For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

MSME को आसानी से लोन दिलाने के लिए SBI और HUL ने मिलाया हाथ

|

नयी दिल्ली। एमएसएमई (माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज) को लोन देने के लिए देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने कई कदम उठाए हैं। यहां तक कि सरकार की इमरजेंसी क्रेडिट स्कीम के तहत एमएसएमई को लोन देने के मामले में भी एसबीआई ही सबसे आगे है। अब एसबीआई ने एमएसएमई फर्म्स को आसानी से लोन दिलाने के लिए एक और कदम उठाया है। बैंक ने एफएमसीजी की दिग्गज कंपनी एचयूएल (हिंदुस्तान यूनिलीवर) के साथ हाथ मिलाया है। इस पार्टनरशिप के जरिए छोटे रिटेल विक्रेताओं को आसानी से लोन दिलाया जाएगा। छोटे कारोबारियों को आसानी से क्रेडिट तक एक्सेस हासिल करने में मदद की जाएगी। एसबीआई और एचयूएल मिल कर नई दुनिया में बचे रहने के लिए छोटे कारोबारियों को डिजिटल होने में मदद करेंगे।

एचयूएल की ऐप से मिलेगा फायदा
 

एचयूएल की ऐप से मिलेगा फायदा

पार्टनरशिप के तहत एचयूएल के वे रिटेलर, जो कंपनी की शिखर ऐप का इस्तेमाल करते हैं, वितरकों को भुगतान करने के लिए क्रेडिट सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। उन्हें ये फायदा पहुंचाने के लिए ऐप का एसबीआई योनो ऐप के साथ इंटीग्रेशन किया गया है। एचयूएल के चैयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर संजीव मेहता के अनुसार भारत में 1 करोड़ के करीब रिटेलर हैं। मगर असंठित क्षेत्र में काम करने के कारण उन्हें लोन हासिल करने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। साथ ही वे डिजिटल प्रौद्योगिकी को अपनाने के लिए भी अनिच्छुक रहे हैं।

दूर होगी क्रेडिट की समस्या

दूर होगी क्रेडिट की समस्या

मेहता के मुताबिक एसबीआई के साथ पार्टनरशिप के जरिए देश में खुदरा विक्रेताओं और छोटे दुकानदारों के सामने आने वाली बहुत सी दिक्कतों को हल करने का प्रयास किया जाएगा। एसबीआई खुदरा विक्रेताओं को बिना रुकावट और आसान तरीके क्रेडिट मुहैया करने पर राजी हो गया है। इसमें किसी कागजी कार्रवाई की जरूरत नहीं होगी। इससे रिटेलरों को बहुत जल्दी और बहुत आसान तरीके से क्रेडिट हासिल होगा। उनका मानना है कि यह एक जबरदस्त गेमचेंजर वाला कदम साबित होने जा रहा है।

क्या है एचयूएल की शिखर ऐप
 

क्या है एचयूएल की शिखर ऐप

एचयूएल का शिखर ऐप खुदरा विक्रेताओं को बिना सेल्समैन के स्टोर पर जाए भी ऑर्डर देने की सुविधा देता है। कोरोना संकट में ये ऐप देश भर में लाखों खुदरा विक्रेताओं के लिए एक बहुत बड़ा वरदान साबित हुआ है। एचयूएल और एसबीआई की पार्टनरशिप का एक मकसद रिटेलर्स को टेक्नोलॉजी स्वीकार कराना है। इससे वे और भी चीजों के लिए टेक्नोनॉजी का इस्तेमाल आसानी से कर सकेंगे।

MSME : 50 लाख कारोबारियों को 1.86 लाख करोड़ रु का लोन पास, आपके पास भी है मौका

English summary

SBI and HUL join hands to provide easy loan to MSME

HUL's Shikhar app allows retailers to place orders without having to go to the store without salesmen. This app has proved to be a great boon for millions of retailers across the country in the Corona crisis.
Story first published: Monday, October 5, 2020, 15:36 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X