For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Bank of Baroda के ग्राहक हो जाएं सावधान, 1 जून से बदल जाएगा ये नियम

|

नई दिल्ली, मई 24। अगर आपका बैंक खाता भी बैंक ऑफ बड़ौदा में है तो यह खबर आपके काफी काम आएगी। असल में 1 जून से बैंक ऑफ बड़ौदा में एक जरूरी नियम बदलने जा रहा है। चेक पेमेंट के दौरान धोखाधड़ी को रोकने के लिए, बैंक ऑफ बड़ौदा 1 जून, 2021 से अपने ग्राहकों के लिए "पॉजिटिव वे कंफर्मेशन" को अनिवार्य करने जा रहा है। बैंक के मुताबिक यदि चेक 2 लाख रु से अधिक का है ग्राहकों को अपने चेक की जानकारी को रिकंफर्म करना होगा। अगर आप 2 लाख रु से अधिक के चेक में लेन-देन करते हैं तो यहां जानिए पूरी डिटेल।

 

SBI ग्राहक अलर्ट : बदल गया बैंक खुलने का समय, जानिए कब से कब तक होगा काम

देनी होगी चेक की जानकारी

देनी होगी चेक की जानकारी

बैंक ऑफ बड़ौदा की वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के अनुसार बैंक ने अपने ग्राहकों से अनुरोध किया है कि वे पहले से जारी किए गए चेक की जानकारी दे दें। ताकि बैंक को आपसे दोबारा पुष्टि न करनी पड़े और आपका चेक लाभार्थी को ट्रांसफर कर दिया जाए। अगर आप पहले से जानकारी न दें तो बैंक आपको एक बार फिर से पुष्टि के लिए कॉल करेगा। ये फैसला चेक पेमेंट में धोखाधड़ी पर रोक लगाने के लिए लिया गया है।

50000 रु के चेक की भी हो सकती है पुष्टि
 

50000 रु के चेक की भी हो सकती है पुष्टि

बैंक ऑफ बड़ौदा में 2 लाख रु से अधिक के चेक की पुष्टि अनिवार्य होगी। मगर आप 50000 रु या इससे अधिक के चेक की भी जानकारी बतौर पुष्टि बैंक को दे सकते हैं। इसी पुष्टि को पॉजिटिव पे कहा जाता है। इसमें बड़े अमाउंट की जानकारी ग्राहक की तरफ से बैंक को पहले ही दी जाती है। ताकि लेन-देन में कोई गड़बड़ न हो।

क्या देनी होती है डिटेल

क्या देनी होती है डिटेल

पॉजिटिव पे कंफर्मेशन के तहत चेक जारीकर्ता को बैंक को कुछ अतिरिक्त जानकारी देनी होती है। आप एसएमएस, मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम आदि जैसे इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के माध्यम से चेक की कुछ न्यूनतम डिटेल (जैसे तिथि, लाभार्थी/प्राप्तकर्ता का नाम, संख्या, आदि) बैंक को दे सकते हैं। जिसे बाद में चेक ट्रंकेशन सिस्टम (सीटीएस द्वारा) क्रॉस-चेक किया जाता है। अगर कुछ भी गड़बड़ी पाई जाती है तो उस पर आगे कार्यवाही होती है।

जानिए बाकी नये नियम

जानिए बाकी नये नियम

1 जून से बैंक ऑफ बड़ौदा में चेक से जुड़े कुछ और भी नये नियम लागू होने जा रहे हैं। एक बार भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम के सर्वर पर डेटा भेजे जाने के बाद किसी भी मोड में रिकॉर्ड की गई पुष्टि को बदलने या हटाने का कोई विकल्प नहीं है। मगर ग्राहक सीटीएस या काउंटर पर प्रस्तुति/भुगतान से पहले किसी भी समय जारी किए गए चेक को रोक सकते हैं। अगर फंड, हस्ताक्षर और इसी तरह की जरूरी जानकारी मैच होती है तो चेक को क्लियर कर दिया जाएगा।

आपके पास आएगा मैसेज

आपके पास आएगा मैसेज

सफल पॉजिटिव पे वेरिफिकेशन के लिए आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से एक रेफ्रेंस नंबर (रजिस्ट्रेशन नंबर) भेजा जाएगा। पुष्टिकरण के लिए केवल एक मोड का उपयोग किया जाना चाहिए। ग्राहकों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि दिए गए चेक को प्रस्तुत करने/भुगतान करने के लिए उनके पास पर्याप्त धनराशि है। ज्यादा जानकारी के लिए आप इस लिंक (https://www.bankofbaroda.in/writereaddata/Images/pdf/positive-pay-system-key-features-07052021.pdf) जा सकते हैं।

English summary

Bank of Baroda customers should be careful cheque payment rule will change from June 1

According to the information given on the website of Bank of Baroda, the bank has requested its customers to give information about the checks already issued. So that the bank does not have to confirm with you again and your check is transferred to the beneficiary.
Story first published: Monday, May 24, 2021, 17:08 [IST]
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X