For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

दुबई में था मैनेजर पर भारत लौट कर शुरू किया अपना Business, कमा रहा लाखों

|

नई दिल्ली, सितंबर 27। जैसा कि हम सब जानते हैं कि भारत कृषि प्रधान देश रहा है। मगर यहां खेती पर किसान उस तरह भरोसा नहीं करते, जैसा अब से कुछ दशक पहले करते थे। किसानों की कमाई और फसल में बारिश का अहम रोल है। पर कहीं सूखा और कहीं बाढ़ किसानों के लिए मुसीबत हैं। खेती में कमर तोड़ मेहनत के बाद कम कमाई से किसान परेशान हैं। पर कुछ ऐसे भी किसान हैं, जो कुछ नयी तकनीक या नयी चीजों की खेती करके मालामाल बन रहे हैं। यहां हम आपको एक ऐसे ही व्यक्ति के बारे में बताएंगे, जो विदेश से भारत आया और एक खास फल की खेती से हर महीने लाखों रु कमा रहा है।

 

Success Story : बिजनेस के लिए छोड़ा IAS का पद, फिर बना 14000 करोड़ रु का मालिकSuccess Story : बिजनेस के लिए छोड़ा IAS का पद, फिर बना 14000 करोड़ रु का मालिक

स्ट्रॉबेरी की खेती

स्ट्रॉबेरी की खेती

वैसे तो किसान परेशान हैं, मगर ये भी सच है कि युवा इस तरफ ध्यान दे रहे हैं। जिस व्यक्ति के बारे में हम बात करने जा रहे हैं वो हैं नवीन मोहन राजवंशी। नवीन एख समय दुबई में अच्छी खासी सैलेरी कमा रहे थे। मगर उन्होंने उसे छोड़ कर सीतापुर आकर स्ट्रॉबेरी की खेती करना शुरू कर दिया। वे इस फल की खेती आधुनिक तकनीक से कर रहे हैं।

चेन्नई से एमबीए

चेन्नई से एमबीए

नवीन ने चेन्नई से एमबीए करने के बाद दुबई गए और वहां बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर की पोस्ट पर जॉब करने लगे। मगर कुछ समय बाद उनके जीवन में एक बड़ा बदलाव आया। जब नवीन दुबई में नौकरी कर रहे थे तो एक बार वे एक फार्म पर घूमने गए। उन्होंने वहां रेगिस्तान में लहलहाती फसलें देखीं। बस उनके मन में भी खेती-बागबानी का विचार आया।

लौट आए भारत
 

लौट आए भारत

इसके बाद वे भारत लौट आए। कोविड के दौरान नवीन अपने होमटाउन सीतारपुर लौट आए। उन्होंने वहां के कृषि विज्ञान केंद्र से आधुनिक तकनीक से स्ट्रॉबेरी की खेती करना सीखा। इसके बाद नवीन ने एक एकड़ में करीब 20 हजार पौधे लगाए। इसमें 3 लाख रुपए की लागत आई। इससे 150 से 160 क्विंटल तक फसल हो जाती है। उनका सालाना खर्च 3 लाख रुपए है। मगर कुछ ही महीने में उनकी आमदनी काफी बढ़ गयी।

कमा रहे 6 लाख रु

कमा रहे 6 लाख रु

3 लाख रुपए लगा कर उन्होंने जो स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू की उससे अब वे 6 लाख से ज्यादा कमाते हैं। उनके पास अन्य फसले भी हैं। इससे उनकी आमदमी अलग है। गेंदे के पौधों से वे 50 हजार रुपए कमा रहे हैं। गेंदे की फसल का समय जाने के बाद वे खरबूजे उगाते हैं। इस पर एक और फायदा मिल रहा है। वो ये कि सरकार की तरफ से स्ट्रॉबेरी की खेती पर 40% की मदद दी जा रही है।

स्ट्रॉबेरी की खेती से जुड़ी जरूरी बातें

स्ट्रॉबेरी की खेती से जुड़ी जरूरी बातें

यदि आप स्ट्रॉबेरी की खेती करना चाहते हैं तो ध्यान रहे कि आपको बलुई और दोमट मिट्टी में खेती करनी होगी, क्योंकि यह इसके लिए सबसे अच्छा होती है। दूसरी बात है कि आपको तापमान का ध्यान रखना है, जो कि 20 से 30 डिग्री सेल्सियस तक होना सबसे अच्छा है। वैसे आप स्ट्रॉबेरी की खेती पॉली हाउस या फिर खुले स्थान दोनों जगह कर सकते हैं। स्ट्रॉबेरी एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन बी वन टू विटामिन सी प्रोटीन से लैस होती है।

English summary

Was in Dubai started his business after returning to India on the manager earning millions

But he left him and came to Sitapur and started cultivating strawberries. They are cultivating this fruit with modern technology.
Story first published: Tuesday, September 27, 2022, 17:20 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X