For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Post Office : जानें बैंक FD से ज्यादा ब्याज देने वाली स्कीमें

|

नई दिल्ली। बैंकों ने अपनी एफडी की ब्याज दरों को काफी तेजी से कम किया है। वहीं दूसरी तरफ पोस्ट की जमा योजनाओं की ब्याज दरें भी कम की गई हैं। लेकिन अभी भी पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाओं में बैंक एफडी से काफी ज्यादा ब्याज मिल रहा है। जहां बैंक की एफडी का ब्याज 6 फीसदी से कम हो गया है, वहीं पोस्ट कई योजनाओं की ब्याज दरें अभी भी 7 फीसदी बनी हुई हैं। ऐसे में अच्छा मौका है कि लोग पोस्ट ऑफिस की जमा योजनाओं के ज्यादा ब्याज का फायदा तुरंत उठाएं। पोस्ट ऑफिस अपनी ब्याज दरों की हर तीन माह पर समीक्षा करता है। इसी समक्षा के तहत पोस्ट ऑफिस ने अपनी ब्याज दरों को 1 अप्रैल 2020 के बाद घटाया है। पोस्ट आफिस की कई योजनाओं पर यह ब्याज दरें 1.4 फीसदी तक कम हो गई हैं। लेकिन यह अभी भी बैंकों की एफडी से ज्यादा हैं। लेकिन पोस्ट ऑफिस की ब्याज दरों की समीक्षा अब 1 जुलाई 2020 को होगी। अगर इस बार भी ब्याज दर घटी तो यह बैंक एफडी के नीचे भी जा सकती है। ऐसे में अच्छा होगा कि लोग जल्द से जल्द अभी मिल रहे ब्याज का फायदा उठा लें।
आइये जानते हैं पोस्ट ऑफिस जमा योजनाओं की ब्याज दरें और उनकी खासियतें।

 

5-वर्षीय डाकघर आवर्ती जमा खाता (आरडी)
 

5-वर्षीय डाकघर आवर्ती जमा खाता (आरडी)

ब्याज दर : 1 अप्रैल 2020 से इस खाते पर 5.8 फीसदी वार्षिक ब्याज दिया जा रहा है। इस ब्याज की गणना त्रैमासिक चक्रवृद्धि आधार पर की जाती है।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम : प्रति माह न्यूनतम 100 रुपये या 10 रुपये के गुणकों में कोई भी धनराशि। हालांकि अधिकतम धनराशि की कोई सीमा नहीं है। ​

5-वर्षीय डाकघर आवर्ती जमा खाता (आरडी) के नियम और खूबियां

खाता नकद या चेक के माध्यम से खोला जा सकता है। चेक के मामले में चेक की प्रस्तुति की तारीख ही जमा की तारीख मानी जाएगी​।

नामांकन की सुविधा खोलने के समय और खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है।

खाता एक पोस्ट ऑफिस से दूसरे में स्थानांतरित किया जा सकता है।

किसी भी डाकघर में अनगिनत खाते खोले जा सकते हैं।

किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है।

संयुक्त खाता दो वयस्कों के नाम से खोला जा सकता है।​

यदि खाता कैलेंडर माह के 15वें दिन तक खोला जाता है, तो आगामी जमा अगले महीने के 15वें दिन तक किए जा सकते हैं। यदि 16वें दिन और कैलेंडर माह के अंतिम कार्य दिवस के बीच खाता खोला जाता है, तो अगले महीने के अंतिम कार्य दिवस तक पैसा जमा किए जा सकते हैं।​

यदि किसी आरडी खाते में कोई मासिक डिफॉल्ट धनराशि है, तो जमाकर्ता को पहले डिफॉल्ट शुल्क के साथ मासिक जमा का भुगतान करना होगा और फिर वर्तमान माह के जमा का भुगतान करना होगा। यह सीबीएस और गैर-सीबीएस डाकघर दोनों के लिए लागू होगा।

