For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

Tata Chemicals का टाटा ग्लोबल बेवरेज के खाद्य व्यापार में होगा विलय

|

नई द‍िल्‍ली: टाटा (Tata) अपने खाद्य कारोबार (Food business) को टाटा केमिकल्स लिमिटेड (Tata Chemicals Limited) (टीसीएल) से अलग कर टाटा ग्लोबल बेवरेजेज लिमिटेड (Tata Global Beverages Limited) (टीजीबीएल) के साथ विलय करेगी। जी हां टाटा समूह (Tata group) ने बुधवार को अपने खाद्य कारोबार (Food business) को टाटा केमिकल्स लिमिटेड (टीसीएल) से अलग करके टाटा ग्लोबल बेवरेजेज लिमिटेड (TGBL) (टीजीबीएल) को स्थानांतरित करने की घोषणा की। जानकारी दें कि यह पूरा सौदा शेयरों (Share) के आधार पर होगा और इससे एक बड़ी 9,000 करोड़ रुपये की कंपनी खड़ी होगी। टाटा ग्लोबल बेवरेजेज लिमिटेड (Tata Global Beverages Limited) इस सौदे में टाटा केमिकल्स से नमक (Salt), मसाले (Spices) और दाल कारोबार (Pulses business) को खरीदेगा और बदले में उसे शेयर देगा। इस सौदे के बाद टाटा ग्लोबल बेवरेजेज (Tata Global Beverages) का नाम बदलकर टाटा कंज्यूमर प्रोडेक्ट्स लिमिटेड (Tata Consumer Products Limited) हो जाएगा।

Tata केमिकल्स के खाद्य कोराबार का होगा विलय

 

NCLT और SEBI की लेनी होगी मंजूरी

हालांकि कंपनी ने बयान में कहा कि टाटा ग्लोबल बेवरेजेज (Tata Global Beverages) और टाटा केमिकल्स (Tata Chemicals) के निदेशक मंडलों ने बुधवार को अलग-अलग बैठकों में टीसीएल (TCL) के उपभोक्ता कारोबार को अलग करके टीजीबीएल (TGBL) में विलय करने की मंजूरी दी। इस विलय (Merger) में टाटा केमिकल्स लिमिटेड के हर शेयरधारक को एक शेयर के बदले टाटा ग्लोबल बेवरेजेज के 1.14 नए इक्विटी शेयर (equity share) मिलेंगे। वहीं उदाहरण के लिए, जिस शेयरधारकों के पास टाटा केमिकल्स के 100 शेयर होंगे उसे टीजीबीएल (TGBL) में 114 शेयर मिलेंगे। इस प्रस्तावित लेनदेन से टाटा समूह (Tata group) की उपभोक्ता कारोबार केंद्रित नई कंपनी तैयार होगी जिसका कुल कारोबार 9,099 करोड़ रुपये होगा। इस सौदे को राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (National company law tribunal) (एनसीएलटी), शेयर बाजारों (Share Bazar), सेबी (SEBI) और शेयरधारकों (Shareholders) की मंजूरी लेनी होगी।

दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सोडा पाउडर उत्पादक कंपनी TCL

इस बात की भी जानकारी दें क‍ि कंपनी ने बयान में कहा हैं कि दो उपभोक्ता केंद्रित कारोबार (Consumer oriented business) के मिलने से दोनों कंपनियों के शेयरधारकों (Shareholders of companies) को फायदा मिलेगा। इससे वे तेजी से बढ़ते एफएमसीजी (FMCG) (रोजमर्रा के उपभोग वाली वस्तुएं) क्षेत्र में दायरा बढ़ाने के साथ खाद्य एवं पेय पदार्थ (Food and beverages) बाजार में अपनी हिस्सेदारी बढ़ा सकेंगे। टाटा ग्लोबल बेवरेजेज (Tata Global Beverages) "टेटली" और "टाटा टी ब्रांड" के तहत चाय की बिक्री जबकि "ऐट ओ क्लॉक" ब्रांड के तहत कॉफी की बिक्री करती है। इसके अलावा बोतलबंद पानी भी बेचती है। टीसीएल दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सोडा पाउडर उत्पादक कंपनी (Soda Powder Manufacturer Company) है। इस सौदे के बाद टीसीएल अपने प्रमुख केमिकल कारोबार पर ध्यान देगी।

Read more about: tata tata sons टाटा
English summary

Tata Chemicals merger into food trade of Tata Global Beverages

The Tata Group on Wednesday announced the separation of its food business from Tata Chemicals Limited (TCL) to Tata Global Beverages Limited (TGBL)।
Story first published: Thursday, May 16, 2019, 10:42 [IST]
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Goodreturns sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Goodreturns website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more