For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

ये हैं टॉप 10 भारतीय कारोबारी, जानिए नाम और पहचान

|

नयी दिल्ली। भारत में कई बेहद अमीर परिवार और लोग रहते हैं। इन परिवारों और लोगों को दुनिया भर में पहचाना जाता है। अमेरिका और चीन के बाद भारत सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में तीसरे स्थान पर है। 2020 में कौन कितना पैसे वाला है उसी हिसाब से 10 सबसे अमीर व्यापारियों की एक व्यापक सूची तैयार की गयी है। इस सूची में पहले पायदान पर मुकेश अंबानी ही हैं। आइये जानते हैं भारत के प्रमुख 10 कारोबारियों के नाम और पहचान के बारे में।

मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी

मुकेश अंबानी धीरूभाई अंबानी के सबसे बड़े बेटे हैं। मुकेश अंबानी का जन्म अदन, यमन में 19 अप्रैल 1957 को हुआ था। उन्होंने रासायनिक प्रौद्योगिकी संस्थान से केमिकल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की। मगर वे स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से एमबीए ड्रॉपआउट भी हैं। मुकेश रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष और मालिक हैं, जो भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। रिलायंस 88 अरब डॉलर का कारोबार करती है। जियो 4जी टेलीकॉम सर्विस की शुरुआत के साथ रिलायंस ने 2016 में टेलीकॉम सेक्टर में शुरुआत की। जियो के इस समय 34 करोड़ से अधिक ग्राहक हैं।

अजीम प्रेमजी
 

अजीम प्रेमजी

अजीम प्रेमजी भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं। उन्हें Indian IT Industry के Czar के नाम से जाना जाता है। वह आईटी फर्म विप्रो के अध्यक्ष और भारतीय अरबपति, बिजनेस टाइकून, व्यवसायी और समाजसेवी भी हैं। उनका जन्म मुंबई में 24 जुलाई 1945 को हुआ था और वर्तमान में वह बैंगलोर में रहते हैं। 74 वर्षीय प्रेमजी दुनिया के 55वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं। उनका मुख्य कारोबार सॉफ्टवेयर सर्विस है। उनकी संपत्ति 22.6 अरब डॉलर है।

गौतम अडानी

गौतम अडानी

15.7 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ अडानी भारत के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं। वे अडानी समूह के संस्थापक और अध्यक्ष भी हैं। अडानी समूह का मुख्यालय अहमदाबाद में है। ये भारत में बंदरगाहों के विकास के कारोबार में लगी हुई है। गौतम अडानी, अडानी फाउंडेशन के अध्यक्ष भी हैं, जो शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, आजीविका और ग्रामीण इन्फ्रा डेवलपमेंट संभालती है। अडानी समूह में अडानी पोर्ट्स, अडानी एंटरप्राइजेज, अडानी पावर और अडानी ट्रांसमिशन शामिल हैं।

हिदुंजा ब्रॉदर्स

हिदुंजा ब्रॉदर्स

हिंदुजा ग्रुप एक मजबूत अंतरराष्ट्रीय फुटप्रिंट वाली भारत की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है। यह व्यवसाय अब उनके बेटे श्रीचंद, गोपीचंद, प्रकाश और अशोक संभालते हैं। इस समूह की स्थापना परमानंद दीपचंद हिंदुजा ने की थी। भारतीय होने के बावजूद हिंदुजा समूह ने विदेशों में भी सफलता हासिल की है। कंपनी का मुख्यालय लंदन में है। समूह की संपत्ति 16 अरब डॉलर है। समूह का कारोबार कई सेक्टरों में फैला है।

पलोंजी शापूरजी मिस्त्री़

पलोंजी शापूरजी मिस्त्री़

पलोंजी मिस्त्री शापूरजी पलोंजी ग्रुप के अध्यक्ष, एक भारतीय व्यापारी और कंस्ट्रक्शन टाइकून भी हैं। उन्हें टाटा समूह के भीतर फैंटम ऑफ बॉम्बे हाउस के नाम से भी जाना जाता है। वर्तमान में, उनका टाटा ग्रुप में 18.4% हिस्सा है। साथ ही वे पलोंजी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड, फोर्ब्स टेक्सटाइल्स और यूरेका फोर्ब्स लिमिटेड के मालिक भी हैं। उनकी ताज होटल में भी हिस्सेदारी है। 90 वर्षीय पलोंजी की संपत्ति 15.4 अरब डॉलर है।

