For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

दिल्ली सहित इन शहरों में गोबर खरीदेगी सरकार, आपको मिलेगा पैसे कमाने का मौका

|

नई दिल्ली, जुलाई 15। बीते कुछ समय में कुछ ऐसी योजनाएं आई हैं, जिनसे पशुपालक पशुओं के गोबर से भी कमाई कर रहे हैं। अभी तक ऐसी योजनाओं का दायरा बहुत सीमित था। मगर अब इनका विस्तार किया जा रहा है। अब दिल्ली सहित बैंगलोर, वाराणसी, नासिक, चौद्वार और अहमदाबाद सहित कई शहरों में गोबर से कमाई की जा सकेगी। विशेष योजनाओं के तहत सरकार ही लोगों से गोबर खरीदती है और बदले में पैसा देती है। इससे पशुपालन को बढ़ावा मिलता है। जानिए किस स्कीम के तहत खरीदा जाएगा गोबर।

 

Business Idea : नौकरी छोड़ी और गांव लौट कर मोती की खेती शुरू की, लाखों में है कमाई

गोबर से बनेगा पेंट

गोबर से बनेगा पेंट

आपको बता दें कि खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) द्वारा गोबर से प्राकृतिक पेंट बनाया जा रहा है। इसके लिए कई प्लांट लगाए जा चुके हैं। इसी साल जनवरी में राजस्‍थान के जयपुर में केवीआईसी ने इस पेंट को पेश किया था। अब इस प्राकृतिक पेंट के लिए और भी शहरों में प्लांट लगाए जाएंगे, जिसके लिए गोबर की जरूरत होगी। यही वजह है कि अब बड़े शहरों में भी गोबर से कमाई की जा सकेगी।

शहरी लोगों से खरीदा जाएगा गोबर
 

शहरी लोगों से खरीदा जाएगा गोबर

न्यूज 18 की रिपोर्ट के अनुसार केवीआईसी ने उन छह राज्‍यों को चुना है, जहां पर पेंट तैयार करने के लिए मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाए जाएंगे। इससे होगा यह कि शहरी लोगों से बड़ी मात्रा में गोबर खरीदा जाएगा। इससे रोजगार के अवसर भी बनेंगे और शहरों में रहने वाले पशुपालकों की इनकम भी बढ़ेगी। सरकार की योजना प्रमुख शहरों में 1-1 यूनिट लगाने की है, जिनमें गोबर से प्राकृतिक पेंट तैयार होगा।

पांच गुना मिलेगा दाम

पांच गुना मिलेगा दाम

केवीआईसी गोबर के बदले पशुपालकों को 5 गुना दाम देगी। आम तौर पर गोबर 1-1.5 रु प्रति किलो पर बिकता है। मगर सरकार गोबर के लिए 5 रु प्रति किलो का भुगतान करेगी। लोग इनके उपले आदि बना कर बेचते हैं, जिसमें मेहनत लगती है। मगर सरकार सीधे गोबर खरीदेगी, जिससे पशुपालकों की मेहनत बचेगी और कीमत भी अच्छी मिलेगी।

पेंट की मांग काफी बेहतर

पेंट की मांग काफी बेहतर

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केवीआईसी के एक अधिकारी के अनुसार गाय के गोबर से जो पेंट तैयार हो रहा है, उसकी बिक्री और मांग काफी अधिक है। इसकी मांग लगातार बढ़ रही है। पहले 12 दिन में 3.5 हजार लीटर पेंट बिक गया था। वो भी केवल दिल्ली और जयपुर में मौजूद 1-1 स्टोर यानी कुल 2 स्टोरों से। अब इस पेंट की ऑनलाइन सेल भी शुरू हो गयी है। इस तरह देश भर में कहीं भी ये पेंट खरीदा जा सकता है।

बिजनेस के लिए ट्रेनिंग

बिजनेस के लिए ट्रेनिंग

गोबर से पेंट बनाने के लिए सरकार की तरफ से पांच से सात दिनों की ट्रेनिंग दी जाती है। ये रोजगार का अच्छा मौका है। सरकार का ध्यान भी ज्यादा ट्रेनिंग सेंटर खोलने पर है। इससे अधिकतम लोग ट्रेनिंग लेकर गोबर से पेंट बनाने की फैक्ट्री खोल सकेंगे। यदि हर गांव में फैक्ट्री खुले तो रोजगार के भरपूर अवसर बनेंगे। इस पेंट को भारतीय मानक ब्यूरो द्वारा प्रमाणित किया गया है। अच्छी बात ये है कि पेंट में गंध भी नहीं है।

English summary

Government will buy cow dung in these cities including Delhi you will get a chance to earn money

KVIC has selected six states where manufacturing plants will be set up for the preparation of paints. This will mean that cow dung will be purchased in large quantities from the urban people.
Story first published: Thursday, July 15, 2021, 16:18 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X