For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

MSME : 20 हजार रु में बेची बाइक और शुरू किया कारोबार, आज है करोड़ों का मालिक

|

नई दिल्ली, जुलाई 24। शिक्षा में कामयाबी को ही प्रतिभा माना जाता है। जबकि ये मॉडल बार-बार गलत साबित हो चुका है। बिजनेस में कामयाब होने वालों की ऐसी ढेरों मिसाले हैं, जो शिक्षा के मोर्चे पर कुछ खास नहीं कर पाए या उन्हें मजबूरन बीच में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ी। आज हम आपके लिए एक ऐसे ही व्यक्ति की कहानी लाए हैं, जिसने अपनी पढ़ाई बीच में छोड़ दी। फिर कुछ हजार रुपयों से ही बिजनेस शुरू किया और आज उसकी कंपनी का टर्नओवर करोड़ों में है।

 

Business Idea : सिर्फ 25 हजार रु में शुरू हो जाएगा ये बिजनेस, कराएगा तगड़ी कमाई

बनना था उद्यमी

बनना था उद्यमी

जिमी मिस्त्री का पालन-पोषण एक साधारण पारसी परिवार में हुआ। उनके पिता ने लगभग 33 वर्षों तक एक सेल्सपर्सन के तौर पर काम किया। एक उद्यमी बनने के लिए जिमी ने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ दी। वर्ष 1991 में उन्होंने अपनी बाइक बेच दी और पेस्ट कंट्रोल सर्विसेज का अपना पहला बिजनेस स्थापित करने के लिए 20,000 रुपये जुटाए।

मिलने लगी कामयाबी
 

मिलने लगी कामयाबी

जिमी की लगातार कोशिशों ने उन्हें अच्छा बिजनेस दिलाया। उनकी कंपनी को जल्द ही प्लंबिंग आदि जैसी इंक्वारी मिलने लगी। उन्होंने जल्द ही लक्ज़री फ़र्नीचर के क्षेत्र में बिजनेस की जरूरत महसूस की और भारत में लक्ज़री फ़र्नीचर पेश करने के लिए कुछ इतालवी ब्रांडों के साथ भागीदारी की। उनकी कंपनी ने जल्द ही मुंबई में अपना पहला शोरूम स्थापित किया और फिर दिल्ली, पुणे, बैंगलोर, हैदराबाद और चेन्नई में शाखाएं स्थापित कीं। उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विस्तार करने के लिए दुबई में एक ब्रांच स्थापित की। लक्ज़री फ़र्नीचर में उनका कारोबार काफी बढ़ा।

सामने आया विस्तार का प्रेशर

सामने आया विस्तार का प्रेशर

केनफोलियोस की रिपोर्ट के अनुसार जिमी कहते हैं कि केवल एक चीज जिसे मैं लगातार देखता हूं वह है विस्तार के तरीके। यह मुझे बहुत तनाव में डालता है लेकिन हां, इसके फायदे भी हैं। जैसे-जैसे उनका व्यवसाय बढ़ता रहा, जिमी रिसर्च करते रहे और सीखते रहे। डिजाइनिंग स्पेस की बात करें तो वह जल्द ही भारत के सबसे अच्छे कारोबारियों में से एक बन गए।

खड़ी कर दी 150 करोड़ रु की कंपनी

खड़ी कर दी 150 करोड़ रु की कंपनी

एक छोटी सी कंपनी जिसकी शुरुआत 20000 रुपये जैसी छोटी पूंजी के साथ एक ड्रॉपआउट द्वारा की गई थी और अब भारत के प्रसिद्ध ब्रांडों में से एक है। इसे 2 लोगों ने शुरू किया था, जो आज 2000 से अधिक लोगों को रोजगार देती है और इसका 150 करोड़ रु से अधिक का टर्नओवर है। जिमी ने मुंबई में प्रीमियम रियल एस्टेट में कदम रखा और हॉस्पिटैलिटी में उद्यम करने के लिए लोनावाला, महाराष्ट्र में प्रसिद्ध डेला एडवेंचर पार्क की स्थापना की। डेला एडवेंचर पार्क अपने तरह का एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें कई होटल, सूट, विला, स्पा, कई बहु-व्यंजन रेस्तरां, एक एडवेंचर पार्क और प्रशिक्षण सुविधा है।

इंटीरियर प्रोडक्ट्स की सबसे बड़ी गैलरी

इंटीरियर प्रोडक्ट्स की सबसे बड़ी गैलरी

इसके अलावा, जिमी ने घर, कार्यालय, होटल जैसी जगहों के लिए इंटीरियर डिजाइनिंग के पिन-टू-पियानो को प्रदर्शित करने वाले इंटीरियर प्रोडक्ट्स की भारत की सबसे बड़ी गैलेरी में से एक की स्थापना की। जिमी एक प्रसिद्ध वक्ता भी हैं जिन्हें अक्सर विभिन्न प्रतिष्ठित मंचों पर 'डिजाइन' के बारे में बात करने के लिए आमंत्रित किया जाता है।

English summary

MSME Bike sold for rs 20000 and started business today is the owner of crores

Jimmy's constant efforts got him good business. His company soon started getting inquiries like plumbing etc.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X