एशिया पैसेफिक के रियल्टी निवेश में टॉप 10 में छ: भारतीय शहर

Written by: Pratima
Subscribe to GoodReturns Hindi

प्रॉपर्टी कंसल्टेंट कुशमैन एंड वेकफील्ड के अनुसार एशिया पैसेफिक में रियल्टी सेक्टर के लिए निवेश के 10 शीर्ष स्थानों की सूची में हैदराबाद सहित देश की राजधानी दिल्ली और मुंबई भी शामिल हैं जहाँ कमर्शियल ऑफिस में वृद्धि की बहुत संभावनाएं हैं।

"बेटिंग ऑन एशिया पेसेफिक्स नेक्स्ट कोर सिटीज़" की रिपोर्ट के अनुसार बेंगलुरु और मुंबई को क्रमश: छटवां और सातवाँ स्थान मिला है। आइए जाने भारत के अन्‍य शहरों का रियल्‍टी निवेश में कौन सा स्‍थान है:

हैदराबाद

भारत का दक्षिणी शहर हैदराबाद इस क्षेत्र में नंबर एक पर है। तो वहीं एप्पल, अमेजॉन, गूगल, और उबर हैदराबाद में अपना दूसरा सबसे बड़ा डेवलपमेंट सेंटर खोलने की तैयारी में है। सभी कंपनियां 10 किमी. की परिधि में हैं। हैदराबाद में अन्य बड़ी कंपनियां जैसे फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और क्वेलकॉम भी हैं।

बेंगलुरु

भारत की सिलिकॉन सिटी बेंगलुरु छटवें स्थान पर है। इस शहर ने अंतरराष्ट्रीय आईटी सेक्टर में अपनी उपस्थिति दर्ज की है। भारत में स्थित सभी आईटी कंपनियों में से लगभग 35 प्रतिशत कंपनियां बेंगलुरु में है। यहाँ कई मल्टीनेशनल कंपनियां जैसे गूगल, एसेंच्योर, ओरेकल, आईबीएम, एचपी, डेलोइट, केपजैमिनी, एचसीएल, डेल, सिस्को, माइंड ट्री, एमेज़ॉन और अन्य कई बीपीओ हैं जिन्होंने इसे भारत का बीपीओ केंद्र बना दिया है।

मुंबई

भारत का प्रमुख मेट्रोपोलिटन शहर मुंबई सातवें स्थान पर है। यह पहले बॉम्बे के नाम से जाना जाता था। मुंबई को भारत की व्यापारिक राजधानी कहा जाता है, यह देश का प्रमुख वित्तीय और संचार केंद्र है। इस शहर में सबसे बड़ा और व्यस्त बंदरगाह है जो भारत के विदेशों के साथ व्यापार को संभालता है तथा यहाँ एक प्रमुख अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा भी है। भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज जो विश्व में तीसरे स्थान पर है, मुंबई में स्थित है।

पुणे

पुणे को महाराष्ट्र की सांस्कृतिक राजधानी भी कहा जाता है। यह आठवें स्थान पर है। रिपोर्ट्स के अनुसार पुणे में रेसिडेंशियल रियल एस्टेट मार्केट बढ़ रहा है। शैक्षणिक सुविधाएं, आईटी क्षेत्र में तेज़ी, नौकरी के अवसर, जीवन शैली इसके प्रमुख कारण हैं।

चेन्नई

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई नौवें स्थान पर है। चेन्नई में टीसीएस सहित कई अन्य बड़े कॉर्पोरेट ऑफिस हैं। यहाँ कई प्रकार की इंडस्ट्रीज़ हैं विशेष रूप से ऑटोमोबाइल इंडस्ट्रीज़।

नई दिल्ली

भारत की राजधानी दिल्ली दसवें स्थान पर है। हमारे देश के इतिहास में दिल्ली का प्रतिष्ठित स्थान 3 शताब्दियों से भी अधिक समय से रहा है। यह राजनीतिक राजधानी धीरे- धीरे व्यापारिक राजधानी भी बन रही है क्योंकि अधिकाँश कंपनियां दिल्ली-एनसीआर को अपना बेस बना रही हैं।

भारतीय शहर

इस वर्ष में अधिकाँश वैश्विक निवेश कमर्शियल ऑफिस संपत्ति में किये जायेंगे क्योंकि बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली-एनसीआर, हैदराबाद, मुंबई और पुणे के बाज़ारों में एशिया पैसेफिक के उभरती हुई अर्थव्यवस्था वाले अन्य शहरों की अपेक्षा अच्छा प्रदर्शन देखने को मिला है।

भारत विकास के पथ पर

कुशमैन एंड वेकफील्ड के रिसर्च सर्विसेज़ के सीनियर डायरेक्टर सिद्धार्थ गोयल कहते हैं कि वैश्विक निवेशकों ने 2005-08 से कई मूल्यवान सबक सीखे हैं और वे अब भारतीय रियल एस्टेट में मिलने वाले लाभ का फायदा उठाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। उन्होंने बताया कि "मज़बूत जीडीपी के साथ हमारा देश अब आर्थिक मज़बूती पर है, यहाँ का व्यापारिक माहौल अच्छा है और केंद्र सरकार की नीतियां भी निवेशकों के अनुकूल हैं।"

बैंकाक और मनीला

कुशमैन एंड वेकफील्ड रिपोर्ट ने उन बाज़ारों का विश्लेषण किया जो निवेशकों को उनके दीर्घकालिक विकास के मूलभूत सिद्धांतों से निकलने के अवसर प्रदान करेगा जो निरंतर होने वाले सुधारों के कारण व्यवहार्य हो जाएगा। इस सूची में अन्य शहर बैंकाक शामिल है जो तीसरे स्थान पर है और मनीला चौथे स्थान पर है। चीन के गुअन्ग्ज़्हौ और शेंज्हें क्रमश: पांचवें और छटवें स्थान पर है। गोयल कहते हैं कि " सेक्टर्स जैसे बीएफएसआई (बैंकिंग, फाइनेंशियल सर्विसेज़ और इंश्युरेंस), हेल्थकेयर, कंसल्टिंग सर्विसेज़ और विभिन्न मेन्युफेक्चरिंग इंडस्ट्रीज़ आदि के लिए व्यावसायिक जगहों की मांग तेज़ी से बढ़ रही है।"

English summary

These Six Indian cities In Top 10 Realty Investment Spots In Asia-Pacific

Bengaluru and Mumbai were ranked sixth and seventh respectively, as per the report, 'Betting on Asia Pacific's Next Core Cities.'
Please Wait while comments are loading...
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Find IFSC