उदय कोटक

उदय कोटक

उदय कोटक कोटक महिंद्रा बैंक के संस्थापक, एमडी और अध्यक्ष हैं। कोटक बैंक भारत में तीसरा सबसे सफल बैंक है और इसकी बाजार पूँजी 1,60,152 करोड़ रुपये की है। 2014 के लिए उदय कोटक को अर्न्स्ट एंड यंग ग्लोबल एंटरप्रेन्योर चुना गया था। उन्होंने अपनी स्नातक की डिग्री सिडेनहम कॉलेज ऑफ कॉमर्स एंड इकोनॉमिक्स से हासिल की है, जबकि जमनालाल बजाज विश्वविद्यालय से एमबीए भी किया है। 60 वर्षीय उदय की संपत्ति 15.2 अरब डॉलर की है।

शिव नाडार

शिव नाडार

74 वर्षीय शिव नाडार 16.3 अरब डॉलर की संपत्ति के मालिक हैं। वे एचसीएल और शिव नाडार फाउंडेशन के अध्यक्ष और संस्थापक हैं। वह भारत के सबसे प्रसिद्ध समाजसेवी और उद्योगपति हैं। उन्हें भारत के सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों की लिस्ट में 16वें स्थान पर रखा गया है। 2008 में, नाडार को भारत सरकार ने तीसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म भूषण दिया था। उन्होंने एचसीएल की स्थापना 1.87 लाख रुपये से की थी, जबकि आज वे भारत के शीर्ष 10 सबसे अमीर पुरुषों में शुमार हैं। एचसीएल भारत की सॉफ्टवेयर सेवाओं की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक है।

राधाकिशन दमानी

राधाकिशन दमानी

18.4 अरब डॉलर की संपत्ति वाले 65 वर्षीय राधाकिशन दमानी ने डीमार्ट सुपरमार्केट श्रृंखला की स्थापना की थी। उनकी रिटेल चेन के भारत में 91 स्टोर हैं, जो इस सेक्टर में तीसरी सबसे बड़ी है। उन्हें फोर्ब्स की सबसे अमीर भारतीयों की वार्षिक सूची में 11वां स्थान दिया गया। इसके अलावा वह एक सफल शेयर निवेशक, ब्रोकर और व्यापारी भी हैं। उनकी संपत्ति में अलीबाग में 156-कमरों का रेडिसन ब्लू रिज़ॉर्ट शामिल है, जो मुंबई के पास एक लोकप्रिय समुद्र तट है।

गोदरेज फैमिली

गोदरेज फैमिली

1897 के बाद गोदरेज ने विस्तार किया। वर्तमान में ये भारतीय अर्थव्यवस्था के लगभग हर क्षेत्र में सक्रिय है। फिरोजशा और अर्देशिर गोदरेज कंपनी के संस्थापक हैं। आदि बुर्जोरजी गोदरेज समूह के अध्यक्ष और परिवार के प्रमुख भी हैं। अप्रैल 2011 से वह इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के अध्यक्ष हैं। वर्तमान में गोदरेज परिवार की संपत्ति 12 अरब डॉलर की है। फैमिली के पास उपनगरीय मुंबई में जमीन का एक बड़ा प्लॉट है। ये उनकी ऑल टाइम सबसे बड़ी संपत्ति बनी हुई है।

लक्ष्मी मित्तल

लक्ष्मी मित्तल

69 वर्षीय लक्ष्मी मित्तल 12.4 अरब डॉलर की संपत्ति के मालिक हैं। वे एक भारतीय स्टील मैग्नेट, आर्सेलर मित्तल के अध्यक्ष और सीईओ हैं, जिसका कारोबार 76 अरब डॉलर का है। वह कार्रिक लिमिटेड के मालिक भी हैं और क्वींस पार्क रेंजर्स एफसी के सह-मालिक भी हैं। उन्हें 2007 में यूरोप के सबसे अमीर एशियाई व्यक्ति के रूप में मान्यता दी गई थी। इसके अलावा मित्तल 2008 से गोल्डमैन सैक्स में स्वतंत्र निदेशक मंडल के सदस्य हैं। उनका जन्म एक पारंपरिक मारवाड़ी परिवार में हुआ था और उन्होंने सेंट जेवियर्स कॉलेज, कलकत्ता से बी.कॉम की डिग्री हासिल की।

 

यह भी पढ़ें - ये हैं दुनिया के टॉप 10 अमीर देश, जानिये कहां है भारत

English summary

These are the top 10 Indian businessmen know name and identity

Mukesh Ambani is the eldest son of Dhirubhai Ambani. Mukesh Ambani was born on 19 April 1957 in Aden, Yemen. He completed his graduation from Chemical Engineering from the Institute of Chemical Technology.
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X