कम से कम 6 किश्तों की अग्रिम जमा पर छूट उपलब्‍ध है। ​

एकल खाता संयुक्त खाते में और संयुक्त खाता एकल खाते में परिवर्तित किया जा सकता है।​

बालिग होने के बाद नाबालिग व्‍यक्ति को अपने नाम पर खाते के स्थानांतरण के लिए आवेदन करना पड़ेगा​।

एक वर्ष के बाद शेष धनराशि के 50 फीसदी तक की एक निकासी की अनुमति है। खाता चलने के दौरान किसी भी समय निर्धारित दर पर ब्याज के साथ यह राशि एकमुश्त चुकाई जा सकती है। ​

आरडी खातों में चेक से जमा किए गए मामले में, सरकारी खातों में चेक के क्रेडिट की तारीख, जमा की तारीख मानी जाएगी।

डाकघर सावधि जमा खाता (टी डी)

डाकघर सावधि जमा खाता (टी डी)

टीडी खाते पर ब्याज दर : यह ब्याज दरें 1 अप्रैल 2020 से लागू हैं, जो निम्न प्रकार से हैं। यहां पर ध्यान रखना चाहिए कि ब्याज दर की गणना त्रैमासिक आधार पर की जाती है।

-1 साल के लिए 5.5 फीसदी

-2 साल के लिए 5.5 फीसदी

-3 साल के लिए 5.5 फीसदी

-5 साल के लिए 6.7 फीसदी

कितने रुपये से खुल सकता है खाता : ​खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि 1000 रुपये है, ओर अधिकतम कितनी भी राशि जमा की जा सकती है। लेकिन यह धनराशि 100 रुपये के गुणांक में हो।

टैक्स छूट सहित मुख्य विशेषताएँ :

खाता व्यक्तिगत रूप से खोला जा सकता है। ​

खाता नकद/चेक द्वारा खोला जा सकता है और चेक के मामले में सरकारी खाता में जमा की तारीख ही खाता के खुलने की तारीख मानी जाएगी।

नामांकन सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है। यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।

यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।​​​

किसी भी डाकघर में अनगिनत खाते खोले जा सकते हैं।​​

किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है और १० साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल भी सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं।​​

संयुक्त खाता दो वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है।​​

एकल खाता संयुक्त खाते में और संयुक्त खाता एकल खाते में परिवर्तित किया जा सकता है​।​​

बालिग होने के बाद नाबालिग व्‍यक्ति को अपने नाम पर खाते के स्थानांतरण के लिए आवेदन करना पड़ेगा​।​​

सीबीएस डाकघरों में, जब कोई टीडी खाता परिपक्व हो जाता है, तो वही टीडी खाता स्‍वत: उस अवधि के लिए नवीनीकृत कर दिया जाएगा जिसके लिए वह खाता आरंभ में खोला गया था। उदाहरण के लिए द्विवार्षिक टीडी खाता 2 वर्ष के लिए स्‍वत: नवीनीकृत किया जाएगा। परिपक्वता के दिन लागू ब्याज दर ही लागू की जाएगी।

5 साल से कम अवधि के निवेश के लिए टीडी आयकर अधिनियम, 1969 की धारा 80 सी के तहत लाभ लिया जा सकता है।

डाकघर मासिक आय योजना खाता (एमआईएस)

डाकघर मासिक आय योजना खाता (एमआईएस)

देय ब्याज दर : 1 अप्रैल 2020 से एमआईएस पर 6​.6 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि : यह एमआईएस खाता सिंगल नाम से खोल कर इसमें अधिकतम 4.5 लाख रुपये जमा किया जा सकता है। वहीं संयुक्त नाम से खाता खोलकर इसमें 9 लाख रुपये जमा किया जा सकता है। इस खाते को न्यूनतम 1000 रुपये और इसके गुणांक में पैसे जमा करके खोला जा सकता है।

टैक्स छूट सहित अन्य विशेषताएं :

