद्रा 16.7 लाख रु के आस-पास है। यानी यदि अभी निवेश किया जाए तो निवेश वैल्यू 3 गुने से अधिक हो जाएगी।

करना होगा सब्र
 

करना होगा सब्र

द गार्डियन की रिपोर्ट के अनुसार झाओ के मुताबिक उन्हें लगता है कि बिटकॉइन की कीमत में आई गिरावट को देखते हुए, जो कि अब तक के 68000 डॉलर से गिर कर 20000 डॉलर तक घटी है, को वापस ऊपर जाने में शायद कुछ समय लगेगा। इसमें शायद कुछ महीने या कुछ साल लगेंगे। उन्होंने कहा कि कोई भी भविष्य की भविष्यवाणी नहीं कर सकता।

कहां से कहां पहुंचा रेट

कहां से कहां पहुंचा रेट

उन्होंने कहा कि 20000 डॉलर का रेट हमें आज बहुत कम लगता है। लेकिन आप जानते हैं, 2018 में, 2019 में, अगर लोगों से कहा गया होता कि 2022 में बिटकॉइन 20000 डॉलर का हो जाएगा, तो वे बहुत खुश होते। 2018/19 में, बिटकॉइन 3,000 डॉलर, 6,000 डॉलर पर था।

इंडस्ट्री अभी भी बढ़ रही

इंडस्ट्री अभी भी बढ़ रही

यह पूछे जाने पर कि क्या उन्होंने बिटकॉइन और क्रिप्टो की कीमतों में मौजूदा उतार-चढ़ाव को "सामान्य" माना है, जैसा कि उन्होंने इस महीने की शुरुआत में एक साक्षात्कार में कहा था, तो इस उन्होंने कहा कि यदि आप बिटकॉइन के निचले स्तर को देखते हैं, तो यह अंतिम शिखर से अधिक है। इसलिए, सामान्य हो या न हो, मुझे लगता है कि इंडस्ट्री अभी भी निश्चित रूप से बढ़ रहा है, कीमत में उतार-चढ़ाव सामान्य है।

क्यों आई गिरावट

क्यों आई गिरावट

बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी कई कारकों से प्रभावित हुए हैं, जिनमें बढ़ती मुद्रास्फीति और केंद्रीय बैंकों द्वारा ब्याज में आगामी बढ़ोतरी से जुड़े शेयर बाजार में गिरावट शामिल है। दरें बढ़ाना - पिछले हफ्ते यूएस, यूके और स्विस केंद्रीय बैंकों द्वारा अपनाया गया एक रास्ता - जोखिम भरी संपत्ति को कम आकर्षक बना सकता है। उदाहरण के लिए, कुछ तकनीकी स्टॉक, जिनकी कीमत कई दशकों में मजबूत भविष्य की कमाई की उम्मीदों पर आधारित हो सकती है, बॉन्ड जैसे निवेश से तुरंत प्रस्ताव पर निश्चित रिटर्न की तुलना में अपेक्षाकृत कम आकर्षक हो सकते हैं, जो उच्च उधार दर के माहौल में अधिक आकर्षक हो जाते हैं। ऐसे में लोग जोखिम वाली एसेट के बजाय ऐसे निवेश ऑप्शन की तरफ आते हैं।

English summary

Bitcoin Rate can reach from Rs 17 lakh to Rs 55 lakh money will more than triple

Bitcoin also fell below the level in crypto that wiped out the profits of many long-timers.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X