For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

अब Microsoft की Jio Platforms पर नजर, लगा सकती है 2 अरब डॉलर का दांव

|

नयी दिल्ली। फेसबुक जैसी दिग्गज कंपनी सहित कई विदेशी कंपनियों के साथ हजारों करोड़ रु का सौदा करने के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज अपनी टेक्नोलॉजी सब्सिडरी कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए एक और बड़ी डील करने की तैयारी में है। मार्केट कैपिटल के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस, जिसके चेयरमैन एशिया के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी हैं, अब एक और अमेरिकी तकनीकी दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के साथ बातचीत कर रही है। अगर दोनों पक्षों के बीच डील होती है तो दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनी के पास जियो प्लेटफॉर्म्स की हिस्सेदारी आएगी, जो फेसबुक, केकेआर एंड कंपनी, सिल्वर लेक, विस्टा इक्वल पार्टनर्स सहित बड़े वैश्विक निवेशकों से केवल एक महीने में करीब 10 अरब डॉलर का निवेश हासिल कर चुकी है।

 

माइक्रोसॉफ्ट कितना कर सकती है निवेश

माइक्रोसॉफ्ट कितना कर सकती है निवेश

लाइवमिंट की एक रिपोर्ट के अनुसार माइक्रोसॉफ्ट डिजिटल भुगतान सेवाओं के सेक्टर में कई कंपनियों के साथ बातचीत कर रही है, जिनमें रिलायंस भी शामिल है। माइक्रोसॉफ्ट जियो प्लेटफॉर्म्स में 2.5 फीसदी से अधिक हिस्सेदारी खरीदने में दिलचस्पी रखती है। इसके लिए कंपनी 2 अरब डॉलर का निवेश कर सकती है। हालांकि मामले से जुड़े एक अन्य व्यक्ति के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट ने जियो प्लेटफॉर्म्स में हिस्सेदारी खरीद कर रिलायंस के साथ अपनी साझेदारी को मजबूत करने में दिलचस्पी दिखाई है, मगर इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि ये डील अवश्य ही होगी।

जियो के साथ माइक्रोसॉफ्ट की डील
 

जियो के साथ माइक्रोसॉफ्ट की डील

फरवरी में माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यकारी सत्य नडेला ने कहा था कि कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ साझेदारी की है। सौदे के हिस्से के रूप में रिलायंस जियो ने देश भर में डेटा सेंटर स्थापित करने और एंटरप्राइज़ क्लाइंट के लिए Microsoft Azure की क्लाउड सेवाओं का उपयोग करने की योजना बनाई है। कई विदेशी निवेशक जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश के लिए रुचि रखते हैं, क्योंकि वे भारत के तेजी से बढ़ते डिजिटल बाजार ले लाभ उठाना चाहते हैं। जियो प्लेटफॉर्म्स रिलायंस की सभी डिजिटल और टेलिकॉम सर्विस को जोड़ती है, जिसमें जियो डिजिटल सेवाएं (मोबाइल, ब्रॉडबैंड), ऐप्स, तकनीकी क्षमताएं (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंसी, बिग डेटा, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स आदि) शामिल हैं।

रिलायंस के जियो के लिए किए गए सौदे

रिलायंस के जियो के लिए किए गए सौदे

जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश करने वाली सबसे नई कंपनी केकेआर है, जिसकी घोषणा 22 मई को की गई थी। इसने जियो प्लेटफॉर्म्स में 2.32% हिस्सेदारी के लिए 11,367 करोड़ रु का सौदा किया। ये केकेआर का एशिया में अब तक का सबसे बड़ा निवेश होगा। फेसबुक ने अप्रैल की घई घोषणा में कहा था है कि वे जियो में 9.99% हिस्सेदारी के लिए 5.7 बिलियन डॉलर का निवेश करेगी। इसके बाद रिलायंस ने जियो प्लेटफॉर्म्स के लिए सिल्वर लेक से 750 मिलियन डॉलर और विस्टा इक्विटी पार्टनर्स से 1.5 अरब डॉलर का निवेश हासिल किया। 17 मई को जियो प्लेटफॉर्म्स ने कहा कि यह जनरल अटलांटिक से 87 करोड़ डॉलर जुटा रही है।

Reliance की नई चाल, Jio Platforms के अमेरिका में लिस्टिंग की तैयारी

English summary

Now Microsoft wants to invest in Jio Platforms may bet 2 billion dollar

After making deals worth thousands of crores with several foreign companies including a giant like Facebook, Reliance Industries is set to make another big deal for its technology subsidiary Jio Platforms.
Story first published: Thursday, May 28, 2020, 16:46 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X