For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

अगर Smartphone होता है गर्म तो फटाफट करें ये उपाय, वरना होगा बड़ा नुकसान

|

नयी दिल्ली। पहले मोबाइल सिर्फ फोन या मैसेज करने के लिए इस्तेमाल होते थे। मगर समय के साथ टेक्नोलॉजी ने फोन को स्मार्टफोन बना दिया और दुनिया भर की सुविधाएं और मनोरंजन के सामान लोगों के हाथों में पहुंचा दिए। टीवी, इंटरनेट, फिल्म, सीरियल और लाइव मैच जैसी चीजें अब लोग स्मार्टफोन पर ही देख लेते हैं। मगर स्मार्टफोन के इस्तेमाल के साथ एक खतरा भी आया है और वो है मोबाइल ब्लास्ट का। आपने अकसर मोबाइल ब्लास्ट की खबरें सुनी होंगी। इसके पीछे एक सबसे बड़ा कारण बताया जाता है मोबाइल गर्म होना। अगर आपका स्मार्टफोन भी बहुत जल्दी गर्म होता है तो इसे बिल्कुल भी नजरअंदाज करने की गलती न करें। बल्कि कुछ चीजों पर ध्यान दें और कुछ खास उपाय करें। यहां हम आपको ऐसे उपाय बताएंगे जिन पर ध्यान देकर आप किसी बड़े नुकसान से बच सकते हैं।

जरूरत के मुताबिक करें इंटरनेट का इस्तेमाल
 

जरूरत के मुताबिक करें इंटरनेट का इस्तेमाल

डेटा सस्ता होने से इंटरनेट का बेवजह इस्तेमाल भी बढ़ा है। जबकि इंटरनेट का हमेशा ऑन रहना एक बड़ी वजह है मोबाइल के गर्म होने की। अब स्थिति ये है कि लोगों को कोई काम न भी हो तब भी बेवजह घंटों स्मार्टफोन में इंटरनेट पर लगे रहते हैं। इसी से मोबाइल गर्म होने लगता है। जानकार बताते हैं कि इंटरनेट की स्पीड कम-ज्यादा होने पर भी मोबाइल गर्म होने लगता है। इसलिए जब जरूरत हो तभी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करें और हमेशा इंटरनेट चालू न रखें।

कम रखें स्मार्टफोन की ब्राइटनेस

कम रखें स्मार्टफोन की ब्राइटनेस

स्मार्टफोन की डिस्प्ले की ब्राइटनेस हमेशा फुल रखने से भी फोन गर्म होता है। दरअसल ब्राइटनेस फुल रहने से डिस्प्ले गर्म होती है और इसके नतीजे में मोबाइल का प्रोसेसर गर्म होने लगता है। प्रोसेसर से पूरा का पूरा मोबाइल ही गर्म होने लगता है और आपकी बैटरी भी जल्दी खत्म होती है। जल्दी बैटरी खत्म होने को भी फोन गर्म होने की एक मुख्य वजह बताया जाता है। इसलिए अपने फोन की ब्राइटनेस जरूरत के मुताबिक सामान्य रखें। वैसे भी ज्यादा ब्राइटनंस आंखों के लिए नुकसान होती है।

बैकग्राउंड में चलने वाले ऐप्स
 

बैकग्राउंड में चलने वाले ऐप्स

शायद आपने भी अपने फोन में ऐसे ऐप रखें होंगे जिन्हें इस्तेमाल महीनों में एकाध बार ही होता है। मगर ध्यान रखिए ये ऐप फोन चालू रहने पर अपना स्पेस लेती हैं। यानी किसी न किसी तरह एक्टिव रहती हैं और आपकी फोन की चार्जिंग इस पर खर्च होती है। दूसरे आप बहुत सारे ऐप खोल तो लेते होंगे मगर उन्हें बंद नहीं करते होंगे। इससे भी आपके फोन, बैटरी और चार्जिंग पर असर पड़ता है और नतीजे में प्रोसेसर और फिर पूरा मोबाइल गर्म होता है। इसलिए फोन का इस्तेमाल न होने पर बैकग्राउंड ऐप्स बंद कर दें। साथ ही फालतू ऐप को मोबाइल से अनइंस्टॉल कर दें।

इन उपायों पर दें ध्यान :

इन उपायों पर दें ध्यान :

- स्मार्टफोन को 80 फीसदी से ज्यादा चार्ज न करें, ज्यादा चार्ज होने पर फोन ओवरहीट कर सकता है

- ओवर हीटिंग से बचने के लिए 80 फीसदी तक ही चार्जिंग रखें करें

- रात में फोन चार्ज पर लगा कर कभी न सोयें

- पूरी रात चार्ज होने पर बैटरी पर असर पड़ता है, जिससे मोबाइल के ब्लास्ट की संभावना बढ़ेगी

- किसी भी तरह का तरल या मॉइस्चर फोन में न जाने दें, क्योंकि इससे शॉर्ट-सर्किट हो सकता है

- फोन को सिर्फ उसी के चार्जर से चार्ज करें

- फोन को चार्जिंग पर लगा कर ऐसे न छोड़ें, बल्कि उसका ध्यान रखें और हीटिंग चेक करते रहें, ज्यादा गर्म लगने पर मोबाइल को फौरन चार्जर से अलग कर दें

इन बातों का भी रखें ध्यान :

इन बातों का भी रखें ध्यान :

- मोबाइल चार्जिंग पर लगाकर कॉल पर बात न करें

- एक्सपर्ट 100 फीसदी मोबाइल चार्ज करने से बचने को कहते हैं

- बैठ कर कॉल पर बात करते समय ईयर फोन इस्तेमाल करें

- सोने से पहले मोबाइल दूर रखें

- सोते समय इंटरनेट डेटा जरूर बंद करें

- गर्मियों में कम से कम मोबाइल का इस्तेमाल करें

- कभी भी मोबाइल गर्म लगे तो तुरंत सब कुछ बंद करके उसे अलग रख दें

iQOO 3 : Lockdown में जबरदस्त डिस्काउंट, 3000 रु सस्ता हुआ शानदार स्मार्टफोन

English summary

If your Smartphone gets hot then do these things or it will be a big loss

Keeping the brightness of the display of the smartphone always full also makes the phone warm. In fact, the display becomes hot due to the brightness being full and as a result, the mobile processor starts heating up.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more