For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Patanjali को पड़ी पैसों की जरूरत, जान‍िये क्‍या है वजह

|

नई द‍िल्‍ली: रुची सोया (Ruchi Soya) को खरीदने के लिए पतंजलि (Patanjali) ने सरकारी बैंकों (Governmnet Bank) से क़र्ज़ देने की गुहार लगाई है। आपको बता दें कि पतंजलि (Patanjali) और रुची सोया (Soya ruchi)के बीच यह सौदा 4,350 करोड़ रुपये में हो रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी पांच साल के लिए कर्ज (loan) लेना चाहती है और उसने एसबीआई (SBI), पीएनबी (PNB), बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of baroda), यूनियन बैंक (Union Bank) और जेऐंडके बैंक से संपर्क साधा है। कंपनी 3,700 करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज (loan) बैंकों (Bank) से लेना चाहती है और 600 करोड़ रुपये का इंतजाम वह अपने स्तर पर करेगी

Patanjali ने PSB से मांगा कर्ज

 

हालांक‍ि सूत्रों का कहना हैं कि बैंकों से फंड (Funds from banks) के लिए बातचीत आखिरी दौर में है और जल्द ही ब्याज दर (Interest rate) भी फाइनल हो जाएगी। पतंजलि ने पहले कर्ज के लिए नॉन-बैंकिंग चैनल (Non-banking channel) से संपर्क किया था, लेकिन निवेशकों के अधिक डिस्क्लोजर की मांग (Disclosure demand) करने पर वह पीछे हट गई। इस खबर के बारे में पूछे गए सवालों के पतंजलि, एसबीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा, यूनियन बैंक और जेऐंडके बैंक ने जवाब नहीं दिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार में निर्मला सीतारमण बनी वित्त मंत्री ये भी पढ़ें

बता दें कि पतंजलि (Patanjali) ने इनसॉल्वेंसी ऑक्शन (Insolvency Auction) में रुचि सोया (Soya ruchi) को खरीदा है, जिस पर 9,300 करोड़ से अधिक का कर्ज है। इसमें से 1,800 करोड़ रुपये का सबसे अधिक एक्सपोजर एसबीआई (Exposure SBI) का है। इसके बाद सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central bank of india) का एक्सपोजर 816 करोड़ और पीएनबी (PNB) का 743 करोड़ रुपये है। बता दें कि वैसे पिछले साल अगस्त में रुचि सोया (Soya ruchi)के लिए सबसे ऊंची बोली अडानी विल्मर ने लगाई थी। तब पतंजलि के साथ उसका कड़ा मुकाबला हुआ था। हालांकि, दिसंबर 2018 में अडानी विल्मर ने रुचि सोया के रिजॉल्यूशन प्रोफेशनल (Resolution professional) को लेटर लिखकर कहा था कि इनसॉल्वेंसी प्रोसेस (Insolvency Process) में देरी के चलते कंपनी की संपत्ति प्रभावित हो रही है।

 

अब आप आसानी से अमेजन की मदद से कर सकेंगे टोल पार ये भी पढ़ें

पतंजलि को अपनी ग्रोथ तेज बनाए रखने में मदद

अडानी विल्मर (Adani Wilmer) के बाहर निकलने के बाद रुचि सोया को खरीदने की रेस में सिर्फ पतंजलि (Patanjali) बच गई थी। उसने अप्रैल में बोली 200 करोड़ रुपये बढ़ाकर 4,350 करोड़ रुपये कर दी थी। रुचि सोया (Ruchi soya) को खरीदने के बाद पतंजलि सोयाबीन ऑइल और दूसरे प्रॉडक्ट्स (Soybean oil and other products) की बड़ी सप्लायर बन जाएगी। माना जा रहा है कि इस डील से पतंजलि को अपनी ग्रोथ तेज बनाए रखने में मदद मिलेगी।

English summary

Patanjali Lends A Loan To Government Banks To Buy Ruchi Soya

Patanjali made contact with SBI, PNB, BoB, J & K Bank and Union Bank for a deal of 4,350 crore।
Story first published: Friday, May 31, 2019, 16:03 [IST]
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Get Latest News alerts from Hindi Goodreturns

Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more