For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Railway Stations जाना हो जाएगा महंगा, जानिए कितना लग सकता है चार्ज

|

नयी दिल्ली। बहुत जल्द आपका रेलवे स्टेशन जाना महंगा हो सकता है। बहुत जल्द आपसे एक नया चार्ज लिया जाएगा। दरअसल सरकार अगले दो हफ्तों में कुछ रेलवे स्टेशनों पर यूजर चार्ज लगाने पर अंतिम फैसला ले सकती है। कुछ चुने गए स्टेशनों पर रेलवे यूजर डेवलपमेंट शुल्क लगाने के प्रस्ताव को लागू कर सकता है। बता दें कि इस प्रस्ताव पर चर्चा पिछले कुछ महीनों से चल रही है, मगर अब ये शुल्क बहुत जल्द वसूला जाना शुरू हो सकता है।

 

कितना वसूला जाएगा शुल्क

कितना वसूला जाएगा शुल्क

रेल मंत्रालय यात्रियों की विभिन्न श्रेणियों के लिए 10 से 50 रुपये के बीच शुल्क का प्रस्ताव कर रहा है। इनमें प्रथम श्रेणी में यात्रा करने वाले यात्रियों को अधिकतम शुल्क देना होगा। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि इस चार्ज पर अंतिम फैसला कैबिनेट लेगी। जबकि रेल मंत्रालय ये तय करेगा कि यूजर चार्ज किन-किन स्टेशनों पर लिया जाना है।

शुरुआत में इन स्टेशनों पर लगेगा चार्ज

शुरुआत में इन स्टेशनों पर लगेगा चार्ज

अनुमान लगाया जा रहा है कि पहले चरण में ये चार्ज लगभग 120 बड़े स्टेशनों पर लगाया जाएगा। इन 120 स्टेशनों में नई दिल्ली, छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (मुंबई), नागपुर, तिरुपति, चंडीगढ़, ग्वालियर, पुदुचेरी और साबरमती स्टेशन शामिल होंगे। नई दिल्ली और छत्रपति शिवाजी टर्मिनस के लिए बोली की तारीख (Bid Dates) क्रमश: 18 और 15 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दी गई है।

प्राइवेट कंपनियों को होगा लाभ
 

प्राइवेट कंपनियों को होगा लाभ

यूजर चार्ज कलेक्शन उन प्राइवेट कंपनियों के लिए सुनिश्चित इनकम का एक जरिया होगा जो प्रमुख रेलवे स्टेशनों के रिडेवलपमेंट के लिए बड़े पैमाने पर निवेश करते हैं। माना जा रहा है कि प्राइवेट कंपनियों को जब यूजर चार्ज का पता चलेगा तो उनकी ओर से और अच्छी प्रतिक्रिया देखने को मिलेगी।

टिकट भी होगा महंगा

टिकट भी होगा महंगा

हालांकि इन सभी स्टेशनों पर प्लेटफ़ॉर्म टिकट की कीमतों में भी मामूली बढ़ोतरी देखने को मिल सकती है। यात्रियों के मामले में यह शुल्क किराये में शामिल किया जाएगा। अभी इस बात पर विचार किया जा रहा है कि अनारक्षित श्रेणी के यात्रियों और उपनगरीय ट्रेनों से सफर करने वालों के लिए ये यूजर चार्ज न्यूनतम होगा या इसके भुगतान करने से उन्हें छूट मिलेगी। रेल मंत्रालय ने पहले कहा था कि यूजर चार्ज के रूप में इकट्ठी की गई राशि का इस्तेमाल प्रमुख स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं में सुधार के लिए किया जाएगा।

ऐसे समझें क्या होता है यूजर चार्ज

ऐसे समझें क्या होता है यूजर चार्ज

यूजर चार्ज या यूजर डेवलपमेंट चार्ज (यूडीएफ) एक छोटी शुल्क राशि होती है, जो यात्रियों से वसूली जाती है। इस पैसे का इस्तेमाल रेलवे स्टेशन पर सभी यात्रियों के लिए सुविधाओं में सुधार के लिए किया जाता है। यह पहली बार होगा कि यूडीएफ रेल यात्रियों से लिया जाएगा। यूडीएफ हवाई यात्रियों से लिया जाता है। यूडीएफ विभिन्न हवाई अड्डों पर लिया जाता है और यह रेट अवग-अलग शहरों में भिन्न होते हैं। रेलवे बोर्ड के सीईओ वीके यादव ने 17 सितंबर को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि रेलवे सभी 7,000 स्टेशनों पर यूडीएफ नहीं लगाएगा। ये चार्ज उन सभी स्टेशनों पर लगाया जाएगा जहां अगले 5 सालों में यात्रियों की संख्या बढ़ती दिख रही है। उन्होंने कहा था कि केंद्र जल्द ही स्टेशनों के लिए यूडीएफ को लेकर एक अधिसूचना जारी करेगा।

रेल यात्रियों के लिए काम की खबर, ये टिप्स अपनाएं तो सबसे पहले कंफर्म होगा टिकट

English summary

Going to railway stations will be expensive know how much can be charged

The Railway Ministry is proposing a fee of between Rs 10 and Rs 50 for various classes of passengers. Among these, passengers traveling in first class will have to pay the maximum fee.
Story first published: Monday, December 7, 2020, 13:03 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X