For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

कमाल का बिजनेस : अमेरिकी नौकरी छोड़ बेच रहा दूध, 20 गायों से कमा रहा 44 करोड़ रु

|

नई दिल्ली, मई 18। मध्यवर्गीय परिवारों में पैदा हुए अपने जैसे कई लोगों की तरह किशोर इंदुकुरी अमेरिका में पढ़ने और काम करने की इच्छा रखते थे। उन्होंने आईआईटी खड़गपुर से ग्रेजुएशन की। इसके बाद जब उन्होंने मैसाचुसेट्स यूनिवर्सिटी, एमहर्स्ट से पॉलिमर साइंस एंड इंजीनियरिंग में मास्टर और पीएचडी पूरी की और फिर किशोर इंटेल में नौकरी करने लगे। हालाँकि अपनी नौकरी के छह साल बाद, किशोर को एहसास हुआ कि उनका असली जुनून कृषि था। भारत में उनके परिवार के पास कर्नाटक में कुछ जमीन थी, और किशोर उनके साथ खेतों का दौरा करने और किसानों के साथ बातचीत करने में शामिल होते थे। इसने उन्हें अपनी डेयरी फार्म और दूध ब्रांड शुरू करने के लिए प्रोत्साहन मिला।

 

Salad Business : 5 हजार रु में करें शुरू, लाखों में होगी कमाई

खरीदी 20 गाय

खरीदी 20 गाय

2012 में किशोर ने कोयंबटूर से 20 गायें खरीदीं और हैदराबाद में एक डेयरी फार्म स्थापित की। किशोर ने सब्सक्रिप्शन के आधार पर शहर के उपभोक्ताओं को सीधे दूध की आपूर्ति शुरू कर दी। धीरे-धीरे उनका कारोबार बढ़ने लगा। 2016 में उन्होंने अपने ब्रांड को आधिकारिक तौर पर सिड्स फार्म (किशोर के बेटे सिद्धार्थ के नाम पर) के नाम से रजिस्टर कराया। किशोर का दावा है कि अब उनका 120 कर्मचारियों वाला ब्रांड प्रतिदिन 10,000 से अधिक ग्राहकों को दूध पहुंचाता है।

कितनी हो रही कमाई
 

कितनी हो रही कमाई

उनकी कमाई इस समय करोड़ों में है। उनके ब्रांड ने पिछले साल 44 करोड़ रुपये का कारोबार किया। किशोर के अनुसार पहली 20 गायों के साथ उन्होंने सीधे ग्राहकों को दूध बेचना शुरू किया। लोगों का दिन चाय या कॉफी से शुरू होता है। इसलिए दूध उन तक सुबह 6 बजे तक पहुंच जाना चाहिए। इसलिए किशोर सुबह 4 बजे गायों का दूध निकालते। लेकिन जैसे-जैसे मांग बढ़ने लगी, उन्हें गायों को दूध निकालने का समय कम करने पड़ा, जो एक वास्तविक चुनौती थी।

लोन लेकर शुरू किया मैन्युफैक्चरिंग प्लांट

लोन लेकर शुरू किया मैन्युफैक्चरिंग प्लांट

बैंक से लोन लेने के बाद, उन्होंने 2018 में एक मैन्युफैक्चरिंग सुविधा की स्थापना की। जब किशोर ने अपना बिजनेस शुरू किया था तो उन्होंने अपनी सारी सेविंग्स इसमें लगा दी थी। यहां तक कि उन्होंने अपने परिवार से पैसे भी जुटाए। उनके परिवार ने उनके आइडिया पर भरोसा किया। उनकी मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी तेलंगाना के रंगारेड्डी जिले के एक शहर और मंडल शाबाद में स्थित है।

कई प्रोडक्ट करने लगे तैयार

कई प्रोडक्ट करने लगे तैयार

उन्होंने दूध से शुरुआत की और जल्द ही महसूस किया कि पनीर, दही और मक्खन जैसे दूध से बने उत्पादों की शेल्फ लाइफ दूध की तुलना में बहुत अधिक है। उन्होंने यह भी देखा कि अधिकांश डेयरी ब्रांड गाय या भैंस के डेयरी उत्पादों की अलग से आपूर्ति नहीं कर रहे थे। फिर हैदराबाद में उनके अपने डेयरी उत्पादों की मांग बढ़ती रही।

कौन-कौन से हैं प्रोडक्ट

कौन-कौन से हैं प्रोडक्ट

किशोर ने अन्य उत्पाद कैटेगरियों में कई अलग-अलग विविधता पैदा की। जैसे संपूर्ण गाय का दूध, भैंस का दूध, मलाई निकाला दूध, गाय का मक्खन, गाय का घी, भैंस का मक्खन, भैंस का घी, गाय का दही, भैंस का दही और प्राकृतिक पनीर शामिल हैं। अब उनका प्लान अपने प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में और श्रेणियां जोड़ने का है। इस साल, उनका प्लान हैदराबाद और बेंगलुरू और उसके आसपास और जिलों और शहरों में अपनी पैंठ बनाने का है।

English summary

business this man quit US job now selling milk earning Rs 44 crore from 20 cows

In 2012, Kishore bought 20 cows from Coimbatore and set up a dairy farm in Hyderabad. Kishore started supplying milk directly to the city's consumers on a subscription basis.
Story first published: Tuesday, May 18, 2021, 18:57 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X