For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

SBI में है सैलेरी अकाउंट, तो एडवांस मिल जाएगा 2 महीनों का वेतन

|

नई दिल्ली, जुलाई 4। कॉर्पोरेट कर्मचारियों के लिए देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के पास कॉर्पोरेट सैलेरी पैकेज (सीएसपी) है। एसबीआई का कॉर्पोरेट सैलेरी अकाउंट कंपनियों, अस्पतालों, होटलों, ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन आदि जैसे संस्थानों के कर्मचारियों को कई तरह के लाभ देता है। कर्मचारियों की ग्रॉस मंथली इनकम (जीएमआई) के आधार पर एसबीआई में 4 तरह के सैलेरी अकाउंट ऑफर किए जाते हैं, जिनमें सिल्वर, गोल्ड, डायमंड और प्लेटिनम। जीएमआई सभी भत्तों सहित कर्मचारी की कुल आय दिखाती है। शुद्ध वेतन या टेक-होम सैलेरी टैक्स और पीएफ कटौती के बाद की मंथली इनकम होती है।

 

Reliance का बड़ा ऐलान : इन कर्मचारियों के नॉमिनी को 5 साल देगी सैलेरी

कितनी इनकम किस कैटेगरी में आएगी

कितनी इनकम किस कैटेगरी में आएगी

- प्लेटिनम : 1,00,000 रुपये से ऊपर

- डायमंड : 50,000 रुपये से 1,00,000 रुपये तक

- गोल्ड : 20,000 रुपये से 50,000 रुपये तक

- सिल्वर : 5,000 रुपये से 20,000 रुपये तक

अलग-अलग कैटेगरी में अलग-अलग फायदे
 

अलग-अलग कैटेगरी में अलग-अलग फायदे

ऊपर बताई गई अकाउंट कैटेगरी के तहत ही कई चीजें तय होती हैं। इनमें डेबिट कार्ड के प्रकार, बीमा कवरेज की मात्रा आदि शामिल हैं। यदि कोई कर्मचारी अकाउंट को अपग्रेड करना चाहता है, तो आपको नयी सैलेरी का प्रमाण दिखा कर ऐसा कर सकते हैं। सैलेरी खाता खुल जाने के बाद कर्मचारी को अकाउंट नंबर दिया जाता है। ब्रांच के हस्तक्षेप के बिना ही कॉर्पोरेट इंटरनेट बैंकिंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करके कंपनी कर्मचारी के खाते में सैलेरी जमा कराती है। कर्मचारी भारत में किसी भी ब्रांच में सैलेरी अकाउंट खोल सकता है, जबकि कंपनी एक ही पॉइंट से एनईएफटी, आरटीजीएस, ईसीएस आदि के माध्यम से पैसा ट्रांसफर कर सकती है।

सैलेरी अकाउंट के फायदे

सैलेरी अकाउंट के फायदे

एसबीआई में सैलेरी अकाउंट होने के कई फायदे हैं। इनमें जीरो बैलेंस खाता सबसे अहम बेनेफिट है। यानी आपको खाते में एक भी रुपया रखने की जरूरत नहीं है। आप किसी भी बैंक के एटीएम से मुफ्त असीमित लेनदेन कर सकते हैं। लॉकर चार्ज पर आपको 25 फीसदी तक छूट मिलेगी। फ्री में ड्राफ्ट और एसएमएस अलर्ट के अलावा आपको मुफ्त ऑनलाइन एनईएफटी/आरटीजीएस की सुविधा मिलेगी। ज्यादा जानकारी के लिए आप (https://sbi.co.in/web/salary-account) पर विजिट कर सकते हैं।

दो महीने की सैलेरी

दो महीने की सैलेरी

किसी को भी कभी भी इमरजेंसी के समय पैसों की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए इमरजेंसी के समय आप पैसों का इंतजाम कर सकें, आपके पास ऐसे ऑप्शन होने चाहिए। एसबीआई सैलेरी अकाउंट ऐसे ही विकल्पों में से एक है। आप अपनी 2 महीने की सैलेरी बतौर एडवांस बैंक से ले सकते हैं। ये पैसा आपको ओवरड्राफ्ट के रूप में मिलेगा। मगर ध्यान रहे कि यह सुविधा कुछ खास खातों पर ही उपलब्ध है।

30 लाख रु तक का फ्री इंश्योरेंस

30 लाख रु तक का फ्री इंश्योरेंस

एसबीआई में सैलेरी अकाउंट होने पर आपको कॉम्प्लिमेंट्री पर्सनल एक्सीडेंट इंश्योरेंस (पीएआई डेथ) पर 20 लाख रु तक का कर मिलेगा। वहीं कॉम्प्लिमेंट्री एयर एक्सीडेंट इंश्योरेंस (एएआई डेथ) के लिए गोल्ड/डायमंड/प्लैटिनम कैटेगरी में आपको 30 लाख रुपये का कवर मिलेगा। पीएआई/एएआई कवर के लिए पात्र होने के लिए आपका सैलेरी अकाउंट एक्टिव होना चाहिए और घटना की तारीख से पहले लगातार दो महीनों के दौरान आपको सैलेरी क्रेडिट होना चाहिए।

English summary

if you have salary account in SBI so you can advance will get 2 months salary

Based on the Gross Monthly Income (GMI) of the employees, 4 types of salary accounts are offered in SBI, which are Silver, Gold, Diamond and Platinum.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X