For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Naturals Ice Cream : फल विक्रेता के बेटे का कमाल, कमाई 300 करोड़ रु

|

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर। अब वो दिन नहीं रहे जब आइसक्रीम के फ्लेवर वैनिला, चॉकलेट और बटरस्कॉच के इर्द-गिर्द घूमते थे। आज फलों के फ्लेवर वाली आइसक्रीम का चलन है। आइसक्रीम में अब ताजे और प्राकृतिक फलों का उपयोग किया जाता है। फ्रूट आइसक्रीम के बारे में सोचते ही सबसे पहला नाम लोगों के दिमाग में जो आता है वो होता है 'नेचुरल्स आइसक्रीम' का। असल में कई अन्य फ्रूट आइसक्रीम ब्रांड जो बाद में उभरे, उन्होंने अपने ब्रांड का नाम रखते समय 'नेचुरल' से प्रेरणा ली। नेचुरल्स भारत में सबसे तेजी से उभरते ब्रांडों में से एक है। आज, कंपनी के 135 से अधिक आउटलेट और 300 करोड़ रुपये का कारोबार है।

 

17 वर्षीय ने तैयार किया StartUp, रोज कई टन प्लास्टिक को बनाता है कपड़ा

फल वाले के बेटे ने बनाई कंपनी

फल वाले के बेटे ने बनाई कंपनी

आज नेचुरल्स आइसक्रीम ब्रांड है। मगर क्या आप नेचुरल्स के संस्थापक के बारे में जानते हैं? उनकी सफलता की कहानी ऐसी ही है, जिसे लोगों के सामने पेश किया जाए। एक फल विक्रेता के बेटे रघुनंदन कामत कर्नाटक के एक छोटे से गांव का रहने वाला हैं और उन्होंने सैकड़ों करोड़ रु की कंपनी खड़ी की। कामत एक गरीब परिवार में जन्मे, जहां उनके पिता मुश्किल से अपने सात बच्चों की परवरिश कर पाते थे। कामत के पास अच्छी शिक्षा नहीं थी। यहां तक कि वह 10वीं की बोर्ड परीक्षा में दो बार फेल भी हुए थे।

14 साल की आयु में पहुंचे मुंबई
 

14 साल की आयु में पहुंचे मुंबई

14 साल की उम्र में कामत अपने परिवार के साथ मुंबई पहुंचे। कक्षा 10 से आगे पढ़ने में असमर्थ होने के बाद उन्होंने अपने भाई के साथ दक्षिण भारतीय भोजन बनाने के लिए उसके छोटे से आउटलेट में शामिल होने का फैसला किया। सपनों के शहर में यहीं कामत को फ्रूट आइसक्रीम बनाने का आइडिया आया। उनके भाई ने इस विचार को गंभीरता से नहीं लिया, लेकिन कामत ने हार नहीं मानी।

3 लाख रु से की शुरुआत

3 लाख रु से की शुरुआत

उन्होंने 1984 में अपने भाई से अलग होने का फैसला किया। उन्होंने अपने प्रयासों के लिए मिले 3 लाख रुपये का इस्तेमाल किया और इन्हें पाव भाजी और कामत की आइसक्रीम की रेसिपी बेचने वाली एक छोटी सी दुकान में निवेश कर दिया। धीरे-धीरे उनका धंधा बढ़ने लगा। कामत के पास विज्ञापन पर खर्च करने के लिए पैसे नहीं होने के कारण नेचुरल्स का नाम लोगों के मुंह से फैला।

अमिताभ जैसे सेलेब्रिटीज बने ग्राहक

अमिताभ जैसे सेलेब्रिटीज बने ग्राहक

अमिताभ बच्चन सहित कई हस्तियां उनके स्टोर पर टेस्ट के लिए आने लगीं। डीएनए की एक रिपोर्ट के अनुसार कामत याद करते हैं कि 1986 में एक अहम पल आया था, जब वेस्टइंडीज के महान क्रिकेटर विवियन रिचर्ड्स ने मेजबान के रूप में भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर के साथ एक टीवी शो में चीकू और कस्टर्ड एप्पल के स्वाद वाली आइसक्रीम की प्रशंसा की थी।

दिल्ली-एनसीआर तक फैला बिजनेस

दिल्ली-एनसीआर तक फैला बिजनेस

आज नेचुरल्स का बिजनेस कई शहरों में फैला है। दिल्ली एनसीआर से लेकर मुंबई तक जैसे शहरों में ग्राहकों के लिए नेचुरल्स एक पसंदीदा ब्रांड है। कामत ने मुंबई के जुहू, विले पार्ले में अपना पहला स्टोर खोला था। आज उनके स्टोर महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, गोवा, तेलंगाना, केरल, गुजरात, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पंजाब के भी प्रमुख शहरों में मौजूद हैं।

English summary

Natural Ice Cream Fruit seller son amazing earning Rs 300 crore annually

At the age of 14, Kamat reached Mumbai with his family. Unable to study beyond class 10, he decided to join his brother in his small outlet for cooking South Indian food.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X