For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

बैंक खाते से गायब हुआ पैसा तो 10 दिन में मिलेगा वापस, पर करना होगा ये काम

|

नयी दिल्ली। पहले की तुलना में डिजिटल लेन-देन कई गुना बढ़ गयी है। मगर डिजिटल लेन-देन बढ़ने के साथ-साथ फ्रॉड भी बढ़े हैं। आये दिन बैंक और आरबीआई लोगों को इस मामले में सतर्क करते रहते हैं। फिर भी जालसाज नये-नये तरीकों से लोगों को चुना लगाने में कामयाब रहते हैं। सवाल यह है कि यदि आपके बैंक खाते से धोडखाधड़ी के जरिए पैसा निकाल लिया गया तो क्या आपको वो रकम वापस मिलेगी? इसका जवाब है हां। आपको अपना पैसा वापस मिल सकता है। मगर इसके लिए आपको आरबीआई के बताए हुए निर्देशों का पालन करना होगा।

 

कैसे बचें नुकसान से

कैसे बचें नुकसान से

आरबीआई के अनुसार बैंक खाते से गायब होने वाले पैसे को वापस प्राप्त किया जा सकता है। यदि किसी धोखाधड़ी के मामले में आपके बैंक खाते से पैसा उड़ा तो आपको लौटाया जा सकता है। मगर इसके लिए सावधानी बरतें और किसी भी गड़बड़ी वाली लेन-देन का पता चलते ही इसकी जानकारी बैंक को दें। अगर आपने ऐसा किया तो आपको पूरा पैसा भी वापस मिल सकता है।

मिल सकता है पूरा पैसा

मिल सकता है पूरा पैसा

यदि आपके साथ इलेक्ट्रॉनिक लेन-देन के जरिए धोखाधड़ी की गयी तो आपको पूरा पैसा वापस मिल सकता है। या कम से कम होने वाले नुकसान की कुछ भरपाई हो सकती है। कुल मिला कर आप काफी हद तक नुकसान से बच सकते हैं। करना आपको यह है कि तुरंत बैंक को सूचना दें। इसके लिए बैंक के कस्टमर केयर पर शिकायत दर्ज कराएं।

बैंक लेते हैं इंश्योरेंस
 

बैंक लेते हैं इंश्योरेंस

आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि भला आपको पैसा बैंक क्यों लौटाएगा? तो बता दें कि बैंक ऐसे मामलों के लिए इंश्योरेंस कंपनियों से पॉलिसी लेते हैं। किसी भी बैंक ग्राहक के साथ होने वाली अप्रिय घटना के मामले में ग्राहक बैंक को और बैंक बीमा कंपनी को सूचित करता है, जिससे नुकसान की काफी हद तक भरपाई हो सकती है। पैसा वापस मिलने की लिमिट 100 फीसदी तक है।

कितने दिन का होता है मौका

कितने दिन का होता है मौका

यदि कोई बैंक ग्राहक फ्रॉड का शिकार हो जाए तो जरूरी है कि 3 दिन के अंदर मामले की शिकायत बैंक को कर दी जाए। इससे आप नुकसान से बच जाएंगे। अगर आपने फ्रॉड की जानकारी समय रहते तो बैंक को दी तो आपको 10 दिन के अंदर पैसा वापस मिल सकता है। आरबीआई के अनुसार अगर धोखाधड़ी की जानकारी 4 से 7 दिन बाद की गयी तो ग्राहक को 25,000 रुपये तक का नुकसान हो सकता है। इसलिए फ्रॉड की शिकायत तुरंत करें।

खुद भी कराएं इंश्योरेंस

खुद भी कराएं इंश्योरेंस

अगर कोई चाहे तो साइबर फ्रॉड से बचाव के लिए खुद भी इंश्योरेंस भी करा सकता है। एचडीएफसी एर्गो और बजाज एलियांज सहित कई बीमा कंपनियां ऐसी इंश्योरेंस पॉलिसी देती हैं। बीमा पॉलिसी के होने से यदि आपको खाते में गड़बड़ी हुई तो आपको सारा पैसा वापस मिलेगा। फ्रॉड से बचने का सबसे अच्छा तरीका है कि बैंकों और आरबीआई के निर्देशों और चेतावनी पर अमल करें। कभी भी अपनी निजी जानकारी किसी को न दें। बैंक और आरबीआई इस तरह की सूचना अक्सर एसएमएस या मेल पर देते रहते हैं।

1 अप्रैल से बैंकों के Auto Debit और ECS Payment में आएगी दिक्कत, जानिए पूरा मामला

English summary

Money gone from bank account dont worry you can get back in 10 days but will have to do this

In case of fraud, money can be returned to you from your bank account. But take care for this and inform the bank of any disturbing transaction as soon as it is detected.
Story first published: Wednesday, March 31, 2021, 15:00 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X