For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

खुशखबरी : नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा विदेशी मुद्रा भंडार, जानिए आंकड़े

|

नयी दिल्ली। आर्थिक मोर्चे पर एक बहुत अच्छी खबर आई है। देश की विदेशी मुद्रा भंडार (फॉरेक्स) अब तक के सबसे ऊंचे स्तर पर पहुंच गया है। फॉरेक्स का नया रिकॉर्ड स्तर 534.568 अरब डॉलर है। आरबीआई की तरफ से जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार 31 जुलाई को खत्म हुए सप्ताह में फॉरेक्स 11.938 अरब डॉलर बढ़ा। बीते गुरुवार को आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति की घोषणा करते हुए कहा कि 534.6 अरब डॉलर का विदेशी मुद्रा भंडार देश का 13.4 महीनों का आयात संभाल सकता है। साथ ही उन्होंने बताया कि चालू वित्त वर्ष (2020-21) में 31 जुलाई तक फॉरेक्स में 56.8 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हुई है।

पिछले सप्ताह कितना बढ़ा फॉरेक्स
 

पिछले सप्ताह कितना बढ़ा फॉरेक्स

31 जुलाई से पहले 24 जुलाई को समाप्त हुए सप्ताह में फॉरेक्स 4.993 अरब डॉलर बढ़ कर 522.630 अरब डॉलर हो गया था। वहीं 5 जून को खत्म हुए सप्ताह में पहली बार देश का फॉरेक्स आधा ट्रिलियन (500 अरब डॉलर) के आंकड़े को पार कर गया था। 31 जुलाई को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा संपत्तियों (एफसीए) में बढ़ोतरी के चलते फॉरेक्स में इतनी वृद्धि हुई। एफसीए कुल फॉरेक्स का एक प्रमुख घटक है। आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक एफसीए 10.347 अरब डॉलर बढ़ कर 490.829 अरब डॉलर पर पहुंच गई।

गोल्ड रिजर्व में भी बढ़त

गोल्ड रिजर्व में भी बढ़त

एफसीए, जिसे डॉलर में गिना जाता है, में यूरो, पाउंड और येन शामिल होती हैं। आरबीआई के आंकड़ों में बताया गया है कि इस सप्ताह में सोने का भंडार 1.525 अरब डॉलर बढ़ कर 37.625 अरब डॉलर का हो गया। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ विशेष आहरण अधिकार 1.2 करोड़ डॉलर बढ़ कर 1.475 अरब डॉलर की हो गई। आईएमएफ के साथ देश की आरक्षित स्थिति भी समीक्षाधीन सप्ताह के दौरान 5.4 करोड़ डॉलर बढ़ कर 4.639 अरब डॉलर की हो गई है।

नहीं कम की रेपो रेट
 

नहीं कम की रेपो रेट

आरबीआई ने रेपो रेट में और कटौती न करने का फैसला लिया। रेपो रेट 4 फीसदी ही रहेगी। बाजार जानकार गुरुवार को खत्म हुई आरबीआई की बैठक से पहले ही रेपो रेट में और अधिक कटौती न किए जाने का अनुमान लगा रहे थे। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि वैश्विक आर्थिक गतिविधियां नाजुक बनी हुई हैं। लेकिन वैश्विक वित्तीय बाजारों में उछाल आया है। तीन दिन चली आरबीआई की हर दो महीने में एक बार होने वाली मौद्रिक नीति समिति की बैठक में रेपो रेट में कोई बदलाव न करने का फैसला किया गया। रेपो रेट के साथ ही रिवर्स रेपो रेट में भी कोई बदलाव नहीं किया गया। रिवर्स रेपो रेट 3.3 फीसदी पर ही बरकरार रहेगी।

RBI ने नहीं घटाई रेपो रेट, मगर इस बैंक ने सस्ता कर दिया लोन

English summary

Good news foreign currency reserves reach new record high know the figures

On Thursday, RBI Governor Shaktikanta Das announced the monetary policy, saying that the foreign exchange reserves of $ 534.6 billion can handle the country's 13.4 months of imports.
Story first published: Saturday, August 8, 2020, 12:55 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?