For Quick Alerts
ALLOW NOTIFICATIONS  
For Daily Alerts

उज्जवला योजना: आठ करोड़ लोगों को गैस कनेक्शन देने का लक्ष्य

|

नई दिल्‍ली: गरीब महिलाओं उज्जवला योजना (Ujjwala scheme) के जरिए पांच किलो का सिलेंडर (5kg cylinder) देने की तैयारी सरकार ने शुरू कर दी है। पांच किलो का सिलेंडर (cylinder) मिलने से लोग ज्यादा संख्या में इसका रिफिल (Refill) करा सकेंगे, क्योंकि यह गरीब लोगों की जेब पर ज्यादा भारी नहीं पड़ेगा। वहीं तेल कंपनियों (Oil companies) को इसका लाभ मिलेगा। जानकारी दें कि मोदी सरकार (Modi Government) के दूसरे कार्यकाल में वापसी करने के बाद अब इस योजना (Scheme) को विस्तार दिया जाएगा। पहले चरण में गरीबी रेखा से नीचे (below the poverty line) जीवन यापन करने वाले परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन (Free gas connection) दिया गया था।

 

योजना के तहत 4.19 करोड़ कनेक्शन म‍िल चुके

योजना के तहत 4.19 करोड़ कनेक्शन म‍िल चुके

इस बात की जानकारी दें कि 100 दिनों में इस योजना (Scheme) के अंतर्गत आठ करोड़ लोगों को कनेक्शन (Connection) देने का टारगेट (Target) पेट्रोलियम मंत्रालय (Petroleum ministry) ने रखा है। अभी तक इस योजना के तहत 4.19 करोड़ कनेक्शन (Connection)दिए जा चुके हैं। इस टारगेट (Target)के पूरा होने के बाद पांच किलो का सिलेंडर (cylinder) देना अनिवार्य कर दिया जाएगा। पांच किलो (5KG) का सिलेंडर देना इसलिए अनिवार्य होगा क्योंकि देखा गया है इस योजना के तहत बांटे गए कनेक्शन (Conection) में लोग दोबारा से सिलेंडर को रिफिल (Refill cylinder) नहीं कराते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि इस सिलेंडर की रिफिल कराने के लिए लोगों को 700-800 रुपये खर्च करने पड़ते हैं।

एलपीजी ग्राहकों को म‍िलता है 50 लाख रुपये तक का बीमा क्‍या आपको पता है? ये भी पढ़ें

पांच किलो के सिलेंडर का वजन भी काफी कम
 

पांच किलो के सिलेंडर का वजन भी काफी कम

इस रिफिल (Refill)पर लोगों को किसी तरह की सब्सिडी (Subsidy) भी नहीं मिलती है। लेकिन अब पांच किलो के सिलेंडर को रिफिल (Refill cylinder)कराने में 260 रुपये खर्च होंगे और इसमें 80 रुपये सब्सिडी (Subsidy) के तौर पर बैंक खाते में आएंगे। इस हिसाब से यह सिलेंडर केवल 180 रुपये का पड़ता है। वहीं पांच किलो के सिलेंडर का वजन भी काफी कम होता है, जिससे इसे आसानी से कहीं भी ले जाया जा सकता है।

छोटे कारोबारियों के लिए बड़े राहत पैकेज की तैयारी कर रही मोदी सरकार ये भी पढ़ें

स्कीम की शुरुआत वर्ष 2016 में हुई थी

स्कीम की शुरुआत वर्ष 2016 में हुई थी

इस योजना (Scheme) को सबसे पहले उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh) में लांच किया गया था। बता दें कि वर्ष 2016 में यह स्कीम शुरू की गई थी। पहले चरण में गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को मुफ्त में गैस कनेक्शन (Gas connection) दिया गया था। इसमें 1600 रुपये का खर्चा सरकार ने वहन किया था। यह कनेक्शन उस परिवार में मौजूद महिला सदस्य (Female member) के नाम जारी किया जाता है। इसके तहत लोगों को एक चूल्हा, 14.2 किलो वाला सिलेंडर और रेग्यूलेटर (Cylinders and regulators) दिया जाता है।

अमीर बनना चाहते हैं, तो बस करना होगा ये काम ये भी पढ़ें

साल में लोग तीन बार ही सिलेंडर रिफिल करा सकते

साल में लोग तीन बार ही सिलेंडर रिफिल करा सकते

उज्जवला योजना (Ujjwala scheme) के तहत जो कनेक्शन (Connection) दिए गए है, उनमें औसतम साल में लोग तीन बार ही रिफिल (Refill) कराते हैं। यह आंकड़ा राष्ट्रीय औसत (National average) से कम है। पूरे देश में लोग एक साल में सात बार रिफिल कराते हैं। दिल्ली में अभी 14.2 किलो का एक सिलेंडर 712 रुपये का पड़ रहा है। इस पर 215 रुपये की सब्सिडी (Subsidy) मिलती है।

English summary

PM Modi Scheme Ujjwala Plans Now To Get 5 kg Cylinders

Under the Ujjwala scheme, the target of new 8 million gas connections will be completed in the first 100 days of the government।
Company Search
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X