For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Jet Airways के कर्मचारियों को मिल सकती है स्पेशल लोन फैसलिटी

|

नई द‍िल्‍ली: आर्थिक संकट (Economic Crisis) के कारण कर्ज में डूबी एयरलाइन जेट एयरवेज (Airline jet airways) के जमीन पर खड़े हो जाने के बाद उसके कमचारियों पर मुसीबत आ पड़ी है। Jet Airways के 22000 इंप्लॉइज के अनिश्चित भविष्य को लेकर बैंक यूनियन्स ने उन्हें स्पेशल लोन (Special loan) दिए जाने का सुझाव दिया है। इसका मकसद सैलरी न मिलने से इंप्लॉइज के समक्ष पैदा हुए वित्तीय संकट से राहत प्रदान करना है। जानकारी दें कि पिछले सप्ताह बैंक यूनियन्स (Bank unions) ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) को लेटर लिखकर मांग की थी कि सरकार जेट एयरवेज का टेक ओवर (Take over) कर ले ताकि इंप्लॉइज की नौकरी बनी रहे।

Banks Union Jet Airways स्‍टाफ को दे सकती स्‍पेशल लोन

 

1 महीने की सैलरी देने के लिए लगभग 170 करोड़ रुपये की जरूरत

हालांकि इंडियन बैंक एसोसिएशन (Indian Bank Association) को लिखे एक लेटर में यूनियन ने बैंक लॉबी (Bank lobby) से अपील की है कि वे मेंबर बैंकों को एक स्पेशल लोन स्कीम लाने को कहे। ताकि जेट एयरवेज (Jet Airways) के स्टाफ (staff) को उनकी वित्तीय परेशानी (Financial problem) से राहत मिल सके। वहीं यूनियन्स का यह भी सुझाव है कि बैंक स्पेशल और एक्सक्लूसिव लोन (Exclusive Loan) को उचित कोलेटरल पर जेट एयरवेज के लिए एक्सटेंड कर सकते हैं ताकि उनकी बकाया सैलरी या गुजारे के लिए कुछ पेमेंट दिया जा सके। जेट एयरवेज के चीफ एग्जीक्यूटिव विनय दुबे (Binay dubey) ने शनिवार को कहा था कि जेट स्टाफ (Jet staff) की कम से कम 1 महीने की सैलरी देने के लिए लगभग 170 करोड़ रुपये की जरूरत है।

Air India Express जेट एयरवेज के विमानों को पट्टे पर ले सकती ये भी पढ़ें

इस बात की जानकारी दें कि पिछले हफ्ते लेंडर्स (Lenders) ने जेट एयरवेज (Jet Airways) को 400 करोड़ रुपये की अंतरिम फंडिंग देने से मना कर दिया था। इसके बाद जेट ने अपनी उड़ानें बंद करने की घोषणा की। जबक‍ि कंपनी पिछले 25 सालों से ऑपरेशनल (Operational) थी।

 

बैंकों का 8500 करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया

ये भी बता दें कि जेट एयरवेज (Jet airways) को बैंकों (bank) का 8500 करोड़ रुपये से ज्यादा का बकाया चुकाना है। साथ ही इस पर वेंडर्स (Vendors), एयरक्राफ्ट लेसर्स (Aircraft lasers) और इंप्लॉइज की सैलरी मिलाकर 4000 करोड़ रुपये का बकाया है। इसके अलावा पैसेंजर्स के भी विमानन कंपनी पर हजारों करोड़ का रिफंड भी बकाया है।

English summary

Bank Wants To Provide Special Loan Facility To Jet Airways Staff

Last week, Bank Unions had written a letter to Prime Minister Narendra Modi demanding that the government take over the Jet Airways to maintain the employment of the employee।
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more