For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

सोने से महंगी है ये लकड़ी, कीमत कर देगी हैरान

|

नयी दिल्ली। भारत में महंगी लकड़ी की बात आते ही चंदन का जिक्र होता है। मगर चंदन दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी नहीं है। दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी की कीमत सोने से भी अधिक है। जो चीजें जितनी मुश्किल से मिलती हैं उनकी कीमत भी उतनी ही अधिक होती है। कुछ ऐसा ही दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी के मामले में भी है। यहां हम जानेंगे इस खास लकड़ी के बारे में। साथ ही हम आपको बताएंगे कि आखिर ये लकड़ी इतनी महंगी क्यों हैं।

 

ये है दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी

ये है दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी

दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी का नाम है अफ्रीकी ब्लैकवुड। ये लकड़ी और इसका पेड़ आपको भारत में देखने को नहीं मिलेगा। आपको बता दें कि अफ्रीकी ब्लैकवुड दुनिया की सबसे महंगी लकड़ी तो है ही। साथ में ये पृथ्वी पर मौजूद सबसे महंगी चीजों में से भी एक है। इसी विशेषता से आप अंदाजा लगा सकते हैं कि अफ्रीकी ब्लैकवुड की कीमत कितनी होगी।

छोटा होता है पेड़

छोटा होता है पेड़

अफ्रीकी ब्लैकवुड का पेड़ बहुत बड़ा नही होता। ये 4 से 15 मीटर तक की लंबाई का होता है। भूरे रंग की छाल वाले ये पेड़ अफ्रीका में मिलता है। अफ्रीकी ब्लैकवुड के नाम में ही अफ्रीका है, इसलिए इसका ये नाम पड़ा है। अफ्रीका में सेनेगल पूर्व से इरिट्रिया तक अफ्रीका के सूखे क्षेत्रों में अफ्रीकी ब्लैकवुड मिलता है। बता दें कि ये बहुत दुर्लभ पेड़ है, जो इसकी भारी कीमत की वजह है।

7 लाख रु से अधिक है एक किलो का दाम
 

7 लाख रु से अधिक है एक किलो का दाम

अफ्रीकी ब्लैकवुड के रेट की बात करें तो ये सोने से कई गुना महंगी है। इसके एक किलो की कीमत 8,000 पाउंड प्रति किलो है, जो करीब 7 लाख रु से अधिक होते हैं। भारत में इतने रु में खूब सारा सोना या कोई अन्य कीमती चीज, जैसे कि कार, खरीदी जा सकती है। इस समय सोने का रेट प्रति 10 ग्राम 47860 रु के करीब है। इस लिहाज से सोना 4,78,600 रु किलो हुआ। बात करें अफ्रीकी ब्लैकवुड के दुर्लभ होने की तो इसके पेड़ को 60 साल लंबा समय लगता है। यही वजह है इसके दुर्लभ होने की। दूसरी चीज कि तस्कर इसके पेड़ों को नहीं छोड़ते। इसीलिए ये पेड़ अब मिलना मुश्किल होता जा रहा है।

किन देशों में है अधिक तस्करी

किन देशों में है अधिक तस्करी

जिन देशों में अफ्रीकी ब्लैकवुड की सबसे अधिक तस्करी होती है, उनमें केन्या और तंजानिया शामिल हैं। गौरतलब है कि इस लकड़ी को कुछ खास चीजों को बनाने में उपयोग में लाया जाता है। फर्नीचर के अलावा इससे शहनाई और बांसुरी सहित गिटार बनाये जाते हैं। अफ्रीका में आम आदमी इस लकड़ी का फर्नीचर नहीं खरीद सकता। इसकी वजह अधिक दाम ही है।

और भी हैं अफ्रीकी ब्लैकवुड के नाम

और भी हैं अफ्रीकी ब्लैकवुड के नाम

अफ्रीकी ब्लैकवुड को और भी कई नामों से जाना जाता है। इनमें बाबानूस और ग्रिनाडिला जैसे नाम शामिल हैं। अफ्रीकी ब्लैकवुड को बचाने के लिए कई संगठन कोशिश कर रहे हैं। केन्या में तो इस पेड़ पर गंभीर खतरा आ गया है। वहीं तंजानिया और मोजाम्बिक में ध्यान देना बहुत जरूरी हो गया है।

अजब-गजब : ये हैं दुनिया के 5 सबसे महंगे फल, 1 किलो में मिल जाएगा ढेर सारा सोना

English summary

african blackwood This wood is more expensive than gold price will surprise you

The African blackwood tree is not very large. They range in length from 4 to 15 meters. This tree with brown bark is found in Africa. Africa is in the name of African Blackwood, hence its name.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X