एमआईएस खाता व्यक्तिगत रूप से खोला जा सकता है।

एमआईएस खाता नकद/चेक द्वारा खोला जा सकता है और चेक के मामले में सरकारी खाता में जमा की तारीख ही खाता के खुलने की तारीख मानी जाएगी। ​

नामांकन की सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है​।

यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।​

सभी खातों की शेष धनराशि जोड़कर अधिकतम निवेश सीमा के अधीन किसी भी डाकघर में अनगिनत खाते खोले जा सकते हैं।​

किसी नाबालिग व्‍यक्ति के नाम से भी खाता खोला जा सकता है और 10 साल और उससे अधिक आयु के नाबालिग व्‍यक्ति खाता खोल भी सकते हैं और संचालित भी कर सकते हैं।​

संयुक्त खाता दो या तीन वयस्कों द्वारा खोला जा सकता है​।

प्रत्येक संयुक्त खाते में सभी संयुक्त खाताधारकों का बराबर हिस्सा होता है। ​

एकल खाता संयुक्त खाते में और संयुक्त खाता एकल खाते में परिवर्तित किया जा सकता है​।

बालिग होने के बाद नाबालिग व्‍यक्ति को अपने नाम पर खाते के स्थानांतरण के लिए आवेदन करना पड़ेगा​।

एमआईएस खाते की परिपक्वता अवधि 5 वर्ष है।​

पीडीसी या ईसीएस के माध्यम से, उसी डाकघर के खाते में ऑटो क्रेडिट के माध्यम से ब्याज की निकासी की जा सकती है। सीबीएस डाकघरों के एमआईएस खातों के मामले में, मासिक ब्याज किसी भी सीबीएस डाकघर के बचत खाते में जमा किया जा सकता है। ​​

एक वर्ष के बाद इसे भुनाया जा सकता है, लेकिन जमा करने के 3 वर्ष से पहले 2 फीसदी राशि काटी जाएगी और जमा करने के 3 वर्ष के बाद 1 फीसदी काटी जाएगी।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (एससीएसए​​स)​

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (एससीएसए​​स)​

देय ब्याज दर : वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (एससीएसए​​स)​ स्कीम में 1 अप्रैल 2020 से 7.4 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। यह ब्याज पहली बार में 31 मार्च/ 30 सितंबर/ 31 दिसंबर को जमा करने की तारीख से देय और उसके बाद, 31 मार्च, 30 जून, 30 सितंबर और 31 दिसंबर को ब्याज देय होगा।​

खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि : इस खाते को 1000 रुपये के न्यूनतम धनराशि से खोला जा सकता है। इसके बाद इसमें 1000 के गुणांक में ही पैसा जमा किया जा सकता है। लेकिन इस खाते में अधिकतम 15 लाख रुपये ही जमा किया जा सकता है।

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (एससीएसए​​स)​ की खूबियां :

60 वर्ष या उससे अधिक उम्र के व्यक्ति खाता खोल सकते हैं।

55 साल या उससे अधिक उम्र के, लेकिन 60 वर्ष से कम उम्र के व्यक्ति जो वरिष्ठता अथवा वीआरएस के तहत सेवानिवृत्त हो चुके हैं, वे इस शर्त के अधीन खाता खोल सकते हैं कि खाता सेवानिवृत्ति लाभ प्राप्त होने के 1 महीने के भीतर खोला गया हो और यह धनराशि सेवानिवृत्ति लाभ की राशि से अधिक नहीं होनी चाहिए।​

परिपक्वता अवधि 5 वर्ष है ।

एक जमाकर्ता व्यक्तिगत या संयुक्त रूप से पति / पत्नी के साथ एक से अधिक खाते संचालित कर सकता है।​

1 लाख रुपये से कम धनराशि के लिए खाता नकद द्वारा खोला जा सकता है और 1 लाख रुपये और उससे अधिक के लिए केवल चेक द्वारा खोला जा सकता है।​

चेक के मामले में, सरकारी खाते में चेक की प्राप्ति की तारीख ही खाता खोलने की तारीख होगी। ​

