For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

बड़ी खबर : अगले महीने से Bank बदलेंगे पैसों के लेनदेन से जुड़ा ये नियम

|

नई द‍िल्‍ली: अगर आप बैंकिंग सेवा का इस्‍तेमाल करते है तो आपके ल‍िए बड़ी खबर है। दरअसल अगले महीने से बैंक पैसों के लेनदेन से जुड़ा एक अहम न‍ियम बदलने जा रहा है। आरबीआई ग्राहकों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए आए दिन किसी नई सुविधा का ऐलान करता रहता है। अब आरबीआई ने करोड़ों ग्राहकों के लिए एक और बड़ी घोषणा की है। इस बार ये न‍ियम बैंक से पैसों के लेन-देन को लेकर के हैं।

अगले महीने से Bank बदलेंगे पैसों के लेनदेन से जुड़ा ये नियम

 

RBI पैनल : प्राइवेट बैंकों में बढ़ेगी प्रमोटरों की हिस्सेदारी ये भी पढ़ें

 बदल जाएगा पैसों के लेनदेन से जुड़ा ये नियम

बदल जाएगा पैसों के लेनदेन से जुड़ा ये नियम

जी हां आने वाले अगले 10 दिनों में यानी दिसंबर महीने से कैश ट्रांसफर से जुड़े बैंकों के नियम बदल जाएंगे। दरअसल, आरबीआई ने रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) को लेकर नियम में बदलाव किया है। अब लोग 24 घंटे आरटीजीएस सुविधा का लाभ उठा पाएंगे। यानी दिसंबर से आपको बड़ी रकम ट्रांसफर करने के लिए बैंक के खुलने और बंद होने का इंतजार नहीं करना होगा। ये व्यवस्था आरबीआई को दिसंबर से लागू करनी है। आपके जानकारी के ल‍िए बता दें कि अभी ये सर्विस 24 घंटे काम नहीं करती।

24 घंटे मिलेगी ग्राहकों को आरटीजीएस सर्विस
 

24 घंटे मिलेगी ग्राहकों को आरटीजीएस सर्विस

आरबीआई आरटीजीएस की 24 घंटे की सर्विस दिसंबर से शुरू करेगा। फिलहाल, ग्राहकों के लिए आरटीजीएस सिस्टम की टाइमिंग सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक है। दूसरे और चौथे शनिवार को, जब बैंक की छुट्टी होती है, तब यह सुविधा भी बंद रहती है। इसके साथ ही रविवार को भी यह सर्विस बंद रहती है। आरबीआई के इस फैसले से बड़ी ट्रांजेक्शन या फंड ट्रांसफर करने वाले लोगों और कारोबारियों को फायदा होगा। आरबीआई ने अपनी पिछली मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय पहली बैठक के बाद जारी समीक्षा में कहा कि भारत वैश्विक स्तर पर ऐसे गिने चुने देशों में होगा जहां 24 घंटे, सातों दिन, बारह महीने बड़े मूल्य के भुगतानों के तत्काल निपटान की प्रणाली होगी।

क्या होता है आरटीजीएस

क्या होता है आरटीजीएस

आरटीजीएस फंड ट्रांसफर करने की एक तेज प्रक्रिया है। इस सिस्टम के जरिए आप एक बैंक अकाउंट से दूसरे में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। आरटीजीएस में न्यूनतम 2 लाख रुपये फंड ट्रासफर कर सकते हैं। इसमें अधिकतम की कोई सीमा नहीं है। आरटीजीएस के जरिए तुरंत पैसा पहुंच जाता है। आरबीआई ने देश भर में डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया है। महामारी में डिजिटल बैंकिंग का उपयोग बढ़ गया है। आपको बता दें कि आरटीजीएस के तहत न्यूनतम ट्रांसफर अमाउंट दो लाख रुपये है। वहीं अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है।

जान लें क्‍या हैं चार्जेस

जान लें क्‍या हैं चार्जेस

सुबह 8 बजे से 11 बजे तक आरटीजीएस करने पर कोई चार्ज नहीं लगता है। जबकि 11 बजे सुबह से 2 बजे तक 2 रुपये और शाम 6 बजे के बाद 10 रुपये चार्ज लगता है।

एनईएफटी की सुविधा भी 24 घंटों के लिए उपलब्ध

एनईएफटी की सुविधा भी 24 घंटों के लिए उपलब्ध

16 दिसंबर 2019 से सभी बैंकों में 24 घंटे नेशनल इलेक्ट्रोनिक फंड ट्रांसफर (एनईएफटी) की सुविधा शुरू की थी। ऐसा करने का निर्देश भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बैंकों को दिया था। जबकि इससे पहले एनईएफटी सुविधा सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक थी। एनईएफटी का मतलब है नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर। इंटरनेट के जरिए दो लाख रुपये तक के लेन-देन के लिए एनईएफटी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है।

RBI का फैसला: 24 घंटे कर सकेंगे पैसों की लेन-देन ये भी पढ़ें

English summary

Banks Will Change The Rules Related To Money In Next 10 Days

RBI has made another major announcement for crores of customers. From next month, banks are going to change an important rule related to money transactions.
Story first published: Saturday, November 21, 2020, 16:04 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?