छंटनी को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है: नैसकॉम

नैसकॉम ने कहा कि छंटनी के जो आंकड़े जारी किए जा रहे हैं वह काफी बढ़ा चढ़ाकर बताए जा रहे हैं, हालांकि समय के साथ आईटी पेशेवरों को अपने कौशल को बढ़ाने की आवश्यकता है।

Written by: Ashutosh
Subscribe to GoodReturns Hindi

आईटी क्षेत्र में बड़े पैमाने पर छंटनी की खबरों के बीच सॉफ्टवेयर उद्योग समूह नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कंपनीज (नैसकॉम) ने गुरुवार को कहा कि आईटी उद्योग ने साल 2017 में कुल 1,70,000 नई नौकरियां पैदा की हैं। संस्था ने कहा कि छंटनी के जो आंकड़े जारी किए जा रहे हैं वह काफी बढ़ा चढ़ाकर बताए जा रहे हैं, हालांकि समय के साथ आईटी पेशेवरों को अपने कौशल को बढ़ाने की आवश्यकता है।

छंटनी को लेकर अफवाह फैलाई जा रही है: नैसकॉम

एक सम्मेलन में नैसकॉम के चेयरमैन रमन रॉय और अध्यक्ष आर. चंद्रशेखर ने कहा कि उद्योग को पुर्नमूल्यांकन की और कर्मियों को प्रतिस्पर्धी बने रहने और भविष्य के लिए तैयार रहने के लिए अपना कौशल बढ़ाने की आवश्यकता है। इस सम्मेलन में हाल ही में छंटनी की घोषणा करने वाली कंपनियों कॉग्नीजेंट, टेक महिंद्रा और माइंडट्री के प्रतिनिधियों ने भी अपनी बात रखी।

नैसकॉम ने कहा कि आईटी क्षेत्र देश के सबसे ज्यादा रोजगार देने वाले क्षेत्रों में से एक है। यह उद्योग कुल 39 लाख लोगों को नौकरियां देता है। पिछले तीन सालों में कुल 6 लाख नई नौकरियों का सृजन हुआ है और उद्योग का लक्ष्य साल 2025 तक 25 से 30 लाख नई नौकरियों के सृजन का है। कार्यबल का पुन:संयोजन किसी भी उद्योग के लिए आम है और वार्षिक प्रदर्शन मूल्यांकन प्रक्रिया का हिस्सा है। इससे उद्योग में काम कर रहे पेशेवरों का महज 0.5 से 3 फीसदी हिस्सा ही प्रभावित होगा।

नैसकॉम के चेयरमैन रमन रॉय ने संवाददाताओं से कहा, "कंपनियां अपनी जरूरत के हिसाब से कार्यबल की योजना बनाती है। यह उनके प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए बेहद जरूरी है।"

नैसकॉम के अध्यक्ष आर. चंद्रशेखर ने कहा, "तेजी से बदलती तकनीक के दौर में आईटी उद्योग को अपने कर्मचारियों में नई और भविष्य की तकनीक का कौशल विकसित करना होगा। नैसकॉम आईटी कर्मियों को उद्योग के लिए प्रतिस्पर्धी बनाने के लिए उन्हें नए कौशल सीखने में मदद का प्रयास जारी रखेगा।"

English summary

Reports of mass layoffs by Indian IT companies incorrect: Nasscom

Software industry body Nasscom dismissed as incorrect reports of mass layoffs by IT companies in India,
Please Wait while comments are loading...
Company Search
Enter the first few characters of the company's name or the NSE symbol or BSE code and click 'Go'
Thousands of Goodreturn readers receive our evening newsletter.
Have you subscribed?

Find IFSC