For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Bombay Oxygen : ऑक्सीजन नहीं बनाती ये कंपनी, फिर भी 156 फीसदी उछला Share

|

नई द‍िल्‍ली, अप्रैल 22। भारत में कोरोनोवायरस की दूसरी लहर बेकाबू होती जा रही है। फरवरी में शुरू हुई कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण के रोजाना लाखों मामले आ रहे हैं। इससे देश भर के अस्पतालों में बेड, दवाओं और ऑक्सीजन की कमी की खबरें भी सामने आ रही हैं। दिल्ली सहित देश के कई शहरों के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी हो गयी है। जिस तरह देश में ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग काफी बढ़ी है, उसी तरह शेयर बाजार में ऑक्सीजन के बिजनेस में लगी कंपनियों के शेयरों में भी तेज उछाल आई है। शेयर बाजार के कुछ निवेशक इस मौके से लाभ उठा रहे हैं।

 

कमाई का मौका : ये शेयर दे सकते हैं FD से 5 गुना तक रिटर्न, जानिए नाम

नाम में 'ऑक्सीजन' वाली कंपनियों के शेयर उछले

नाम में 'ऑक्सीजन' वाली कंपनियों के शेयर उछले

मेडिकल ऑक्सीजन की कमी के कारण कुछ शहरों में ऑक्सीजन सिलेंडर की कीमत लगभग दोगुनी हो गयी है। इससे निवेशकों ने मुनाफा कमाने के लिए ऑक्सीजन गैस बनाने वाली कंपनियों के शेयरों में धड़ाधड़ खरीदारी शुरू दी है। निवेशकों में ऑक्सीजन बनाने वाली कंपनियों को लेकर ऐसी दीवानगी दिख रही है कि वे नाम में 'ऑक्सीजन' वाली किसी भी कंपनी के शेयर खरीद रहे हैं। फिर भले ही कंपनी इस बिजनेस में लगी हो या नहीं। इन्हीं में से एक है बॉम्बे ऑक्सीजन इन्वेस्टमेंट्स लिमिटेड।

क्या है बॉम्बे ऑक्सीजन का बिजनेस
 

क्या है बॉम्बे ऑक्सीजन का बिजनेस

बॉम्बे ऑक्सीजन एक ऐसी ही कंपनी है जिसके शेयरों को लोग ऑक्सीजन का बिजनेस करने वाली कंपनी समझ कर खरीद रहे हैं। 1960 में बॉम्बे ऑक्सीजन कॉर्पोरेशन लिमिटेड के रूप में शुरू हुई ये कंपनी एक नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) है जो अब ऑक्सीजन नहीं बनाती है। कंपनी का अल बिजनेस औद्योगिक गैसों का निर्माण और आपूर्ति था, जिसे 1 अगस्त 2019 से बंद कर दिया गया है।

कहां से पैसा कमाती है कंपनी

कहां से पैसा कमाती है कंपनी

कंपनी के पास शेयर, म्यूचुअल फंड और अन्य फाइनेंशियल सिक्योरिटीज के रूप में फाइनेंशियल निवेश है और इस तरह के वित्तीय निवेशों से ही यह अपनी इनकम हासिल करती है। ये जानकारी बॉम्बे ऑक्सीजन की वेबसाइट पर दी गयी है।

कहां से कहां पहुंचा शेयर

कहां से कहां पहुंचा शेयर

बीएसई पर कंपनी का शेयर 31 मार्च को 11,025 रुपये के बंद भाव से बढ़ कर मंगलवार 20 अप्रैल तक 20,500 रुपये पर पहुंच गया। 12 से कम सत्रों में इसने 131.3 प्रतिशत की बढ़त हासिल की। यदि एक फरवरी को इसकी कीमत को ध्यान में रखा जाए तो शेयर की कीमत में तेजी और भी अधिक रही है। स्टॉक 1 फरवरी को ये शेयर 9,964.95 रुपये पर कारोबार कर रहा था, जो 3 महीने से कम समय में लगभग 156 प्रतिशत बढ़ा। वहीं 1 फरवरी से 20 अप्रैल की अवधि के दौरान सेंसेक्स में 1.84 प्रतिशत की गिरावट आई है।

बीएसई ने मांगा जवाब

बीएसई ने मांगा जवाब

बॉम्बे ऑक्सीजन के शेयर में इतनी तेजी देखते हुए बीएसई ने कंपनी से जवाब मांगा। कंपनी ने अपनी तरफ से दी गयी सफाई में कहा कि इसने सेबी के नियमों के अनुसार सारी जानकारी साझा की है। 2019-20 के लिए कंपनी की वार्षिक रिपोर्ट के अनुसार, इसे 31 दिसंबर, 2019 को भारतीय रिज़र्व बैंक से एनबीएफसी बिजनेस के लिए पंजीकरण प्रमाणपत्र प्राप्त हुआ, और इसका निवेश के अलावा कोई बिजनेस नहीं है।

English summary

Bombay Oxygen This company does not make oxygen yet it jumped 156 percent

In some cities, the price of oxygen cylinders has almost doubled due to lack of medical oxygen. With this, investors have started buying shares in the stocks of companies making oxygen gas to make a profit.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X