For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

ये हैं दुनिया के सबसे अधिक वैल्यू वाले 10 ब्रांड्स, जानिए भारतीय कंपनी का कमाल

|

नई दिल्ली, जनवरी 27। इंफॉर्मेशन और टेक्नोलॉजी की दिग्गज कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) विश्व स्तर पर आईटी सेवा कंपनी में दूसरी सबसे अधिक वैल्यू वाली ब्रांड बन गई है। इसका खुलासा ब्रांड फाइनेंस की 2022 रैंकिंग रिपोर्ट में हुआ। ब्रांड फाइनेंस 2022 ग्लोबल 500 आईटी सर्विसेज रैंकिंग रिपोर्ट के अनुसार, टीसीएस ने पिछले 12 महीनों में अपनी ब्रांड वैल्यू 1.844 अरब डॉलर या 12.5 प्रतिशत बढ़ा कर 16.786 अरब डॉलर कर दी है। इसका श्रेय कंपनी के अपने ब्रांड और कर्मचारियों, कस्टमर इक्विटी और मजबूत ग्रोथ को जाता है। मगर रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के टॉप 10 ब्रांड्स में एक भी भारतीय कंपनी नहीं है। इस लिस्ट में अमेरिकी और चीनी कंपनियों का बोलबाला रहा है। आगे जानिए सर्वाधिक वैल्यू वाली टॉप 10 कंपनियों के नाम।

 

Adani Group लाया निवेश का मौका, इस कंपनी का IPO खुला

पहले नंबर पर ऐप्पल

पहले नंबर पर ऐप्पल

लिस्ट में पहले नंबर पर ऐप्पल है। इसकी मार्केट वैल्यू इस समय 355.1 अरब डॉलर है। वहीं दूसरे नंबर पर 350.3 अरब डॉलर की वैल्यू अमेजन और 263.4 अरब डॉलर के साथ गूगल लिस्ट में तीसरे नंबर पर है। ये तीनों ही अमेरिकी कंपनियां हैं। चौथे नंबर पर 184.2 अरब डॉलर के साथ माइक्रोसॉफ्ट और 111.9 अरब डॉलर के साथ वॉलमार्ट पांचवे नंबर पर है। ये दोनों भी अमेरिकी कंपनियां ही हैं।

ये हैं बाकी कंपनियां

ये हैं बाकी कंपनियां

लिस्ट में छठे नंबर पर दक्षिण कोरिया की सैमसंग है। इसकी वैल्यू 107.3 अरब डॉलर है। वहीं सातवें नंबर पर फिर से एक एक और अमेरिकी कंपनी फेसबुक है, जिसकी वैल्यू 101.2 अरब डॉलर है। 10वें नंबर पर भी अमेरिकी कंपनी है। ये है वेरिजॉन, जिसकी वैल्यू 69.6 अरब डॉलर है।

चीन की कंपनियां
 

चीन की कंपनियां

लिस्ट में 8वें और 9वें नबर पर है चीन की कंपनियां हैं। ये हैं आईसीबीसी और हुआवेई। इन कंपनियों की वैल्यू क्रमश: 75.1 अरब डॉलर और 71.2 अरब डॉलर है। यानी लिस्ट में 7 कंपनियां अमेरिका की हैं। जबकि 2 चीन और 1 साउथ कोरिया की है। बता दें कि रिपोर्ट में तकनीकी क्षेत्र एक बार फिर ब्रांड फाइनेंस ग्लोबल 500 रैंकिंग में सबसे मूल्यवान सेक्टर रहा है। टॉप 500 कंपनियों में टेक कंपनियों की कुल ब्रांड वैल्यू 1.3 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर के करीब है।

तीन कंपनियों के पास 50 फीसदी हिस्सा

तीन कंपनियों के पास 50 फीसदी हिस्सा

कुल मिलाकर, 50 तकनीकी ब्रांड रैंकिंग में शामिल हैं। मगर ब्रांड वैल्यू के लिहाज से काफी हद तक तीन बड़ी कंपनियों का दबदबा है। इनमें ऐप्पल, माइक्रोसॉफ्ट और सैमसंग शामिल हैं। टेक सेक्टर की कुल ब्रांड वैल्यू में से 50% से अधिक इन्हीं तीन कंपनियों के पास है।

ये ब्रांड भी हुए शामिल

ये ब्रांड भी हुए शामिल

मीडिया ब्रांड रैंकिंग में टॉप 3 सबसे तेजी से बढ़ते ब्रांडों में से है। इनमें सोशल मीडिया ऐप स्नैपचैट (ब्रांड मूल्य 184% बढ़ कर 6.6 अरब डॉलर) और दक्षिण कोरियाई इंटरनेट ब्रांड काकाओ (ब्रांड मूल्य 161 फीसदी बढ़ कर 4.7 अरब डॉलर) टिकटॉक के पीछे हैं। मीडिया सेक्टर के अन्य प्रमुख ब्रांड्स में डिज़नी (ब्रांड वैल्यू 57 अरब डॉलर ), नेटफ्लिक्स (29.4 अरब डॉलर), यूट्यूब (ब्रांड वैल्यू 23.9 अरब डॉलर) और स्पोटिफाई (ब्रांड वैल्यू 6.3 अरब डॉलर) शामिल हैं। इन सभी की ब्रांड वैल्यू में वृद्धि भी देखी जा रही है। एशिया-प्रशांत क्षेत्र में टाटा समूह दक्षिण एशिया में सबसे मूल्यवान ब्रांड है और 23.9 अरब डॉलर के ब्रांड मूल्य के साथ टॉप 100 में भारत की इकलौती एंट्री है।

English summary

These are the 10 most valuable brands in the world know the wonder of Indian company

South Korea's Samsung is at number six in the list. Its value is $107.3 billion. At the same time, again at number seven is another American company Facebook, which is valued at $ 101.2 billion. The American company is also at number 10.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X