For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Post Office खाताधारकों के लिए बुरी खबर, अब देना होगा ज्यादा चार्ज

|

नयी दिल्ली। यदि आपका भी खाता पोस्ट ऑफिस में है तो ये खबर आपके काम की है। दरअसल पोस्ट ऑफिस ने अलग-अलग खातों पर लगने वाले शुल्कों में बदलाव किया है। शुल्क के नये नियम आपको निराश कर सकते हैं। असल में इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक ने पोस्ट ऑफिस अकाउंट में कैश जमा करने और निकालने पर अतिरिक्त पैसे चार्ज लगाने का फैसला किया है। नये शुल्क 1 अप्रैल 2021 से लागू होंगे। आइए जानते हैं पूरी डिटेल।

पोस्ट ऑफिस खाताधारकों को होगा नुकसान
 

पोस्ट ऑफिस खाताधारकों को होगा नुकसान

जी न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार शुल्क में बढ़ोतरी की खबर की पुष्टि इंडिया पोस्ट के प्रतिनिधि भी कर दी है। रिपोर्ट्स के अनुसार शुल्क में बढ़ोतरी विभिन्न प्रकार के खातों के अनुसार अलग-अलग बढ़ाई जाएगी। आइए विभिन्न खातों पर लगने वाले शुल्कों पर एक नज़र डालें।

इंडिया पोस्ट बेसिक सेविंग्स अकाउंट शुल्क

इंडिया पोस्ट बेसिक सेविंग्स अकाउंट शुल्क

सेविंग्स अकाउंट में एक महीने में चार बार तक कैश निकालने पर कोई शुल्क नहीं लगता है। इसके बाद प्रत्येक लेनदेन पर निकाली गई कुल राशि का 0.50 प्रतिशत या 25 रु शुल्क लिया जाएगा। हालांकि आपको कैश जमा करते समय कोई चार्ज नहीं देना होगा। आप बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के नकद राशि जमा कर सकते हैं।

इंडिया पोस्ट सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट चार्ज
 

इंडिया पोस्ट सेविंग अकाउंट और करंट अकाउंट चार्ज

बेसिक बचत खाते के अलावा यदि आपके पास बचत खाता या चालू खाता है तो आप बिना अतिरिक्त शुल्क दिए हर महीने 25,000 रुपये तक निकाल सकते हैं। हालांकि उसके बाद हर बार निकासी पर निकाली गई कुल राशि का 0.50 प्रतिशत या न्यूनतम 25 रुपये शुल्क आपसे लिया जाएगा। अगर आप महीने में 10,000 रुपये तक का कैश डिपॉजिट करते हैं, तो कोई चार्ज नहीं लगेगा। हालाँकि यदि आप इससे अधिक राशि जमा करते हैं तो प्रत्येक जमा पर न्यूनतम 25 रुपये या कुल राशि का 0.50 प्रतिशत शुल्क लिया जाएगा।

इंडिया पोस्ट एईपीएस अकाउंट चार्ज

इंडिया पोस्ट एईपीएस अकाउंट चार्ज

नए इंडिया पोस्ट नियम के तहत आपको आधार सक्षम भुगतान प्रणाली (एईपीएस) पर भी शुल्क देना होगा। जबकि आईपीपीबी (इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक) नेटवर्क पर मुफ्त अनलिमिटेड ट्रांजैक्शन होते हैं, मगर नॉन-आईपीपीबी नेटवर्क पर महीने में केवल तीन ट्रांजैक्शन फ्री होते हैं। इसमें कैश जमा करना, नकद निकालना और मिनी स्टेटमेंट शामिल हैं। एईपीएस में फ्री लिमिट खत्म होने के बाद हर ट्रांजैक्शन पर चार्ज देना होगा।

कैश डिपॉजिट करने पर जुर्माना

कैश डिपॉजिट करने पर जुर्माना

कैश जमा करने की लिमिट के बाद पैसे जमा करने पर हर ट्रांजैक्शन पर 20 रुपये का चार्ज लिया जाएगा। साथ ही कैश निकालने पर चार्ज 20 रुपये रखा गया है। मिनी स्टेटमेंट प्राप्त करने के लिए आपको कम से कम 1 रु और अधिकतम 20 रु का चार्ज देन होगा। इन सभी शुल्कों पर जीएसटी और सेस (उपकर) भी लगाया जाएगा। इस समय पोस्ट ऑफिस में बचत जमा पर 4 फीसदी, 1 वर्षीय टाइम डिपॉजिट पर 5.5 फीसदी, 2 वर्षीय टाइम डिपॉजिट पर 5.5 फीसदी, 3 वर्षीय टाइम डिपॉजिट पर 5.5 फीसदी, 5 वर्षीय टाइम डिपॉजिट पर 6.7 फीसदी, 5 वर्षीय रेकरिंग डिपॉजिट पर 5.8 फीसदी, 5 वर्षीय सीनियर सिटिजेन सेविंग स्कीम पर 7.4 फीसदी, 5 वर्षीय मासिक आय खाता पर 6.6 फीसदी, 5 वर्षीय नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर 6.8 फीसदी, पीपीएफ पर 7.1 फीसदी, किसान विकास पत्र पर 6.9 फीसदी (124 महीनो में मैच्योर होगा) और सुकन्या समृद्धि योजना पर 7.6 फीसदी ब्याज मिलता है।

PPF Account : ऐसे सबसे बड़े 4 बैंकों में खोलें ऑनलाइन, आसान है प्रोसेस

English summary

Bad news for post office account holders charges have been increased

India Post's representative has also confirmed the news of the increase in fees. According to reports, the increase in fee will be increased according to different types of accounts.
Story first published: Thursday, March 4, 2021, 19:07 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X