For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

पाकिस्तान और चीन समेत 12 विदेशी कंपनियों को निगरानी सूची में डाला America

|

नई द‍िल्‍ली: अमेरिका (America) ने पाकिस्तान (Pakistan) की एक और चीन (china) की कई कंपनी (company) समेत 12 विदेशी कंपनियों (Foreign companies) को अपनी 'एन्टिटी सूची ('Entity list') में शामिल किया है। जी हां अमेरिका ने पाकिस्तान और चीन (Pakistan and China) को बड़ा झटका देते हुए कई कंपनियों को अपनी 'एंटिटी' लिस्ट ('Entity list') में शामिल किया है। इन कंपनियों (company) को यह सुनिश्चित करने के लिए इस सूची में शामिल किया गया है कि संवेदनशील प्रौद्योगिकी (Sensitive technology) उन लोगों के हाथों में नहीं पड़े जो देश के राष्ट्रीय हित (National interest of the country) को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

अमेर‍िका के इस एक्‍शन से पाकिस्‍तान और चीन हैरान

 

राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनज़र उठाया ये कदम

अमेरिकी वाणिज्य मंत्रालय (U.S. Department of Commerce) ने बताया कि अमेरिका (America) ने चीन और हांगकांग (China and Hong Kong) स्थित 4 कंपनियों, 2 अन्य चीनी कंपनियों (Chinese companies), एक पाकिस्तानी कंपनी (Pakistani company) और संयुक्त अरब अमीरात के 5 लोगों को सूची में शामिल किया है। जानकारी दें कि अमेरिका के वाणिज्य मंत्री विल्बुर रोस (U.S. Commerce Minister Wilbur Ross) ने कहा, 'ट्रंप प्रशासन ('Trump administration) अमेरिकी नागरिकों या हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) को नुकसान पहुंचा सकने वाले हर कदम के खिलाफ देश की रक्षा करेगा। हम दुनियाभर में लोगों, कारोबारों और संगठनों (Businesses and organizations) को नोटिस दे रहे हैं कि यदि वे जनसंहार करने वाले हथियारों संबंधी ईरान की गतिविधियों (Activities of Iran) और अन्य अवैध योजनाओं (Illegal schemes) को समर्थन (Support) देते हैं तो उन्हें जवाबदेह ठहराया जाएगा।

H-1B visa महंगा हो सकता है, आईटी कंपनियों की बढ़ेगी समस्या ये भी पढ़ें

इस बात की भी जानकारी दें कि वाणिज्य मंत्रालय (Ministry of Commerce) और उद्योग एवं सुरक्षा ब्यूरो (BIAS) द्वारा 'एंटिटी सूची' ('Entity list') के अद्यतन के बाद रोस ने कहा, 'इसके अलावा, हम चीन की असैन्य-सैन्य एकीकरण नीति (Civil-military integration policy) को प्रतिबंधित प्रौद्योगिकी के हस्तांतरण की साजिशों के जरिए अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा (American national security) को कमजोर करने की अनुमति नहीं दे सकते। हालांकि बीआईएस (BIS) ऐसी विदेशी कंपनियों, (Foreign companies) संगठनों या व्यक्ति को अपनी 'एन्टिटी सूची' में शामिल करता है जो उसके अनुसार अमेरिका की सुरक्षा (US security) और विदेश नीति (Foreign Policy) के हितों के विरुद्ध काम करती हैं।

English summary

America's Big Action Raised In The Wake Of National Security

US pays 12 overseas companies including Pakistan and China on surveillance list।
Story first published: Tuesday, May 14, 2019, 14:15 [IST]
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more