नामांकन की सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है​।

यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।​

सभी खातों की शेष धनराशि जोड़कर अधिकतम निवेश सीमा के अधीन किसी भी डाकघर में अनगिनत खाते खोले जा सकते हैं।​

संयुक्त खाता केवल पति/पत्नी के साथ खोला जा सकता है और संयुक्त खाते में पहला जमाकर्ता निवेशक होगा।​

पीडीसी या मनी ऑर्डर के माध्यम से, उसी डाकघर के बचत खाते में ऑटो क्रेडिट के माध्यम से ब्याज लिया जा सकता है।​

​एससीएसएस खातों के मामले में, त्रैमासिक ब्याज अप्रैल, जुलाई, अक्टूबर और जनवरी के प्रथम कार्य दिवस पर देय होगा। यह सभी सीबीएस डाकघरों पर लागू होगा।

सीबीएस डाकघरों के एससीएसएस खातों का त्रैमासिक ब्याज किसी भी अन्य सीबीएस डाकघर के किसी भी बचत खाते में जमा किया जा सकता है।

1 वर्ष के बाद कुल जमा धनराशि की 1​.5 फीसदी की कटौती और 2 वर्ष के उपरांत कुल जमा धनराशि की 1 फीसदी की कटौती के बाद ही खाता को समयपूर्व बंद करने की अनुमति होगी।​

यह खाता, परिपक्व होने के बाद, 1 वर्ष के भीतर निर्धारित प्रारूप में आवेदन देकर, अगले 3 वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है। ऐसे मामलों में, विस्तार अवधि के 1 वर्ष की समाप्ति के बाद यह खाता कभी भी, किसी भी कटौती के बिना बंद किया जा सकता है।

यदि ब्याज की धनराशि 10,000 रुपये वार्षिक से अधिक है, तो टीडीएस की कटौती ब्याज के स्रोत से की जाती है।

15 वर्षीय सार्वजनिक भविष्य निधि खाता (पीपीएफ)

15 वर्षीय सार्वजनिक भविष्य निधि खाता (पीपीएफ)

​देय ब्याज दर : 1 अप्रैल 2020 से पीपीएफ पर 7.1 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। इस ब्याज की गणना वार्षिक चक्रवद्धि आधार पर की जाती है।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि : पीपीएफ खाते को न्यूनतम 500 रुपये से खोला जा सकता है। इस खाते को चलाने के लिए हर साल इसमें 500 रुपये जमा करना जरूरी है। लेकिन इस खाते में एक साल में 1.5 लाख रुपये से ज्यादा जमा नहींं किया जा सकता है। यह पैसा साल में एक बार में या अधिकतम 12 बार में जमा किया जा सकता है।

पीपीएफ खाते की खास बातें :

कोई व्यक्ति 500 रुपये के साथ पीपीएफ खाता खोल सकता है, लेकिन उसे एक वित्तीय वर्ष में न्यूनतम 500 रुपए एवं अधिकतम 1,50,000 रुपये जमा करना होगा।

संयुक्त खाता नहीं खोला जा सकता है।​

खाता नकद / चेक द्वारा खोला जा सकता है और चेक के मामले में चेक की प्रस्तुति की तारीख ही जमा की तारीख मानी जाएगी​।

नामांकन सुविधा खाता खोलने के समय तथा खाता खोलने के बाद भी उपलब्ध है। यह खाता एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।​

ग्राहक किसी नाबालिग के नाम पर एक अन्‍य खाता खोल सकता है, लेकिन सभी खातों की शेष धनराशि को जोड़कर यह निवेश अधिकतम सीमा के अधीन होगा।​

परिपक्वता अवधि 15 वर्ष है, लेकिन इसे परिपक्वता के 1 वर्ष के भीतर अगले 5 वर्षों और उससे अधिक अवधि के लिए बढ़ाया जा सकता है।​

