डेबिट कार्ड से 1000 रुपए से ज्‍यादा की शॉपिंग हो जाएगी सस्‍ती

Written By: Pratima
Subscribe to GoodReturns Hindi

RBI ने भले ही रेपो रेट के अंतर्गत कल सस्‍ते कर्ज का तोहफा ना दिया हो लेकिन कार्ड से शॉपिंग करने वालों को उसने न्‍यू ईयर का तोहफा दे दिया है। जी हां आरबीआई ने डेबिट कार्ड से पेमेंट करने वाले लोगों के लिए चार्ज कम करने का ऐलान किया है। यानी कि 1000 रुपए से ज्‍यादा की शॉपिंग अगर आप करते हैं तो आपकी शॉपिंग थोड़ा सस्‍ती हो जाएगी। रिजर्व बैंक का यह मानना है कि ऐसा करने से व्‍यापारियों का दायरा बढ़ेगा और लोगों को भी थोड़ा फायदा होगा।

डिजिटल पेमेंट को मिलेगा बढ़ावा

ऐसा आरबीआई ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से किया है। तो वहीं आरबीआई ने मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट यानि एमडीआर चार्ज को लेकर कारोबारियों को राहत दी है। एमडीआर चार्ज में बदलाव किए गए हैं। कारोबारियों पर उनकी कैटेगरी के हिसाब से एमडीआर चार्ज वसूला जाएगा। आपको बता दें की ये नए चार्ज 1 जनवरी से लागू होंगे।

कारोबारियों के हिसाब से तया होगा MDR

हालांकि कारोबारियों के टर्नओवर के हिसाब से एमडीआर चार्ज तय किया जाएगा। 20 लाख रुपए से कम टर्नआवेर वाले लोग छोटे कारोबारियों की कैटेगरी में आएंगे। तो वहीं 20 लाख रुपए से ज्‍यादा के टर्नओवर वाले बड़े कारोबारियों की कैटेगरी में रहेंगे।

क्‍या है मर्चेंट डिस्‍काउंट

मर्चेंट डिस्‍काउंट रेट वह रेट होता है जो कि बैंक किसी भी दुकानदार अथवा कारोबारी से कार्ड पेमेंट सेवा के लिए लेता है। ज्‍यादातर कारोबारी एमडीआर चार्जेस का भार ग्राहकों पर डालते हैं और बैंकों को दी जाने वाली फीस का अपनी जेब पर भार कम करने के लिए ग्राहकों से भी इसकी फीस वसूलते हैं।

ये होगा फायदा

यदि सरकार एमडीआर चार्जेस कम करती है तो इसका फायदा आम आदमी को मिलेगा। MDR चार्जेस कम होने से आप जब भी डेबिट कार्ड से लेन-देन करेंगे तो आपको उसमें एक्‍सट्रा चार्जेस ना के बराबर देना होगा।

English summary

Shopping from the debit card will become cheaper on January 1

Here we will explain about Merchant discount which is providing by govt.
Story first published: Thursday, December 7, 2017, 10:49 [IST]
Please Wait while comments are loading...
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Find IFSC

Get Latest News alerts from Hindi Goodreturns