For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

PNB में विलय हो सकता है इन तीन छोटे बैंकों का

|

नई दिल्‍ली: देश के तीसरे बड़े सरकारी बैंक (Government bank) पंजाब नेशनल बैंक (PNB) में जल्द ही तीन छोटे बैंकों को विलय होगा। जी हां पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) दो या तीन सरकारी बैंकों के कंट्रोल को अपने हाथ में ले सकता है। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इन बैंकों में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank Of Commerce), आंध्रा बैंक (Andhra Bank) और इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank) शामिल हो सकते हैं। भारत सरकार लगातार छोटे क्षेत्रीय सरकारी बैंकों (Small regional government banks) को बेहतर प्रबंधन वाले सरकारी बैंकों में विलय की दिशा में प्रयास कर रही है। इसके माध्यम से सरकार का लक्ष्य बैड लोन्स (Bad Loans) के स्तर को कम करन है। इस समय सरकारी बैंकों के खातों (Bank accounts) में 9 लाख करोड़ रुपए के बैड लोन्स दर्ज (Bad loans entered) हैं, जो सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के लगभग 5 फीसदी के बराबर हैं।

तीन महीने में शुरू हो सकती है प्रक्रिया
 

तीन महीने में शुरू हो सकती है प्रक्रिया

इस बात से भी अवगत करा दें कि बीते साल सरकार के स्वामित्व (Government ownership) वाले भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) का अधिग्रहण किया था, जो सबसे ज्यादा बैड लोन्स (Bad Loans) वाले बैंकों (Bank) में से एक था। सूत्रों के मुताबिक, इस क्रम में पीएनबी (PNB) अगले तीन महीनों में बैंकों का कंट्रोल (Banks control) अपने हाथ में लेने की प्रक्रिया शुरू कर सकता है।

महिलाओं के ल‍िए कितना जरूरी Maternity Insurance, जानें क्या हैं फायदे

बैंकों के शेयरों में गिरावट

पीएनबी (PNB) का शेयर मंगलवार को लगभग 2.50 फीसदी कमजोर होकर बंद हुआ। वहीं इलाहाबाद बैंक के शेयर में 2.6 फीसदी और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce) में 1 फीसदी कमजोरी दर्ज की गई। भारत सरकार लगातार पीएसयू बैंकिंग सेक्टर (PSU banking sector) पर कर्ज के बोझ को कम करने की दिशा में काम कर रही है। हालांक‍ि इस खबर पर पीएनबी (pnb) ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, वहीं दूसरे बैंकों को भेजे गए ईमेल पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। वहीं वित्त मंत्रालय ने भी इस पर टिप्पणी से इनकार कर दिया।

ग्राहकों पर होगा ये असर
 

ग्राहकों पर होगा ये असर

जानकारी दें कि इलाहाबाद बैंक, OBC, और आंध्र बैंक का पीएनबी में विलय (PNB merger) से खाताधारकों (Account holder) पर कोई असर नहीं होगा। इलाहाबाद बैंक, OBC, और आंध्र बैंक के खाताधारकों को इस मर्जर प्रक्रिया से कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बता दें कि बैंक जो भी फैसले लेगा उसके बारे में ग्राहकों को पहले सूचित किया जाएगा। हालांकि, खाताधारकों के लिए थोड़ा कागजी काम जरूर बढ़ जाएगा। पीएनबी में विलय (Merge in PNB) के बाद इलाहाबाद बैंक, OBC, और आंध्र बैंक के खाताधारकों को नए चेकबुक (Checkbook), पासबुक (Passbook) बनवाने होंगे। इसके लिए बैंक पर्याप्त समय देगा और खाताधारकों की पूरी मदद करेगा।

Tata Sky दे रहा चार नए पैक का ऑफर, शुरुआती कीमत 49 रुपये

एटीएम और पासबुक फ‍िर से अपडेट होगी

वहीं इस तरह के मर्ज होने से उस बैंक के ग्राहकों (Bank customers) का थोड़ा पेपरवर्क बढ़ जाता है। इसके लिए केवाईसी का प्रॉसेस फिर से करना होता है। वहीं, आपका एटीएम और पासबुक (ATM & Passbook) नए सिरे से अपडेट (Update) होता है। तो इसके लिए हल्का पेपरवर्क करना पड़ सकता है। हालांकि इसमें कुछ वक्त भी लग सकता है। इस बात से भी अवगत करा दें कि बैंकों के विलय (Bank merger) से आपके लोन पर कोई असर नहीं होगा और आपको पहले की तरह उस पर ब्याज देना होगा। जब कोई बैंक किसी दूसरे बैंक में मर्ज होता है तो लोन अमाउंट उस बैंक में ट्रांसफर (Transfer) हो जाता है और मौजूदा ब्याज दर ही उस पर अप्लाई होती है।

साल की शुरुआत में BOB में दो बैंकों का हुआ मर्जर

बता दें क‍ि इस साल फरवरी में सरकार ने 12 सरकारी बैंकों को आरबीआई (RBI) की त्‍वरित सुधार कार्रवाई (पीसीए) (pca) से बाहर निकालने के लिए 48,239 करोड़ रुपए के पुर्नपूंजीकरण की घोषणा की थी। पीसीए में रखे जाने के बाद आरबीआई (RBI) ने इन सभी बैंकों को नया कर्ज देने से रोक दिया था। इन 12 बैंकों में शामिल हैं इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank) , कॉरपोरेशन बैंक ऑफ इंडिया (Corporation Bank of India) , बैंक ऑफ इंडिया (Bank of india), बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र (Bank of Maharashtra), पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) , यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India), आंध्रा बैंक (Andhra bank), सिंडीकेट बैंक (Syndicate bank) , सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central bank of india), यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (United Bank of India), यूको बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक (UCO Bank and Indian Overseas Bank)।

वहीं इस साल की शुरुआत में पहली बार सरकार ने देना बैंक (Dena bank) और विजया बैंक (Vijaya bank) का विलय बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of baroda) में किया था। इस विलय के बाद बैंक ऑफ बड़ौदा भारतीय स्‍टेट बैंक (State bank of india) के बाद दूसरा सबसे बड़ा सरकारी बैंक बन गया है। इससे पहले एसबीआई ने अपने 5 सहयोगी बैंकों और भारतीय महिला बैंक का विलय किया था।

English summary

Punjab National Bank Can Be Merged With 3 Small Banks

Punjab National Bank (PNB), the third largest government bank in the country, will soon merge three small banks।
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Find IFSC

We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more