For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Business Plan : इस खास पौधे से हो रही लाखों रु की कमाई, आप भी कमाएं

|

नई दिल्ली, जनवरी 18। कुछ खास पौधे ऐसे होते हैं, जिनसे लाखों रु की कमाई की जा सकती है। ऐसे ही एक पौधे से 52 वर्षीय सौमिक दास खूब कमाई करते हैं। उन्हें पहली बार 1990 के दशक की शुरुआत में दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में एक बागवानी उत्सव में बोन्साई पौधों को देखने का मौका मिला। पहली बार जब उन्होंने ये पौधे देखे तो वे उन्हें छुए बिना नहीं रह सके। एक बुजुर्ग माली ने इनकी उच्च कीमत के बारे में बताते हुए उन्हें रोका। वे घर आ गए मगर इन्हीं पौधों के बारे में सोचते रहे कि भला इतने महंगे पौधे कौन घर पर लगाएगा। मगर इसी पौधे ने उनकी कमाई शुरू कराई।

 

Business Plan : खाली पड़ी है छत, तो ऐसे करें कमाई, ये हैं 3 आसान तरीके

अब है खुद का बिजनेस

अब है खुद का बिजनेस

दशकों के विचार के बाद, वैशाली स्थित बारकोड निर्माण फर्म के मालिक अब बोन्साई और पेनजिंग पौधों का एक छोटा बिजनेस चलाते हैं। नोएडा में वे अपनी नर्सरी, ग्रो ग्रीन बोन्साई में एक हजार से अधिक पौधों की देखभाल करते हैं। उन्होंने बोन्साई पौधे इसलिए उगाना शुरू किए क्योंकि वे उनकी तरफ आकर्षित हुए। दास कहते हैं कि यदि आप इनकी उचित देखभाल करते हैं, तो वे 400 साल तक जीवित रह सकते हैं और आने वाली पीढ़ियों तक ट्रांसफर हो सकते हैं।

रूफटॉप गार्डन की देखभाल
 

रूफटॉप गार्डन की देखभाल

दास के अपार्टमेंट की छत के बगीचे में, उनके पास एक समय में 200 पौधे थे। इससे उन्हें भारतीय बोन्साई एसोसिएशन के प्रति अपनी रुचि की वास्तविकता साबित करने में मदद मिली, जिसने उन्हें 2010 में एक सदस्य के रूप में स्वीकार किया। दास के अनुसार वे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और अन्य मेट्रो शहरों में बागवानों के एक नेटवर्क के संपर्क में आ गया था, और उन्होंने देश भर में बागवानी समारोहों में अपने काम का प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।

करीबी लोगों को नहीं आया पसंद

करीबी लोगों को नहीं आया पसंद

दास के दोस्तों और रिश्तेदारों ने कहा कि यह बेकार काम था और उनसे 2018 के अंत में एक बिजनेस शुरू करने को कहा। मगर ग्रो ग्रीन बोन्साई अगले वर्ष तक चलता रहा। मगर कामयाबी के बाद वे अब रसदार फल, कैक्टस और अन्य विदेशी पौधों की खेती और बिक्री भी करते हैं, लेकिन उनके लिए एकमात्र लक्ष्य पौधों के शौकीनों के बीच बोन्साई के बारे में जागरूकता बढ़ाना है।

कितनी है कमाई

कितनी है कमाई

बोन्साई नर्सरी पूरे एनसीआर में घरों तक पहुंचाती है और कॉर्पोरेट कर्मियों को पौधों को अपने प्रियजनों को घर की सजावट के रूप में उपहार में देने के लिए प्रोत्साहित करती है। इसके एक अच्छे गुलदस्ते की कीमत लगभग 1,500 रुपये है। इससे दास सालाना 40 लाख रु तक कमाते हैं।

खूब पहचान बन गयी है

खूब पहचान बन गयी है

दास भारत के बागवानी समुदाय में काफी जाने जाते है, और वह दक्षिण एशिया बोनसाई संघ के लिए एक राजदूत के रूप में भी काम करते हैं। हालांकि, उनका दावा है कि यह उनकी सेल्फ लर्न्ड विशेषज्ञता थी जिसने उन्हें अपने बिजनेस का रास्ता शुरू करने की सुविधा मिली। दास के अनुसार, ग्रो ग्रीन बोन्साई अन्य समान नर्सरी से अलग है, क्योंकि इसका ध्यान पेनजिंग आर्किटेक्चर पर है। ग्रो ग्रीन बोन्साई फार्म, जो नोएडा एक्सप्रेसवे के साथ 4,000 वर्ग गज में फैला हुआ है, हरियाली की एक खुशबू फैला रही है।

English summary

Business Plan Earning lakhs of rupees from this special plant you also earn

Das's friends and relatives said it was useless work and asked him to start a business by the end of 2018. But Grow Green Bonsai continued till the next year.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X