परिपक्वता मूल्य विस्तार के बिना और अधिक जमा के बिना भी बनाए रखा जा सकता है।​

15 वर्ष से पहले, खाते को समयपूर्व बंद करने की अनुमति नहीं है।​

आईटी अधिनियम की धारा 80 सी के तहत जमा धनराशि आय से कटौती के लिए अर्ह होगी।​

ब्याज पूरी तरह टैक्स है।​

खाता खुलने के वर्ष से 7 वें वित्तीय वर्ष से प्रत्येक वर्ष निकासी की अनुमति है।​

तीसरे वित्तीय वर्ष से ऋण की सुविधा उपलब्ध है।​

अदालत के निर्णायक आदेश के तहत पीपीएफ खाता जब्त नहीं किया जा सकताा है।

दो या उससे अधिक लोगों द्वारा संचालित पीपीएफ खाता डाकघर में खोला जा सकता है।​​

राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (एनएससी)

राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र (एनएससी)

देय ब्याज दर : एनएससी पर 1 अप्रैल 2020 से 6.8 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। इस ब्याज की गणना वार्षिक चक्रवृद्धि आधार पर होती है। अगर इस स्कीम में आज कोई 1000 रुपये का निवेश करता है तो उसे 5 साल बाद 1389.49 रुपये मिलेंगे।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि : एनएससी खरीदने के लिए न्यूनतम 1000 रुपये जमा करना होगा और उसके बाद 100 रुपये के गुणकों में कितना भी निवेश किया जा सकता है।

टैक्स-छूट सहित मुख्य विशेषताएँ​​ :

किसी वयस्क द्वारा स्‍वयं के लिए या किसी नाबालिग की ओर से या नाबालिग द्वारा एक एकल धारक प्रकार का प्रमाण पत्र खरीदा जा सकता है।

जमा धनराशि, आईटी अधिनियम की धारा 80 सी के तहत कर छूट के लिए अर्ह होगी।

अर्जित ब्याज वार्षिक होगा, लेकिन आईटी अधिनियम की धारा 80 सी के तहत पुनर्निवेश योग्‍य माना जाएगा।​

एनएससी VIII के मामले में, एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को प्रमाणपत्रों का हस्तांतरण जारी करने की तारीख से परिपक्वता की तारीख तक केवल एक बार ही किया जा सकता है।

किसान विकास पत्र (केवीपी)

किसान विकास पत्र (केवीपी)

देय ब्याज दर : केवीपी पर 1 अप्रैल 2020 से 6.9 फीसदी ब्याज दिया जा रहा है। ब्याज की गणना वार्षिक चक्रवृद्धि आधार पर की जाती है। इस ब्याज दर अगर पैसा जमा किया जाए तो यह ​124 महीने (10 साल और 4​​​ महीना) में दोगुना हो जाता है।

खाता खोलने के लिए न्यूनतम धनराशि : केवीपी को न्यूनतम 1000 रुपये जमा करके लिया जा सकता है। अगर ज्यादा निवेश करना है तो इसके बाद 100 रुपये के गुणांक में निवेश किया जा सकता है। यहां पर अधिकतम निवेश की सीमा नहीं है।

केवीपी की ​मुख्य विशेषताएं

किसी वयस्क द्वारा स्‍वयं के लिए या किसी नाबालिग की ओर से या दो वयस्कों द्वारा यह प्रमाणपत्र खरीदा जा सकता है।

केवीपी किसी भी विभागीय डाकघर से खरीदा जा सकता है।

नामांकन की सुविधा उपलब्ध है।​

प्रमाणपत्र को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति को तथा एक डाकघर से दूसरे डाकघर में स्थानांतरित किया जा सकता है।

जारी होने की तारीख से ढ़ाई वर्ष बाद प्रमाणपत्र भुनाया जा सकता है।

5000 रुपये देकर मिल रही Post Office की फ्रेंचाइजी, होती है खूब कमाई

English summary

Know post office deposit schemes that give more interest than bank FD

Interest rates have changed for post office deposit schemes from 1 April 2020. Know the latest interest rates.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X